गाजीपुर में ईवीएम बदले जाने की खबर, धरने पर बैठे अफजाल

 गाजीपुर में ईवीएम बदले जाने की खबर, धरने पर बैठे अफजाल


नई दिल्ली। यूपी के गाजीपुर में ईवीएम बदले जाने की खबरों को लेकर हड़कंप मच गया। गाजीपुर लोकसभा सीट से बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे महागठबंधन के प्रत्याशी अफजाल अंसारी ने आरोप लगाया कि कुछ लोग स्ट्रॉन्ग रूम में ईवीएम बदलने की कोशिश कर रहे हैं। इस मामले को लेकर अफजाल अंसारी ने स्ट्रॉन्ग रूम के बाहर हंगामा करना शुरू कर दिया। इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस से भी अफजाल अंसारी की तीखी झड़प हुई। अफजाल अंसारी ने कहा कि उन्हें अब जिले के प्रशासन पर भरोसा नहीं है और वो खुद ईवीएम की निगरानी करेंगे। इसके बाद अफजाल अंसारी अपने समर्थकों के साथ स्ट्रॉन्ग रूम के बाहर ही धरने पर बैठ गए।

आपको बता दें कि गाजीपुर लोकसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार और केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा चुनाव लड़ रहे हैं। अफजाल अंसारी ने आरोप लगाया कि प्रशासन ईवीएम बदले जाने के खेल में शामिल है। वहीं, गाजीपुर की जखनिया विधानसभा सीट से विधायक त्रिवेणी राम ने भी अफजाल अंसारी का समर्थन किया। स्ट्रॉन्ग रूम के बाहर अफजाल अंसारी के धरने पर बैठने की खबर से जिले के अधिकारियों में हड़कंप मच गया और वो तुरंत मौके पर पहुंचे। बताया जा रहा है कि इन अधिकारियों के साथ भी अफजाल अंसारी की तीखी बहस हुई। अधिकारियों ने ईवीएम की पूर्ण सुरक्षा का आश्वासन देते हुए अफजाल अंसारी ने धरना खत्म करने का आग्रह किया, लेकिन अफजाल अंसारी अपने समर्थकों के साथ वहीं धरने पर बैठे हुए हैं।

दरअसल यह मामला उस वक्त शुरू हुआ, जब सोशल मीडिया पर बिहार में एक गाड़ी में ईवीएम दिखने की खबर फैली। इस मामले की तस्वीरों को बिहार के सीएम लालू प्रसाद यादव और आरजेडी ने अपने फेसबुक पेज पर भी शेयर किया। तस्वीरों को शेयर करते हुए सोशल मीडिया पर लिखा गया, '‪अभी-अभी बिहार के सारण और महाराजगंज लोकसभा क्षेत्र में स्ट्रॉन्ग रूम के आस-पास मंडरा रही EVM से भरी एक गाड़ी जो शायद अंदर घुसने के फिराम में थी, उसे राजद-कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने पकड़ा। साथ मे सदर BDO भी थे, जिनके पास कोई जबाब नही है। सवाल उठना लाजिमी है? छपरा प्रशासन का कैसा खेल??‬ सभी साथी सतर्क रहें। ये भाजपाई गुंडे ठग कुछ भी कर सकते हैं।'

Post Comments

Comments

Latest News

गरीबी और बदनसीबी से जूझ रहे परिवार के बीच 'राहत' लेकर पहुंचा बलिया का मदद संस्थान गरीबी और बदनसीबी से जूझ रहे परिवार के बीच 'राहत' लेकर पहुंचा बलिया का मदद संस्थान
बलिया : धर्मपुरा गांव निवासी ओमप्रकाश राजभर की असामयिक मौत 16 जून को हो गयी थी। महज 40 साल की...
क्या सच में केरल सरकार ने की है अपने 'विदेश सचिव' की नियुक्ति, मुख्य सचिव ने जारी किया यह बयान
बलिया में मासूम बालिका से दुष्कर्म, 28 साल के आरोपी युवक को मिली 25 साल की सजा
बलिया पुलिस के हत्थे चढ़ा युवक, संगीन अपराध में भेजा गया जेल
सावन में घर बैठे स्पीड पोस्ट से प्राप्त करें श्री सोमनाथ आदि ज्योतिर्लिंग मंदिर का प्रसाद
बलिया डीएम का आदेश, मुख्यालय न छोड़ें अधिकारी
डेढ़ सौ अध्यापकों के खिलाफ बलिया बीएसए की बड़ी कार्रवाई, इन हेडमास्टरों से भी जबाब-तलब