प्रतिभा को सलाम-04 : बलिया के शिक्षकों ने इस सोच से बदल दी व्यवस्था, गरीब बच्चों को भी मिलने लगी Online शिक्षा

प्रतिभा को सलाम-04 : बलिया के शिक्षकों ने इस सोच से बदल दी व्यवस्था, गरीब बच्चों को भी मिलने लगी Online शिक्षा


बलिया। 'यही जज्बा रहा तो मुश्किलों का हल भी निकलेगा, जमीं बंजर हुई तो क्या वहीं से जल भी निकलेगा, ना हो मायूस ना घबरा अंधेरों से मेरे साथी, इन्हीं रातों के दामन से सुनहरा कल भी निकलेगा...' यह पक्तियां ऑनलाइन क्लास चला रहे बेसिक शिक्षाकों पर सटीक बैठती है। तमाम परेशानियों के वावजूद भी बलिया के कुछ शिक्षक इस कठिन सफर पर चल पड़े है, उनको मंजिल पर पहुंचने का पूर्ण विस्वास है। प्रस्तुत है ऑनलाइन क्लास की कहानी बलिया के शिक्षकों की जुबानी...

कोरोना महामारी से बचाव हेतु देशव्यापी लॉकडाऊन जारी है। सभी शिक्षण संस्थाएं बंद है। इस संकट के समय हमारे बच्चों की शिक्षा बाधित न हो, इसके लिए मेरे विद्यालय परिवार ने WhatsApp के जरिये पठन-पाठन जारी रखने का प्लान किया। सर्वप्रथम मोहम्मद अरमान अली सर ने बच्चों और अभिभावको से संपर्क कर व्हाट्सप्प ग्रुप बनाया और बच्चों को आपस में पुरानी पुस्तकों को आदान-प्रदान करने को कहा, जिससे ज्यादातर बच्चों तक पुस्तकें उपलब्ध हो गयी। अप्रैल के शुरुआत मे सिर्फ क्लास 4 व 5 के बच्चों को ऑनलाइन क्लास से जोड़ा गया। फिर बाद में क्लास 2 व 3 के बच्चों को शामिल किया गया। ग्रुप के माध्यम से प्रतिदिन विषयवार पठन -पाठन का कार्य चल रहा है। वॉइस और वीडियो क्लिप के माध्यम से इसे रुचिकर बनाने का प्रयास करती हूं, परन्तु एक दुखद पहलु ये भी है कि कुछ बच्चों को फोन के अभाव में इस ऑनलाइन क्लास का लाभ नहीं मिल पा रहा है। मेरे प्रधानाध्यापक धीरेन्द्र राय लगातार अभिभावको से संपर्क कर बच्चों हेतु शिक्षा सामग्री पोस्ट करते है। इस विषम परिस्थिति में भी मेरा विद्यालय परिवार अपने कर्तब्यों के प्रति समर्पित है।

      सरवत अफ़रोज़

सरवत अफ़रोज़, सअ
प्रावि वैना 
ब्लॉक-हनुमानगंज


कोरोना के कारण लॉकडाउन में स्कूल बंद है। इसके बावजूद भी शिक्षक अपनी जिम्मेदारियों समझते हुए ऑनलाइन शिक्षण में लगे हैं। इसी कड़ी में मैं work at home के तहत  ऑनलाइन क्लास चलाकर बच्चों को पढ़ा रहा हूं। पढ़ाई के साथ-साथ बच्चों को क्राफ़्ट कला के बारे में भी बताता हूं। बच्चे नये नये क्राफ्ट भी सिख रहे हैं। मेरे द्वारा तैयार कला क्राफ्ट की वीडियो बलिया के विद्यालयों के व्हाट्सप्प समूहों में ही नहीं, बल्कि प्रदेश के अन्य जनपदों के विद्यालयों के समूहों में भी शेयर किया जा रहा है। बच्चे आनंद के साथ सीख व पढ़ रहे है। मुझे भी आनंद का अनुभव हो रहा है।

