अस्‍पताल में भर्ती महिला को एमआरआई के लिए ढाई महीने बाद बुलाया, मौत

अस्‍पताल में भर्ती महिला को एमआरआई के लिए ढाई महीने बाद बुलाया, मौत

नई दिल्ली। दिल्‍ली के सबसे बड़े सरकारी अस्‍पताल सफरजंग हॉस्‍पिटल की लापरवाही के चलते एक महिला को अपनी जान गंवानी पड़ी। 47 साल की विमला कोमा में थीं और सफदरजंग में भर्ती थीं। वो जिंदगी और मौत से जूझ रही थीं। उनके ब्रेन का MRI होना था। भर्ती होने के बावजूद एमआरआई के लिए उन्‍हें 26 अगस्‍त का टाइम दिया गया।खराब हालत के चलते विमला इतना लंबा इंतजार कर नहीं पाई और उनकी मौत हो गई। परिजनों का आरोप है कि जांच के अभाव में इलाज प्रभावित हुआ, जिसकी वजह से उनकी मौत हो गई। यही नहीं ऐेसा ही एक और मामला सामने आ रहा है जब अन्य महिला मरीज को एमआरआई के लिए 12 नवंबर की डेट मिली है।आपको बता दें कि विमला सफदरजंग के न्यूरॉलजी विभाग में ऐडमिट थीं। परिजनों का आरोप है कि वह बोल तक नहीं पा रही थीं, कोमा वाली स्थिति में थीं। उन्होंने कहा कि इलाज करने वाले डॉक्टर ने खुद एमआरआई ब्रेन की जांच कराने को लिखा था, बावजूद इसके अस्पताल के रेडियॉलजी विभाग ने 26 अगस्त का समय दिया था।परिजनों ने बताया कि हमें तो यही डर था कि बिना जांच के इलाज कहीं इस कदर प्रभावित न हो जाए कि हमें इसका बड़ा खामियाजा हमें भुगतना पड़े। रिश्तेदार ने एक अखबार से बातचीत में बताया कि जब मरीज ऐडमिट हो जाता है तो उसके इलाज की जरूरत के अनुसार जल्दी जांच होती है, ताकि इलाज सही तरीके से हो सके। यहां तो ऐडमिट मरीज को भी ओपीडी की तरह डेट दी जा रही थी।

Related Posts

Post Comments

Comments

Latest News

बेटे संग मिलकर मां ने बेटी को जिन्दा जलाया, खौफनाक दृश्य देख सहम गए लोग बेटे संग मिलकर मां ने बेटी को जिन्दा जलाया, खौफनाक दृश्य देख सहम गए लोग
हापुड़। यूपी में रिश्ते शर्मासार करने का एक मामला सामने आया है। गुरुवार देर शाम एक मां अपने बेटे के...
Ballia की बड़ी खबर : प्रेम प्रसंग में युवक ने खुद को गोली से उड़ाया, प्रेमिका घायल
29 September 2023 : आज का राशिफल, जानिए क्या कहते है आपके सितारें
बलिया : धूमधाम के साथ मनाया गया वरावफात, निकला जुलूस
बलिया सीएमओ ने CHC अधीक्षक के खिलाफ लिया बड़ा एक्शन
बलिया : धान के खेत में पड़ा मिला बेसिक शिक्षा विभाग के कर्मचारी का शव
Ballia News : स्कूल प्रांगण स्थित कमरे में फंदे से लटककर प्रिंसिपल ने दी जान