बलिया : DM-SP और दोनों संयुक्त मजिस्ट्रेट को शाबासी दे मंडलायुक्त ने कही ये बात

बलिया : DM-SP और दोनों संयुक्त मजिस्ट्रेट को शाबासी दे मंडलायुक्त ने कही ये बात



बलिया। कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने की तैयारियों की समीक्षा मंडलायुक्त कनक त्रिपाठी ने बुधवार को की। उन्होंने लॉकडाउन का अनुपालन व इस बीच चल रही व्यवस्था सम्बन्धी भी जानकारी ली। दोनों अधिकारियों ने यहां की तैयारियों पर संतोष जताते हुए डीएम, एसपी, संयुक्त मजिस्ट्रेट विपिन जैन व अन्नपूर्णा गर्ग समेत पूरी टीम को शाबाशी दी।
कमिश्नर श्रीमती त्रिपाठी ने कहा कि लॉकडाउन में आवश्यक वस्तुओं की कमी न हो और हर जरूरतमंद तक हर जरूरी सामग्री पहुंच भी जाए। हर राशन, फल, सब्जी की दुकान पर रेट सूची लगी हो, ताकि कालाबाजारी की शिकायत न मिले। डीएसओ व डिप्टी आरएमओ इसकी लगातार चेकिंग करते रहें। मंडी सचिव से थोक व फुटकर खरीद से जुड़ी जानकारी ली। निर्देश दिया कि मंडी में माइक से हमेशा एनाउन्स होता रहे और स्वयं वहां सुबह मौजूद रहें। मंडी में व्यक्तिगत या फुटकर खरीद करने कोई न जाने पाए। संयुक्त मजिस्ट्रेट विपिन जैन ने चिकित्सा टीम के कार्यों और तैयारियों के सम्बंध में विस्तार से बताया। आश्वस्त किया कि चिकित्सा व्यवस्था में कोई कमी नहीं दिखेगी। मण्डलायुक्त ने क्वारंटाइन व्यवस्था से जुड़ी विस्तृत जानकारी डीडीओ शशिमौली मिश्र से ली। कहा कि ग्राम स्तरीय कर्मियों को भी गांव में बाहर से आए लोगों को क्वारंटाइन करने के लिए सक्रिय करें। यह ध्यान रहे कि उन केंद्रों पर लोगों को कोई दिक्कत न हो। सीएमओ को निर्देश दिया कि डॉक्टर की टीम लगातर क्वारंटाइन सेंटरों में मॉनिटरिंग करते रहे। नगर क्षेत्र के वार्डों में सेनेटाइज और सफाई व्यवस्था के बारे में सभी ईओ से पूछताछ की।

इससे पहले लॉक डाउन के बीच सुचारू रूप से चल रही व्यवस्था की पूरी जानकारी डीएम श्रीहरि प्रताप शाही ने दी। बताया कि 31 वाहनों ओर मोबाइल दुकान संचालित है। सभी वार्डों में किराना, फल, सब्जी की एक एक दुकान 7 से 10 बजे तक खुल रही है। उचित दर और सोशल डिस्टेंस का पूरा ख्याल रखा जा रहा है। बताया कि 11 बड़े स्कूल, 73 परिषदीय विद्यालयों व 23 पंचायत भवन को क्वारंटाइन सेंटर बनाया गया है। इनके खाने पीने की समुचित व्यवस्था की गई है। श्री शाही ने बताया कि जिला अस्पताल में 10 बेड का आईसुलेशन सेंटर बना है और 14-14 सदस्यों की टीम वहां तैनात हैं। संयुक्त मजिस्ट्रेट विपिन जैन व अन्नपूर्णा गर्ग लगातार व्यवस्था पर नजर बनाए हुए हैं।

पशुओं के चारा की व्यवस्था पर रखें विशेष ध्यान

मण्डलायुक्त कनक त्रिपाठी ने मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को निर्देश दिया कि पशुओं के चारा की व्यवस्था पर विशेष ध्यान रहे। चारा ढोने वाली गाड़ियां चल रही है, उन पर कोई रोक नहीं है। इसलिए अगर कहीं चारा या पानी उपलब्ध नहीं होने की बात सामने आई तो जिम्मेदार पर कार्रवाई तय है।

