'हक की बात' बलिया डीएम के साथ : खूब हुआ सवाल-जबाब

'हक की बात' बलिया डीएम के साथ : खूब हुआ सवाल-जबाब

यह भी पढ़े Road Accident in Ballia : ट्रैक्टर ट्राली की चपेट में आने से बाइक सवार युवक की मौत

यह भी पढ़े बलिया में Road Accident : बाइक सवार युवक की मौत का Live वीडियो वायरल

बलिया। मिशन शक्ति-4.0 के अंतर्गत 'हक की बात जिलाधिकारी के साथ' बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में हुई। महिला कल्याण विभाग द्वारा आयोजित बैठक में जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह ने महिलाओं और स्कूल की बच्चियों के साथ संवाद स्थापित किया। उन्होंने बच्चियों को नारी सुरक्षा, नारी सम्मान और नारी स्वावलंबन के बारे में जानकारी दी। उत्साहवर्द्धन करते हुए कहा कि  सरकार द्वारा महिला सुरक्षा पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। प्रशासन का प्रयास है कि लैंगिक भेदभाव को खत्म और महिला पुरुष लिंगानुपात के अंतर को कम किया जाए। समय की मांग है कि सभी लोगों को समानता का अधिकार मिले। उन्होंने कहा कि आधुनिक शिक्षा से इसमें काफी बदलाव आया है। माता-पिता की सोच बदली है। वह अपने पुत्र और पुत्रियों में अंतर नहीं करते हैं।उन्हें समान शिक्षा और अन्य सुविधाएं देने का प्रयास करते हैं।

यह भी पढ़े Road Accident in Ballia : ट्रैक्टर ट्राली की चपेट में आने से बाइक सवार युवक की मौत

यह भी पढ़े बलिया में Road Accident : बाइक सवार युवक की मौत का Live वीडियो वायरल

जिलाधिकारी ने बताया कि सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार की योजनाएं महिलाओं के लिए चलाई जा रही हैं। इनमें मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना राष्ट्रीय पोषण मिशन आदि शामिल है। इन योजनाओं का उद्देश्य महिलाओं का सशक्तिकरण करना और उनके आत्म बल को ऊंचा उठाना है, ताकि वह पुरुषों के बराबर कदम से कदम मिलाकर चल सकें। कहा कि लड़कियों का लैंगिक उत्पीड़न एक बड़ी समस्या है, जिसके लिए मिशन शक्ति, महिला हेल्पलाइन, महिला साइबर सेल, महिला रिपोर्टिंग पुलिस चौकी, परामर्श केंद्र, महिला पुलिस बीट बने हैं। यहां संपर्क कर महिलाएं अपने खिलाफ होने वाले लैंगिक अपराधों पर रोक लगा सकती हैं।

यह भी पढ़े बलिया : मां-बाप का इकलौता बेटा था शिवा, ऐसे झपट ले गई मौत

जिलाधिकारी ने कहा कि महिलाओं को सरकार की तरफ से बहुत सी सुविधाएं दी जा रही है, लेकिन हमारी कुछ जिम्मेदारियां भी हैं। यदि हमें स्वतंत्रता मिली है तो उसके मूल्यों को समझना होगा। महिलाओं को अपने अधिकारों का दुरुपयोग नहीं करना है। परिस्थितियां तय करती है कि हमें क्या करना है। बराबरी का मतलब यह नहीं है कि हमें पुरुष मानसिकता की बुराइयां भी अपना लेनी चाहिए। अपने लक्ष्यों को बनाए और उसी पर चलें। लक्ष्य को हमेशा ध्यान में रखना है। स्वाबलंबी बनना है। अगर जीवन में दिग्भ्रमित हो जाएंगे तो लक्ष्य से भटक जाएंगे।

यह भी पढ़ेंछोटी उम्र में सिर से उठा बाप का साया, बकरी पालकर मां ने पढाया, कुछ ऐसी है UPSC पास करने वाले विशाल की कहानी

जिलाधिकारी ने कहा कि मूल्य और मान्यताएं समय के साथ बदलती रहती है। आप अपने आत्म विश्वास को बढ़ाने का प्रयास करें। महान लोगों और महापुरुषों की आत्मकथा पढ़ें। उनसे प्रेरणा ले। लड़कियां अपने लक्ष्य को तय करें और उसे प्राप्त करने में जी-जान लगा दें। उन्होंने मुंशी प्रेमचंद की एक उक्ति की ओर ध्यान आकर्षित करते हुए कहा कि लड़कियों में पृथ्वी तत्व की प्रधानता अधिक होती है। अर्थात उनमें सहन शक्ति अधिक होती है, लेकिन सहन वहीं तक करें जहां तक बर्दाश्त करने लायक हो। गलत के खिलाफ आवाज जरूर उठाएं और उसका विरोध करें।

जिलाधिकारी ने उपस्थित महिलाओं, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं और एनसीसी छात्राओं तथा अन्य लड़कियों से सवाल भी पूछे और उनके प्रश्नों का उत्तर भी दिया। लड़कियों ने पूरे आत्मबल के साथ अपनी बात रखी और जिलाधिकारी से अपनी जिज्ञासा के संबंध में सलाह भी ली। जिलाधिकारी ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में लड़कियों को कई प्रकार की असफलताओं का सामना करना पड़ता है। व्यवस्था धीरे-धीरे बदल रही है। लोगों में जागरूकता आ रही है। यह जागरूकता सरकार की योजनाओं के माध्यम से आ रही है। हमें अपनी सोच बदलनी है। सोच तीन स्तरों पर बदलनी है, व्यक्ति, समाज और सरकार। उन्होंने सभा में उपस्थित छात्राओं से उनके शिक्षा और कॅरियर से संबंधित में बातचीत की। 

Post Comments

Comments

Latest News

हो चुकी है नौतपा की शुरूआत : बलिया के पं. अखिलेश उपाध्याय बोले - 9 दिन बरपेगा कहर, जरूर करें ये काम हो चुकी है नौतपा की शुरूआत : बलिया के पं. अखिलेश उपाध्याय बोले - 9 दिन बरपेगा कहर, जरूर करें ये काम
Ballia News : इस साल 25 मई से नौतपा की शुरुआत हो चुकी है, जिसका समापन 2 जून को हो...
Game Zone में 27 लोगों की मौत, हाईकोर्ट ने लिया स्वत: संज्ञान
नेल पॉलिश के लिए नाराज होकर मायके गई पत्नी, बोली- पति के साथ रहूंगी ; मगर इस शर्त पर
यूपी में भीषण हादसा : पलक झपकते ही 11 श्रद्धालुओं की मौत, 25 घायल ; अपनों को तलाशते रहे परिजन
बलिया : बेसिक शिक्षा विभाग के इन शिक्षक-कर्मचारियों को बीएसए ने किया अलर्ट, आज है अंतिम मौका
26 मई 2024 : कैसा रहेगा अपना Sunday, पढ़ें दैनिक राशिफल
होटल में हुक्का पार्टी के खिलाफ पुलिस की बड़ी कार्रवाई, 40 गिरफ्तार