प्राथमिक शिक्षक संघ ने किया डिजिटल उपस्थित का पूर्ण वहिष्कार, आंदोलन घोषित

प्राथमिक शिक्षक संघ ने किया डिजिटल उपस्थित का पूर्ण वहिष्कार, आंदोलन घोषित

UP News : उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ ने डिजिटल उपस्थित का पूर्ण वहिष्कार करते हुए आंदोलन घोषित कर दिया है। प्रदेश नेतृत्व ने समस्त जनपदीय अध्यक्ष/मंत्री, माण्डलिक संगठन मंत्री को इस बावत पत्र जारी किया है। इसकी जानकारी उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ बलिया के अध्यक्ष अजय कुमार सिंह ने दी। 
 
जिलाध्यक्ष ने बताया कि बेसिक शिक्षा परिषद के नियंत्रणाधीन शिक्षक/शिक्षिकाओं की मांगो व समस्याओं एंव परिषदीय शिक्षक/शिक्षिकाओं से पंजीकाओं का डिजिटलाइजेशन व डिजिटल (डिजिटल फेस छायांकन) उपस्थिति कराए जाने संबंधी निर्देश के विरोध में उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष सुशील कुमार पाण्डेय, महामंत्री उमाशंकर सिंह व कोषाध्यक्ष ठाकुरदास यादव द्वारा सरकार एवं विभाग को प्रमुखता से पूर्व में प्रेषित पत्र के माध्यम से संज्ञानित कराया गया है।
 
जिसमें प्रमुख रूप से प्रदेश के शिक्षकों का वेतन विसंगति, स्वास्थ बीमा, विद्यालयों में लिपिक की नियुक्ति एंव चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी की नियुक्ति की मांग व प्रदेश के शिक्षक/शिक्षिकाओं का गंभीर मुद्दा पुरानी पेंशन सहित अनेक कई मांगें/समस्यांए सम्मिलित है, जिसका निराकरण विभाग द्वारा अभी तक नहीं किया गया है। विभागीय उच्चाधिकारियों को संगठन द्वारा पत्र के माध्यम से यह भी अवगत कराया गया कि बेसिक शिक्षा परिषद के शिक्षक/ शिक्षिकाओं के साथ दोहरा माप दण्ड अपनाते हुए प्रदेश के शिक्षक/शिक्षिकाओं से पंजीकाओं का डिजिटलाइजेशन व डिजिटल उपस्थिति (डिजिटल फेस छायांकन) कराया जाना उचित नहीं है।
 
वहीं, सचिवालय कर्मचारी, राज्य कर्मचारी, माध्यमिक शिक्षा, उच्च शिक्षा सहित अन्य विभागों में बायोमेट्रिक प्रणाली लागू किया गया है या लागू किया जाना है। उच्च न्यायालय के निर्देशानसार किसी भी व्यक्ति का डिजिटल फोटो छायांकन लिया जाना निजता का हनन माना गया है। संगठन द्वारा शासन एवं विभागीय उच्चाधिकारियों को यह भी अवगत कराया गया कि बेसिक शिक्षा परिषद के शिक्षक/ शिक्षिकाओं की लम्बित व बाधित समस्याओं का समाधान किया जाना अति आवश्य है, जिसके उपरान्त ही अन्य विभागों में उपस्थिति के भांति बेसिक शिक्षा में भी प्रणाली लागू किया जाना समसामायिक होगा।
 
परन्तु विभागीय उच्चाधिकारियों द्वारा बेसिक शिक्षा परिषद के शिक्षक/शिक्षिकाओं के साथ दोहरा माप दण्ड अपनाते हुए प्रदेश के शिक्षक/शिक्षिकाओं से पंजीकाओं का डिजिटलाइजेशन व डिजिटल उपस्थिति कराए जाने का पुनः निर्देश जारी कर दिया गया, जो कि पूर्व में 15 जुलाई 2024 से लागू किया जाना था परन्तु अब 08 जुलाई 2024 से डिजिटल उपस्थिति (डिजिटल छायाकंन उपस्थिति) दिए जाने का निर्देश जारी किया गया है।  
 
इस संबंध में प्रदेश के शिक्षक/शिक्षिकाओं के हित की दृष्टि से संगठन द्वारा ऑनलाइन बैठक किया गया। बैठक में आप सबके विचार एवं सुझाव मांगे गए और प्रदेश के विभन्न जनपदों के जनपदीय पदाधिकारियों द्वारा अपने-अपने विचार, सुझाव दिए गए और शिक्षक/शिक्षिकाओं की समस्याओं से अवगत कराया गया। बैठक के उपरान्त उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ, प्रदेश के शिक्षक/शिक्षिकाओं के हित की दृष्टि से यह निर्णय लिया गया कि बेसिक शिक्षा परिषद के नियंत्रणाधीन शिक्षक/शिक्षिकाओं के साथ विभाग द्वारा दोहरा माप दण्ड अपनाते हुए परिषदीय शिक्षक/शिक्षिकाओं से पंजीकाओं का डिजिटलाइजेशन व डिजिटल (डिजिटल फेस छायांकन) उपस्थिति कराए जाने संबंधी निर्देश का पूर्ण विरोध और वहिष्कार करेगा।
 
