डोर टू डोर दवा पहुंचाने के लिए अधिकृत कर्मचारी का पुलिस ने काटा चालान, जानें BCDA का रिएक्शन

डोर टू डोर दवा पहुंचाने के लिए अधिकृत कर्मचारी का पुलिस ने काटा चालान, जानें BCDA का रिएक्शन



बलिया। जनपद की 48 दवा दुकानों को डोर टू डोर आवश्यक दवाओं की आपूर्ति करने के लिए 
जिला प्रशासन द्वारा अधिकृत किया गया है। इसके लिए BCDA के महामंत्री बब्बन यादव द्वारा चिन्हित दुकानों के दो-दो अधिकृत कर्मचारियों को परिचय पत्र भी जारी किया जा रहा है। लेकिन पुलिस प्रशासन द्वारा डोर टू डोर दवा आपूर्ति कर्ता दुकान के अधिकृत कर्मचारियों के उत्पीड़न की घटना ने BCDA के सदस्यों में झकझोर कर रख दिया है।


इस संबंध में दवा देवी संगम की प्रोपराइटर प्रिया तिवारी ने संगठन को संबोधित शिकायती पत्र में बताया है कि उनकी दुकान का कर्मचारी दिलीप राय पुत्र धीरज राय आवास विकास कॉलोनी निवासी एक मरीज के यहां दवा आपूर्ति करने के लिए जा रहा था। इसी बीच पुलिस के लोगों ने उसका चालान काट दिया। कर्मचारी द्वारा सब कुछ दिखाने और बताएं जाने के बावजूद आनलाइन एक हजार रुपए अर्थदंड रोपित कर पुलिस ने प्रशासन के सहयोग और सहायता में जुटे दवा कारोबारियों के प्रयासों पर पानी फेर दिया।


BCDA जिलाध्यक्ष आनंद सिंह सहित सैंकड़ों दवा व्यवसाईयो ने ऐसी घटनाओं पर तत्काल रोक लगाने व दवा कर्मचारी के विरुद्ध जारी चालान वापस लिए जाने की मांग की है। अन्यथा संगठन जिला प्रशासन को दिये जा रहे सहयोग पर पुनर्विचार करने के लिए बाध्य होगा, जिसकी पूरी जिम्मेदारी जिला प्रशासन की होगी।

Post Comments

Comments

Latest News

15 जून 2024 : क्या कहते है आपके सितारे, पढ़ें दैनिक राशिफल 15 जून 2024 : क्या कहते है आपके सितारे, पढ़ें दैनिक राशिफल
मेष आज का दिन बिजनेस कर रहे लोगों के लिए उतार-चढ़ाव भरा रहेगा। आज आपको नौकरी में तरक्की मिल सकती...
बलिया में हार्टफुलनेश संस्था ने योग जागरूकता ध्यान शिविर में दिया 'करे योग रहे निरोग' का मंत्र
बलिया : Road Accident में पत्नी और बेटे के साथ स्कूटी सवार बैंककर्मी घायल
TSCT की बलिया टीम ने किया स्थलीय निरीक्षण, 15 जून से होगा इस दिवंगत शिक्षक के परिवार का सहयोग
उत्तर प्रदेश में बढ़ गईं गर्मी की छुट्टियां, अब इस तारीख खुलेंगे स्कूल
समाज कल्याण अधिकारी की बर्खास्तगी तय, पेंशन घोटाले के 65 लाख रुपये रिकवरी का आदेश
बलिया : सड़क हादसों में लगातार हो रही मौतों से आहत लोगों ने उठाई यह मांग