बलिया की शिक्षिका स्मिता सिंह का तोटक छंद : बस शब्द नहीं यह खंजर हैं...

बलिया की शिक्षिका स्मिता सिंह का तोटक छंद : बस शब्द नहीं यह खंजर हैं...


तोटक छंद
कवि आज उठा कर शस्त्र चले।
मसि और मसीपथ अस्त्र चले।।
बन कागज युद्धधरा बिखरा।
हर शब्द यहां निखरा निखरा।।

बन चित्र हिया पर छा रहते।
अपने पर जो गुजरी कहते।।
बस शब्द नहीं यह खंजर हैं।
खुद में सिमटे कुछ मंजर हैं।।

मन में उपजे अवसाद कभी।
दुख ही लगते परिणाम सभी।।
तुम देख इन्हें मन धैर्य धरो। 
हिय में अपने तुम शौर्य भरो।।

मन भाव यहीं पर हैं उलझे।
इक छोर धरें तब ये सुलझे।।
मत आस करो तुम और कहीं।
प्रभु नाम जपो मन ठौर यहीं।।

स्मिता सिंह
प्रभारी प्रधानाध्यापिका
कम्पोजिट विद्यालय टोला फतेह राय 
मुरलीछपरा, बलिया

Post Comments

Comments

Latest News

गृहमंत्री अमित शाह से पूर्व मंत्री नारद राय की मुलाकात, बढ़ी बलिया की राजनीतिक तपिश गृहमंत्री अमित शाह से पूर्व मंत्री नारद राय की मुलाकात, बढ़ी बलिया की राजनीतिक तपिश
बलिया : समाजवादी पार्टी से नाता तोड़ने के बाद बलिया के कद्दावर नेता पूर्व मंत्री नारद राय का एक फोटो...
बलिया और तालिबपुर के बीच खेला गया श्री बजरंगबली क्रिकेट प्रतियोगिता का फाइनल मैच
28 मई 2024 : कैसा रहेगा अपना आज, पढ़ें दैनिक राशिफल
बलिया : श्री संत पागल बाबा जी ब्रह्मलीन, आज निकलेगी अंतिम यात्रा
फेसबुक पर पीएम और सीएम के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट करना पड़ा महंगा, प्रधानाध्यापिका सस्पेंड
बलिया : डीईओ ने किया स्ट्रांग रूम और मतगणना स्थल का निरीक्षण
पानी की तलाश में जान गंवा रहे बेजुबान : बलिया में दो नीलगायों को आवारा कुत्तों ने नोच-नोच कर मार डाला