जिस बेटे की इसी महीने होनी थी शादी, वह दे गया जिन्दगी भर का दर्द

जिस बेटे की इसी महीने होनी थी शादी, वह दे गया जिन्दगी भर का दर्द


लखनऊ। पंजाब में रोजी-रोटी कमाने गए लखनऊ के निगोहां के 32 वर्षीय दिवाकर की वहां मौत हो गई। यहां उसकी शादी की तैयारी में जुटे घरवालों को यह खबर मिली तो कोहराम मच गया। घरवालों ने उसका शव लाने के लिए निगोहां थाने से लेकर प्रशासन तक का दरवाजा खटखटाया। लेकिन, कोराना संक्रमण की दहशत के चलते पंजाब प्रशासन ने बिना जांच के शव देने से मना कर दिया। 

दखिना गांव निवासी नन्हकू खेतिहर मजदूर हैं। उनका छोटा बेटा दिवाकर पंजाब के जालंधर में एक निजी कॉलेज की कैंटीन में बड़े भाई देवानंद के साथ काम करता था। बड़ा बेटा लॉकडाउन से पहले गांव आ गया था। 13 अप्रैल को कॉलेज से सूचना मिली कि दिवाकर की मौत हो गई है। भाई के अंतिम दर्शन के लिए उसने निगोहां थाने से लेकर प्रशासन तक दरवाजा खटखटाया, लेकिन कोरोना महामारी की दहशत के चलते पंजाब प्रशासन ने उसका शव बिना जांच के देने से मना कर दिया। देवानंद ने बताया कि दिवाकर बुखार से पीड़ित था। वहां के प्रशासन ने कहा है कि बुधवार को शव का पोस्टमार्टम होगा। अगर, कोरोना संक्रमण की पुष्टि होती है तो शव का अंतिम संस्कार वहीं कर दिया जाएगा। इंस्पेक्टर निगोहां चिरंजीव मोहन ने बताया कि पंजाब पुलिस से बात की गई, लेकिन निर्धारित प्रक्रिया पूरी करने के बाद ही कुछ हो सकेगा। पिता नन्हकू ने बताया कि दिवाकर की शादी रायबरेली में तय हुई थी। इसी महीने शादी होनी थी। पर, अब बेटे के सिर सेहरा देखना तो दूर उसके अंतिम दर्शन होंगे या नहीं, इसी पर असमंजस है।  


Post Comments

Comments

Latest News

बलिया में करंट से महिला की मौत बलिया में करंट से महिला की मौत
मझौवां, बलिया: बैरिया थाना क्षेत्र की ग्राम पंचायत जगदेवा अंतर्गत मिश्र गिरी की मठिया निवासी हीरामुनी देवी (45) पत्नी हीरालाल...
बलिया का रोहित पांडेय हत्याकांड : सीएम योगी ने लिया संज्ञान
रामायण प्रसाद सिंह बनें बलिया कोतवाली के निरीक्षक अपराध
बलिया : निरीक्षण में बंद मिले आठ स्कूल, बीएसए की कार्रवाई से मचा हड़कम्प
शिक्षिका के साहस के आगे बदमाशों के हौसले पस्त
22 जुलाई 2024 : क्या कहते हैं आपके सितारे, पढ़ें दैनिक राशिफल
रोहित पांडेय हत्याकांड में बलिया पुलिस का बड़ा एक्शन, एसपी ने किया यह ऐलान