बलिया में आग ने मचाई तबाही, जिन्दा जला मासूम ; पांच झुलसे

बलिया में आग ने मचाई तबाही, जिन्दा जला मासूम ; पांच झुलसे


बैरिया, बलिया। बैरिया थाना क्षेत्र के चांददियर ग्राम पंचायत के यादव नगर प्लाट में मंगलवार की शाम अज्ञात कारणों से लगी आग लगने से पूरी बस्ती जलकर राख हो गई है। इस अग्निकांड में एक 5 वर्षीय बालक जिंदा जल गया। वहीं, बच्चे को बचाने के प्रयास में चार लोग बुरी तरह झुलस गए। उन्हें एंबुलेंस से इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सोनबरसा पहुंचाया गया है।

अचानक रामजी यादव के घर से आग की लपटें उठने लगी, जो देखते ही देखते राधेश्याम, रामजी, राज किशोर, रामाशंकर, दिनेश, उमाशंकर, उमेश, सुरेंद्र, राज किशोर, मनोज यादव, अदालत यादव, विनोद यादव, सुरेंद्र यादव, तेतर यादव, किशन देव यादव सहित लगभग तीन दर्जन लोगों का कच्चा पक्का मकान व रिहायशी मकान जल गया। इन मकानों में रखे लगभग एक करोड़ से अधिक की संपति (नकदी, कपड़े, खाद्यान्न, सोने चांदी के गहने, साइकिल, मोटरसाइकिल व एक ट्रैक्टर) जल गया। इस अग्निकांड में रामजी यादव की एक भैंस, जगन्नाथ यादव की दो बकरियां और एक भैंस जलकर मर गई है।

यह भी पढ़े बलिया : ट्रेन से गिरे यात्री की दर्दनाक मौत, नहीं हो सकीं शिनाख्त

रामजी यादव के घर में अचानक अबूझ कारणों से आग की लपटें उठने लगी। आग की गति तेज हवा के कारण इतनी तीव्र थी कि पलक झपकते ही पूरी पूरी बस्ती आग की चपेट में आ गई। रामजी का पांच वर्षीय पुत्र अजीत भी लपटों में फंस गया। इसकी जानकारी जब तक लोगों को हुई आग विकराल रूप धारण कर ली। बावजूद इसके बच्चे को बचाने के प्रयास में राम प्रवेश यादव (55), राजकिशोर यादव (48), मनोज यादव (35) व मृतक बच्चे की बहन उर्मिला (12) वर्ष झुलस गई। बावजूद इसके बच्चे को जिंदा नहीं बचाया जा सका। अगलगी की घटना की सूचना पर एसडीएम राहुल यादव, तहसीलदार संजय सिंह, लेखपाल मोतीलाल पहुंच गए। फोन करके एंबुलेंस मंगवाया और घायलों को अस्पताल पहुंचाया।

यह भी पढ़े विकसित और आत्मनिर्भर भारत के लिए दें आशीर्वाद : नीरज शेखर

तत्पर रहे सीएचसी के स्वास्थ्यकर्मी

यह भी पढ़े Road Accident in Ballia : ट्रैक्टर ट्राली की चपेट में आने से बाइक सवार युवक की मौत

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सोनबरसा में आयुष चिकित्सक डॉ मनोज उपाध्याय मौजूद थे। सूचना पर मुरली छपरा के प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉक्टर देवनीति सिंह भी पहुंच गए। वहां के फार्मासिस्ट डॉक्टर एन शुक्ला, केदार यादव व स्टाफ नर्स ने तत्परता से इलाज शुरू किया। समाचार लिखे जाने तक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सोनबरसा में घायलों का इलाज चल रहा है।

कब तक झेलते रहेंगे आग की त्रासदी

बैरिया, बलिया। आग की त्रासदी झेलना चांद दियर की नियत बन गई है। मंगलवार की शाम लगी आग में 30 घर स्वाहा हो गए। अब पूरी बस्ती खुले आसमान के नीचे आ गई हैं। देर शाम तक अग्नि पीड़ितों के लिए प्रशासन द्वारा ना तो भोजन की व्यवस्था कराई गई, नहीं उन्हें त्रिपाल आदि ही दिया गया। मौके पर मौजूद लेखपाल मोतीलाल गुप्त ने बताया कि ग्राम प्रधान से आग्रह किया गया है कि अग्नि पीड़ितों को आज भोजन उपलब्ध कराएं। कल ट्रेजरी खुलने के बाद सभी अग्नि पीड़ितों को आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने का प्रयास किया जायेगा। उधर, रामजी यादव के बेटे की मौत से पूरा परिवार सुध बुध खो चुका है। पूरे गांव में मातम का माहौल है। चार महीनों तक जलभराव में डूबा चांद दियर आग के तांडव से त्रस्त हो गया है। जब तक यहां सरकार फूस के बने मकानों को हटाकर टीन सेड या पक्के मकान नहीं बनवायेगी, आगलगी की घटनाओं पर काबू नहीं पाया जा सकता है।


शिवदयाल पांडेय मनन

Post Comments

Comments

Latest News

हो चुकी है नौतपा की शुरूआत : बलिया के पं. अखिलेश उपाध्याय बोले - 9 दिन बरपेगा कहर, जरूर करें ये काम हो चुकी है नौतपा की शुरूआत : बलिया के पं. अखिलेश उपाध्याय बोले - 9 दिन बरपेगा कहर, जरूर करें ये काम
Ballia News : इस साल 25 मई से नौतपा की शुरुआत हो चुकी है, जिसका समापन 2 जून को हो...
Game Zone में 27 लोगों की मौत, हाईकोर्ट ने लिया स्वत: संज्ञान
नेल पॉलिश के लिए नाराज होकर मायके गई पत्नी, बोली- पति के साथ रहूंगी ; मगर इस शर्त पर
यूपी में भीषण हादसा : पलक झपकते ही 11 श्रद्धालुओं की मौत, 25 घायल ; अपनों को तलाशते रहे परिजन
बलिया : बेसिक शिक्षा विभाग के इन शिक्षक-कर्मचारियों को बीएसए ने किया अलर्ट, आज है अंतिम मौका
26 मई 2024 : कैसा रहेगा अपना Sunday, पढ़ें दैनिक राशिफल
होटल में हुक्का पार्टी के खिलाफ पुलिस की बड़ी कार्रवाई, 40 गिरफ्तार