कोई भी जरूरतमंद सहायता से वंचित न रहे: डीआईजी

बैठक में डीआईजी सुभाष चंद दूबे ने जोर देकर कहा कि लॉकडाउन का पूरी तरह पालन हो। जरूरत पड़े तो सख्ती भी बरतें। लेकिन, इस बीच सबसे ध्यान रखने वाली बात यह है कि कोई कमजोर, गरीब या जरूरतमंद व्यक्ति सहायता पाने से छूट न जाए। डीआईजी ने कहा कि राशन की कालाबाजारी, ओवररेटिंग और जमाखोरी पर विशेष ध्यान रखना है। मीडिया से अपील करें कि रेट सूची लगातार अखबारों में छापते रहें। उससे आम आदमी को सही जानकारी रोज मिलती रहेगी। ज्यादा दाम पर सामान बेचने की शिकायत मिलते ही अगर कोई दोषी मिलता है तो कड़ी कारवाई करें। हर हाल में कालाबाजारी जमाखोरी नहीं होनी चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि गांवों में राशन हर जरूरतमंद को मिले। कोई ऐसा असहाय न हो जिसके पास राशनकार्ड नहीं है। अगर ऐसा कोई है तो उसे चिन्हित कर राशन दें। बाहर से अपने जिले में आ चुके लोग जो शेल्टर होम में हैं, वहां नजर रखी जाए। अगर वहां से कोई चला भी जाए तो उनको उनके ही गांव में पंचायत भवन, प्राथमिक विद्यालय पर अलग रखने की व्यवस्था करें। वहां व्यवस्था भी आसानी से मिल जाएगी। उन्होंने अंत मे कहा कि जागरूकता पर भी ज्यादा ध्यान देना है। सोशल डिस्टेंस और साफ सफाई के प्रति ज्यादा से ज्यादा लोग जागरूक होंगे तभी इसका प्रसार रोका जा सकता है। 


स्कूल में जाकर देखी व्यवस्था

कमिश्नर कनक त्रिपाठी ने क्वारंटाइन केंद्र के रूप में बनाए गए सेंट्रल स्कूल का निरीक्षण किया। उन्होंने वहां रखे गए लोगों से बातचीत की और उन्हें अलग से रहने के फायदे को बताया। कहा कि सोशल डिस्टेंस का पालन करके ही हम इस गम्भीर वायरस के खिलाफ चल रही लड़ाई को जीत सकते हैं। सेंट्रल स्कूल में की गई व्यवस्था पर उन्होंने पूरी तरह संतोष जाहिर किया।


राहत सामग्री का किया वितरण

मंडलायुक्त कनक त्रिपाठी व डीआईजी सुभाष चंद्र दूबे ने जनपद भ्रमण के दौरान एसपी ऑफिस के बगल में जरूरतमंदों को राहत सामग्री दी। साथ ही भरोसा दिलाया कि स्थानीय प्रशासन उनकी हर संभव मदद के लिए हमेशा तैयार रहेगा। इस दौरान डीएम श्रीहरि प्रताप शाही, पुलिस अधीक्षक देवेंद्र नाथ, अपर पुलिस अधीक्षक संजय कुमार समेत अन्य पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी मौजूद थे।

Post Comments

Comments

Latest News

फूड प्वाइजनिंग से दुल्हन की बहन समेत दर्जनों लोग बीमार फूड प्वाइजनिंग से दुल्हन की बहन समेत दर्जनों लोग बीमार
UP News : संभल जिले में जुनाबई थाना क्षेत्र के अजीजपुर गांव में बारात में फूड प्वाइजनिंग से दुल्हन की...
वीडियो कॉल पर 200 रुपये में 5 मिनट गंदी बातें, पकड़ी गईं 6 'ड्रीमगर्ल्‍स'
करके सीखों कार्यक्रम : जूस बनाने से लेकर बच्चों को मिलेगी पंक्चर और पकौड़ा बनाने की ट्रेनिंग
डोनाल्ड ट्रंप की रैली में फायरिंग : जानलेवा हमले में बाल-बाल बचे पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति, मारा गया शूटर
शिक्षकों की ऑनलाइन हाजिरी पर यूपी के पूर्व बेसिक शिक्षा मंत्री रामगोविन्द चौधरी ने सरकार को दी नसीहत
कार्यकर्ताओं का मान सम्मान सर्वोपरि : केतकी सिंह
बलिया में आकाशीय बिजली झुलसी एक ही परिवार की तीन महिलाएं