बलिया : पुलिस का छापा, बंटी-बबली के साथ तीन गिरफ्तार ; लेकिन...

बलिया : पुलिस का छापा, बंटी-बबली के साथ तीन गिरफ्तार ; लेकिन...


बलिया। पुलिस और ग्रामीणों की युगलबंदी से एक वर्ष पहले बंद हो चुकी अवैध शराब की खेती पुनः लहलहाने की सूचना पर पहुंची पुलिस ने छापेमारी की। इस दौरान अफरा-तफरी मच गयी। कई शराब निर्माता भाग खड़े हुए, लेकिन जयराम बिंद पुत्र कैलाश, मुन्ना बिंद पुत्र जयराम, छुन्ना बिंद पुत्र जयराम इत्यादि पुलिस के हत्थे चढ़ गये। 

मालूम हो कि सुखपुरा थाना क्षेत्र के बसंतपुर में कच्ची शराब का धंधा कुटीर उद्योग का रूप ले चुका था। इस पर गांव के जागरूक लोगों ने शराबबंदी के लिए मोर्चा खोला, जिसमें पुलिस का भी साथ मिला। फिर एक साल पहले शराब का धंधा पूरी तरह बंद हो गया। इधर, शराब का धंधा करने वालों ने पुनः लुकाछिपी का खेल शुरू कर दिया। कच्ची शराब बनने और बिकने लगी। इस पर ग्रामीणों ने एका का परिचय दिया। पुलिस का साथ मिला और शनिवार को छापेमारी हुई। सफलता भी मिली। पुलिस ने तीन को गिरफ्तार कर लिया। 90 सीसी बंटी-बबली और 45 सीसी पावर हाउस भी बरामद हुई है। छापेमारी टीम में चौकी इंचार्ज बसंतपुर अजय प्रताप सिंह और उनके सहयोगी शामिल रहे। 

शराब बरामदी पर उठे ये सवाल

ग्रामीणों की माने तो बसंतपुर और शिवपुर गांव की सीमा पर देशी शराब की दुकान आबकारी विभाग द्वारा आवंटित है। लेकिन शराब बरामदगी ने कई सवाल खड़े कर दिये है। इसमें सबसे बड़ा सवाल यह है कि लाकडाउन में इतनी भारी मात्रा में शराब कहा से आयी ? गांव निवासी इंदरजीत सिंह, नित्यानंद मिश्रा, रामप्रताप, प्रेमनाथ, अवनीश, टिंकू सिंह, अजीत, विश्राम बिंद आदि ने इस पर जल्द से जल्द रोक लगाने की मांग की है।

Post Comments

Comments

Latest News

फूड प्वाइजनिंग से दुल्हन की बहन समेत दर्जनों लोग बीमार फूड प्वाइजनिंग से दुल्हन की बहन समेत दर्जनों लोग बीमार
UP News : संभल जिले में जुनाबई थाना क्षेत्र के अजीजपुर गांव में बारात में फूड प्वाइजनिंग से दुल्हन की...
वीडियो कॉल पर 200 रुपये में 5 मिनट गंदी बातें, पकड़ी गईं 6 'ड्रीमगर्ल्‍स'
करके सीखों कार्यक्रम : जूस बनाने से लेकर बच्चों को मिलेगी पंक्चर और पकौड़ा बनाने की ट्रेनिंग
डोनाल्ड ट्रंप की रैली में फायरिंग : जानलेवा हमले में बाल-बाल बचे पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति, मारा गया शूटर
शिक्षकों की ऑनलाइन हाजिरी पर यूपी के पूर्व बेसिक शिक्षा मंत्री रामगोविन्द चौधरी ने सरकार को दी नसीहत
कार्यकर्ताओं का मान सम्मान सर्वोपरि : केतकी सिंह
बलिया में आकाशीय बिजली झुलसी एक ही परिवार की तीन महिलाएं