         राजीव मौर्य

राजीव मौर्य
कन्या उप्रावि गायघाट
ब्लाक-रेवती 

ऑनलाइन क्लास देने के आदेश के उपरांत बच्चों से संपर्क कर पाना एवं उनका व्हाट्सएप नंबर लेना थोड़ा कठिन लग रहा था, परंतु हमारे विद्यालय परिवार के अध्यापक दीनबंधु सिंह, प्रधानाध्यापक राजेश कुमार सिंह एवं अन्य स्टाफ के अथक प्रयास से यह संभव हुआ। इस प्रयास के बाद बच्चे थोड़ा समझ नहीं पा रहे थे कि क्या और कैसे पढ़ना है, परंतु हम सभी अध्यापकों ने गांव में अभिभावक संपर्क किया। उनको ऑनलाइन क्लास के बारे में जागरूक किया। इसके पश्चात अभिभावक और बालकों में जागरूकता देखने को मिला है। हम सभी अध्यापक स्वनिर्मित गृह कार्य प्रत्येक दिन विद्यालय ग्रुप में देते हैं। दीक्षा एप, ई-पाठशाला और यूट्यूब से कुछ अध्ययन सामग्री इकट्ठा कर विद्यालय ग्रुप में सेंड करते हैं। बच्चों द्वारा गृह कार्य को करने के पश्चात हम अध्यापक उनके समस्याओं का समाधान वीडियो कॉल एवं वॉइस मैसेज द्वारा करते हैं। बच्चे अध्ययन में थोड़ी रुचि लेने लगे हैं। उनके अभिभावक भी जागरूक हो गए हैं और अब यह स्थिति है कि हमारे विद्यालय ग्रुप में एसएमसी सदस्य, छात्र एवं अध्यापकों के साथ 50 सदस्य हैं। इस क्लासेस का हम लोगों को सार्थक बदलाव रुचि पूर्ण शिक्षा का विकास देखने को मिला है। आगे भी देखने को मिलेगा और हमारा बेसिक परिवार नित्य प्रतिदिन बुलंदियों को हासिल करेगा।

       सौरभ कुमार, सअ

सौरभ कुमार, सअ
प्रावि करमपुर
ब्लॉक-बेरुआरबारी

संकलन : नन्दलाल शर्मा
प्रधानाध्यापक 
प्राथमिक विद्यालय तेतरा, सीयर बलिया

Look at this

Post Comments

Comments

Latest News

बलिया में हार्टफुलनेश संस्था ने योग जागरूकता ध्यान शिविर में दिया 'करे योग रहे निरोग' का मंत्र बलिया में हार्टफुलनेश संस्था ने योग जागरूकता ध्यान शिविर में दिया 'करे योग रहे निरोग' का मंत्र
बलिया : अंतरराष्ट्रीय योग दिवस आयोजन पखवारे के क्रम में जन जन तक योग पहुंचाने के प्रयास के क्रम में...
बलिया : Road Accident में पत्नी और बेटे के साथ स्कूटी सवार बैंककर्मी घायल
TSCT की बलिया टीम ने किया स्थलीय निरीक्षण, 15 जून से होगा इस दिवंगत शिक्षक के परिवार का सहयोग
उत्तर प्रदेश में बढ़ गईं गर्मी की छुट्टियां, अब इस तारीख खुलेंगे स्कूल
समाज कल्याण अधिकारी की बर्खास्तगी तय, पेंशन घोटाले के 65 लाख रुपये रिकवरी का आदेश
बलिया : सड़क हादसों में लगातार हो रही मौतों से आहत लोगों ने उठाई यह मांग
बलिया : रसोईया और सहायक अध्यापक के परिजनों का आंसू पोछ शिक्षकों ने आपदा राहत कोष से सौंपा सहयोग राशि