साथ ही उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ मांग किया कि प्रदेश के शिक्षक/शिक्षिकाओं को 30 ईएल, ऑफ इएल, सप्ताह के दूसरे शनिवार को अवकाश सहित व्यवस्था लागू किया जाए एवं प्रदेश के शिक्षक/शिक्षिकाओं की पूर्व से लम्बित/बाधित समस्याओं का अतिशीघ्र समाधान किया जाए। परिषदीय शिक्षक/शिक्षिकाओं का वेतन विसंगति, स्वास्थ बीमा, विद्यालयों में लिपिक की नियुक्ति एंव चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी की नियुक्ति सहित प्रदेश के शिक्षक/शिक्षिकआों का गंभीर मुददा पुरानी पेंशन बहाल किया जाए। उसके उपरान्त ही अन्य विभागों में कर्मचारियों की उपस्थिति की भांति बेसिक शिक्षा परिषद के नियंत्रणाधीन शिक्षक/शिक्षिकाओं की उपस्थिति लिया जाना समसामायिक एंव प्रदेश के शिक्षक/शिक्षिकाओं के हित में होगा। 
 
इस संदर्भ में आप सब अवगत हों कि बेसिक शिक्षा परिषद के नियंत्रणाधीन शिक्षक/शिक्षिकाओं के साथ विभाग द्वारा दोहरा माप दण्ड अपनाते हुए परिषदीय शिक्षक/शिक्षिकाओं से पंजीकाओं का डिजिटलाइजेशन व डिजिटल (डिजिटल फेस छायांकन) उपस्थिति कराए जाने संबंधी निर्देश का पूर्ण वहिष्कार/ विरोध किए जाने के निर्णय के क्रम में उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ द्वारा घोषित आन्दोलन कार्यक्रम निम्नवत् है।
 
1.दिनांक 08 जुलाई 2024 को प्रदेश के समस्त शिक्षक/शिक्षिकाओं द्वारा अपने-अपने विद्यालय में काली पट्टी बांधकर विरोध प्रदर्शन करते हुए पठन पाठन कार्य किया जाए।  
 
2. दिनांक 11 जुलाई 2024 को प्रदेश के समस्त जनपद मुख्यालय पर जनपदीय कार्यसमिति/ब्लाक अध्यक्ष,मंत्री एकत्रित होकर जिलाधिकारी/जिला प्रशासन/जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी के माध्यम से माननीय मुख्यमंत्री जी, उत्तर प्रदेश सरकार को संबोधित ज्ञापन दिया जाएगा।
 
3. उक्त आन्दोलन कार्यक्रम से संदर्भित कार्यक्रम को प्रिंट मीडिया/इलेक्ट्रनिक मीडिया/ सोशल मीडिया  को सूचित किया जाए।     
 
बेसिक शिक्षा परिषद के नियंत्रणाधीन शिक्षक/शिक्षिकाओं के साथ विभाग द्वारा दोहरा माप दण्ड अपनाते हुए पंजीकाओं का डिजिटलाइजेशन व डिजिटल (डिजिटल फेस छायांकन) उपस्थिति कराए जाने संबंधी निर्देश का उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ द्वारा पूर्ण विरोध किए जाने के निर्णय उपरान्त उक्त से संदर्भित उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ द्वारा घोषित आन्दोलन कार्यक्रम को अपने-अपने जनपद में सफल बनाने को कहा गया है। 

Post Comments

Comments

Latest News

बलिया से घर लौट रहे थे विशाल, रास्ते से झपट ले गई मौत बलिया से घर लौट रहे थे विशाल, रास्ते से झपट ले गई मौत
बलिया : एनएच-31 पर स्थित दुबहर थाना क्षेत्र अंतर्गत सनाथ पांडेय के छपरा गांव के सामने मंगलवार की देर रात...
बलिया बीएसए ने ऐसे स्कूलों के खिलाफ छेड़ा अभियान, 6 विद्यालयों पर लगा ताला ; बढ़ी औरों की बेचैनी
बलिया का चर्चित हत्याकांड : रोहित पांडेय के घर पहुंचे कैबिनेट मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह, बोले...
बलिया : रोडवेज बस और बाइक में सीधी टक्कर, एक ही गांव के तीन युवकों की मौत, दो घायल
बलिया में 10 सरकारी अस्पतालों का औचक निरीक्षण, 18 डॉक्टर 84 स्टॉफ मिले गैरहाजिर; डीएम ने लिया बड़ा एक्शन
श्रावण मास विशेष : क्यों की जाती है शिवलिंग की पूजा ?
24 जुलाई 2024 : कैसा रहेगा अपना आज, पढ़ें दैनिक राशिफल