बलिया : सैन्य अफसर बन पहली बार गांव पहुंचे शिक्षिका पुत्र लेफ्टिनेंट शुभम मयंक सिंह का भव्य स्वागत

बलिया : सैन्य अफसर बन पहली बार गांव पहुंचे शिक्षिका पुत्र लेफ्टिनेंट शुभम मयंक सिंह का भव्य स्वागत

बलिया : भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट बनकर पहली बार घर पहुंचे शुभम मयंक सिंह का जोर‌दार स्वागत रेलवे स्टेशन पर रिश्तेदारों व शुभचिंतकों ने किया। वही, नौजवानों ने अति उत्साह में शुभम मयंक सिंह को गोदी में उठाकर स्टेशन परिसर से बाहर लाया। वहीं, अपने बेटे का स्वागत करते हुए शिक्षिका मां मंजू सिंह के आंखों से खुशी के आंसू छलक पड़े। अपनों के प्यार से अभिभूत शुभम मयंक भी भावविह्वल नजर आये।
 
बलिया शहर के अधिवक्ता नगर में रहने वाले कुरेजी के मूल निवासी डॉ. शिवमूर्ति सिंह व श्रीमती मंजू सिंह के पुत्र शुभम मयंक सिंह ने गुजरात में आर्मी स्कूल से 12वीं पास कर NDA में दाखिला प्राप्त किया। 3 साल पूणे के रक्षा अकादमी में पढाई व ट्रेनिंग के बाद एक साल देहरादन के भारतीय रक्षा अकादमी की ट्रेनिंग पूरी कर शुभम मयंक ने 8 जून को राजपूत रेजीमेंट में लेफ्टिनेंट पद पर कमीशन प्राप्त किया है।
 
Shubham Mayank Singh
 
शुभम मयंक ने बताया कि वह स्कूली शिक्षा के दौरान ही सेना में अफसर बनने का संकल्प ले लिया था। संकल्प को साकार करने के लिए ईमानदारी से मेहनत किया, जिसका प्रतिफल शानदार मिला। लेफ्टिनेंट शुभम मयंक सिंह ने कहा कि आज पूरी दुनिया में भारतीय आर्मी की बहुत प्रतिष्ठा है। इसका अंग बनकर देश की सेवा करना मेरे लिए गर्व की बात है।
 
शिक्षिका पुत्र है शुभम मयंक
शुभम मयंक की मां उच्च प्राथमिक विद्यालय चन्द्रशेखर नगर में सहायक अध्यापिका है,  जिनका शुभम पर गहरा प्रभाव है। शुभम मयंक के मामा शिक्षक विनायक शरण सिंह ने कहा कि वह एक समझदार संवेदनशील व साहसी छात्र है। लेफ्टिनेंट बनकर पहली बार सरयू यमुना एक्सप्रेस से बलिया प्लेटफार्म पर अपने माता-पिता के साथ उतरते ही शुभम मयंक का सभी ने फूल-माला से स्वागत किया। इस अवसर पर प्रेमसागर सिंह, विद्यासागर सिंह, ओंकारनाथ सिंह, भूपेश सिंह, अंजनी सिंह, लड्‌डु‌पाण्डेय, कृष्णा विक्रम, मंटू प्रसाद, शशि प्रकाश सिंह अजय शंकर सिंह, आकाश, स्कन्द इत्यादि उपस्थित थे।

Post Comments

Comments

Latest News

बलिया में पंचायत में बवाल, सात घायल ; एक दर्जन लोगों पर मुकदमा बलिया में पंचायत में बवाल, सात घायल ; एक दर्जन लोगों पर मुकदमा
बैरिया, बलिया : बैरिया थाना क्षेत्र के दया छपरा गांव में बुधवार की देर शाम भूमि विवाद में जमकर मारपीट...
बलिया को मिली एक और ट्रेन, देखिएं छपरा-उधना-छपरा अनारक्षित विशेष ट्रेन की समय-सारिणी
बलिया में रोजगार को लेकर बड़ा अवसर आया सामने, उम्र 18 से 50 वर्ष ; ऐसे करे आवेदन
बलिया में तीन दिवसीय चित्रकला प्रदर्शनी का शुभारंभ, काफी खुश है बच्चे
अभ्युदय कोचिंग बनाएगा होनहारों का भविष्य : बलिया में प्रवेश के लिए आवेदन शुरू, जानिएं किस-किस एग्जाम की मिलती है फ्री कोचिंग
बलिया में रेलकर्मी को दौड़ा-दौड़ा कर पीटने वाले दोनों जीआरपी सिपाहियों पर हुई बड़ी कार्रवाई
बलिया : ट्रेन से कटकर अधेड़ की मौत, शिनाख्त में करे जीआरपी की मदद