सलेमपुर की जीत ने मजबूत की बांसडीह विधानसभा में भाजपा की दस्तक

सलेमपुर की जीत ने मजबूत की बांसडीह विधानसभा में भाजपा की दस्तक

मनियर/बलिया।  लोकसभा चुनाव परिणाम ने जहाँ एक ओर मोदी की सुनामी लहर पर एक बार फिर से अपनी मुहर लगा दी वहीं समीक्षकों की मानें तो सम्पन्न हुए इस चुनाव ने जनपद की राजनीति के भविष्य के ओर भी एक मजबूत इशारा कर दिया । पूरे प्रयास व महागठबंधन के बावजूद जहाँ सपा व बसपा चुनावी परिणाम को जीत में तब्दील नहीं कर सकी वहीं दूसरी ओर कमल की घर-घर पहुँच ने भाजपा के प्रचण्ड़ बहुमत का मार्ग प्रशस्त कर दिया ।गौरतलब हो कि नेता प्रतिपक्ष के जनपद होने के कारण सबकी निगाहें जनपद के परिणामों पर विशेष रुप से लगी हुई थी परन्तु न केवल बलिया लोकसभा सीट बल्कि सलेमपुर लोकसभा सीट पर भी भाजपा ने जीत का अपना सिलसिला कायम रखा । समीक्षकों की मानें तो विधानसभा चुनावों में प्रदेश में भाजपा के  लहर के बावजूद नेता प्रतिपक्ष जिसप्रकार अपनी बाँसड़ीह सीट बचाने में सफल रहे थे उसने विपक्ष को भी यहाँ संजीवनी देने का काम किया था । विपक्षी कार्यकर्ताओं ने चुनावी समर में अपना दमखम भी पूरा लगाया परन्तु कमल के दम के आगे हाथी और साइकिल का दम काम न आया । चुनावी रणनीतिकारों की मानें तो वे बलिया लोकसभा सीट की अपेक्षा सलेमपुर सीट पर लड़ाई नजदीकी मान रहे थे । कारण कि न केवल ये सीट गठबंधन की थी परन्तु गठबंधन के प्रत्याशी भी कुशवाहा बिरादरी के थे । उनकी मानें तो सलेमपुर के किले को भेदने की योजना के तहत ही गठबंधन ने जाति कार्ड खेलते हुए उसी जाति के प्रत्याशी पर अपना विश्वास जताया जिसके मतदाताओं की संख्या यहाँ सर्वाधिक होने के साथ-साथ निर्णायक भी मानी जाती है परन्तु यथार्थ के धरातल पर हुआ इसके उलट । बलिया लोकसभा सीट पर भाजपा व गठबंधन की लड़ाई जहाँ काफी नजदीकी रही वहीं दूसरी ओर सलेमपुर सीट पर गठबंधन भाजपा से काफी पीछे रह गया ।  यहाँ भाजपा के रविन्द्र कुशवाहा ने 467241 मत प्राप्त करते हुए बसपा प्रत्याशी आरएस कुशवाहा को 112477 मतों के बड़े अंतर से परास्त किया । सलेमपुर लोकसभा अंतर्गत बाँसडीह विधानसभा सीट की बात करे तो पिछले चुनाव में विजयी रहे रामगोविंद चौधरी को 51201, निर्दलीय केतकी सिंह को 49514, भाजपा समर्थित सुभासपा के अरविंद राजभर को 40234 व बसपा के शिवशंकर चौहान को 38745 मत मिले थे । इसबार के लोकसभा चुनाव में बाँसडीह विधानसभा में कुल पड़े 202467 मतों में से गठबंधन के बसपा प्रत्याशी को जहाँ एक ओर 55296 मत ही प्राप्त हुए वहीं दूसरी ओर भाजपा 116692 मतों के साथ ही गठबंधन की अपेक्षा दोगुना मत हासिल करने में सफल रही । चुनावी रणनीतिकारों का मानना है कि इस आँकड़े ने जहाँ एक तरफ बाँसड़ीह विधानसभा के लिए भाजपा की दस्तक को और अधिक मजबूत किया है वहीं दूसरी तरफ विपक्ष को अभी से ही कमर कसने के लिए मजबूर भी कर दिया है।

रिपोर्ट- राम मिलन तिवारी

Related Posts

Post Comments

Comments

Latest News

25 जून से खुलेंगे स्कूल, 28 जून से आयेंगे बच्चें, ऐसे होगा स्वागत ; बलिया बीएसए ने जारी की एडवाइजरी 25 जून से खुलेंगे स्कूल, 28 जून से आयेंगे बच्चें, ऐसे होगा स्वागत ; बलिया बीएसए ने जारी की एडवाइजरी
बलिया : ग्रीष्मकालीन छुट्टी 24 जून को समाप्त हो रही है, यानि 25 जून से परिषदीय स्कूल खुलेंगे। इसको लेकर...
बलिया पुलिस के हत्थे चढ़ा 11 वर्षीय बच्चे का हत्यारा
बलिया में करंट से युवक की मौत, बेटे के शव को सीने से लगाकर बिलखती रही मां
बलिया से चार इंस्पेक्टर और 27 दरोगा का तबादला
ब्यूटी पार्लर में सज रही दुल्हन की गोली मारकर हत्या
24 जून 2024 : कैसा रहेगा अपना आज, पढ़ें दैनिक राशिफल
स्पोर्ट्स स्टेडियम बलिया में कुछ यूं मना अन्तर्राष्ट्रीय ओलम्पिक दिवस