गड्ढा मुक्त सड़क के सरकारी दावे की पोल खोल रहे संपर्क मार्ग

 गड्ढा मुक्त सड़क के सरकारी दावे की पोल खोल रहे संपर्क मार्ग


सुखपुरा(बलिया)। तुम्हारी फाइलों मे गांव का मौसम गुलाबी है, मगर ये आंकड़े झूठे ये दावा किताबी है।मशहूर शायर अदब गोंडवी की उक्त पक्तियां सरकार गड्ढा मुक्त दावो की सही तस्वीर प्रस्तुत कर रही हैं।कहते है सड़कें गांवों के विकास की जीवन रेखा हैं व लेकिन क्षेत्र के लगभग आधा दर्जन सम्पर्क मार्गों की हालत इस कदर बदतर है कि उन पर पैदल चलना तक कठिन है।प्रदेश सरकार के गड्ढा मुक्त मार्गों के दावे को झुठलाने के लिए इन सड़कों की वर्तमान स्थिति काफी है।क्षेत्र का एक प्रमुख बाजार होने के नाते सुखपुरा कस्बे का जुडा़व लगभग एक दर्जन गांवों से है।चाहे बाजार हाट करना हो, किसी की दवा करानी हो या बच्चों की पढ़ाई हो, प्रायः इन सभी चीजों के लिए लोगों को सुखपुरा आना ही है।यही नही जिला मुख्यालय या अन्य शहरों मे जाने के लिए भी लोगों को यहां वाहन पकड़ने के लिए आना है।यहां आने के लिये विभिन्न गांवों से आधा दर्जन सम्पर्क मार्गों का जाल है।सम्पर्क मार्गों की हालत यह है कि मार्गों मे गड्ढे हैं कि गड्ढों मे मार्ग है यह बता पाना कठिन है।सबसे ज्यादा परेशानी तो छोटे छोटे स्कूली बच्चों को होती है।कब इन मार्गों पर चलने से वह चोटिल हो जायें इस बात से उनके माता पिता बराबर सशंकित रहते हैं।यही हाल गम्भीर मरीज़ों व उनके सहायकों की है।प्रदेश सरकार ने सड़कों को गड्ढा मुक्त करने का अभियान चलाया था जरूर लेकिन उसका लाभ इस क्षेत्र विशेष को नही मिला।सुखपुरा-भलुही,सुखपुरा पानी टंकी-अपायल,सुखपुरा विलायती जामुन-संत राय डेरा,सुखपुरा-भंवरपुर,शिवपुर-बसंतपुर जैसे आधा दर्जन से अधिक मार्गों की हालत इस कदर जर्जर है कि उसे मार्ग कहने मे भी शर्म महसूस हो रहा है।क्षेत्र का एक महत्वपूर्ण गांव हरिपुर में संपर्क मार्गों की खस्ता हालत से लोगों का आवागमन काफी दुरुह हो गया है।प्राथमिक विद्यालय,दलित बस्ती,धोबी बस्ती को जाने वाले संपर्क मार्गों की खस्ता हालत ने लोगों को काफी बेचैन कर रखा है। प्राथमिक विद्यालय पर जाने वाले मार्ग की हालत तो काफी दयनीय है जिस पर स्कूली बच्चों का आना जाना काफी कष्ट कारक है।विद्यालय खुलने के पुर्व यदि प्राथमिक विद्यालय तक जाने वाले मार्ग का निर्माण या मरम्मत नहीं किया जाता तो निश्चित रूप से स्कूली बच्चों का उस मार्ग से विद्यालय जाना काफी दूरुह हो जाएगा। ग्राम प्रधान मनीष सिंह ने इस संदर्भ में उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को भी कई बार पत्र लिखकर मार्ग के निमार्ण की मांग की है बावजूद इसके निर्माण के प्रति शासन प्रशासन गंभीर नहीं है।अभी तक निर्माण कार्य शुरू नहीं हो पाया है। इससे गांव के लोगों में शासन-प्रशासन के प्रति तीब्र आक्रोश है।लोगों ने प्रदेश सरकार से हरिपुर गाँव में स्थित संपर्क मार्गो के अविलंब निर्माण की मांग जनहित में की है।


रिपोर्ट डॉक्टर विनय कुमार सिंह

Related Posts

Post Comments

Comments

Latest News

थिएटर्स में धमाल मचा रही 'तेरी बातों में ऐसा उलझा जिया', कमाई 100 करोड़ पार  थिएटर्स में धमाल मचा रही 'तेरी बातों में ऐसा उलझा जिया', कमाई 100 करोड़ पार 
एंटरटेनमेंट डेस्क : 9 फरवरी को रिलीज हुई शाहिद कपूर और कृति सेनन की फिल्म 'तेरी बातों में ऐसा उलझा...
सब इंस्पेक्टर के खिलाफ एसपी का बड़ा एक्शन
Ballia Road Accident : तिलक समारोह से लौट रही जीप में पिकअप ने मारी टक्कर, अब तक 6 की मौत, चार रेफर
बलिया : पॉक्सो एक्ट में दोषी अभियुक्त को जुर्माना संग 10 वर्ष सश्रम कारावास की सजा
शिक्षिका से छेड़छानी, सहायक अध्यापक सस्पेंड 
27 फरवरी का राशिफल : इन राशि वालों की आय मे हो सकती है वृद्धि
बलिया लोकसभा चुनाव संचालन समिति की कामकाजी बैठक में इन विन्दुओं पर चर्चा