बलिया और बिहार में होती रही 'लालू' की तलाश, सन्नाटे को चीरता रहा चीत्कार

बलिया और बिहार में होती रही 'लालू' की तलाश, सन्नाटे को चीरता रहा चीत्कार


बैरिया, बलिया। विधाता के खेल के आगे किसी की नहीं चलती है। सोमवार को एक ही साथ सरयू नदी में पांच बच्चों के डूब जाने की अभूतपूर्व घटना ने लोगों को झकझोर कर रख दिया है। इस हृदयविदारक घटना से फखरू टोला डेरा गांव में मातम पसरा हुआ है। दूसरे दिन भी गांव में किसी के घर चूल्हा नहीं जला। घर की महिलाओं के रोने व विलाप करने से वहां पहुंचने वाले लोगों के आंखों से बरबस ही आंसू निकल आ रहे हैं। मृत अप्पू की मां बलवंती देवी का रो-रोकर बुरा हाल है। रह-रह वह अचेत हो जा रही है। वहीं अप्पू की छोटी बहने भैया-भैया कहकर दहाड़ मार कर रो रही है।

अप्पू की मां बलवंती देवी


                     अप्पू की बहन
लवकुश की मां संगीता देवी तो मानो सुधबुध ही खो बैठी है। विकास के मां बाप हैदराबाद में हैं। लॉक डाउन के कारण नहीं आए हैं। घर में बूढी दादी मोनाको देवी रह-रह कर बेहोश हो जा रही है। 70 वर्षीया मोनाको देवी अपनी बुढौती पोता विकास के सहारे आराम से काट रही थी, लेकिन वह भी उन्हें छोड़कर चला गया। विशाल की मां रमावती देवी का भी रोते-रोते बुरा हाल है। रह-रह कर वह विशाल-विशाल चिल्लाने लगती है।
                  लवकुश की मां संगीता

                 विकास की दादी मनाको

लालू यादव के शव की तलाश में परिवार व प्रशासन दूसरे दिन भी लगा हुआ है, किंतु अभी तक उसका शव सरयू नदी से नहीं निकल पाया है। उसके घर की स्थिति और भी भयावह है। पूरा परिवार चाहता है कि किसी तरह लालू का शव सरयू नदी से निकाला जाय। गोताखोर दूर-दूर तक बिहार सीमा में घुसकर लालू के शव को घाघरा में तलाशने का प्रयास कर रहे हैं, किंतु सफलता नहीं मिल पा रही है।

     लालू के शव की तलाश कराती पुलिस

ग्रामीणों ने बताया कि पांचों बच्चें एकराय होकर नहाने के लिए सरयू नदी के किनारे चले गए थे। सभी बच्चे स्कूल में पढ़ने वाले थे। लॉक डाउन के कारण स्कूलों में छुट्टी से बच्चे इधर-उधर खेलने के लिए भटकते हैं। इसी खेलकूद के चक्कर में उक्त बच्चे सरयू नदी में नहाने के लिए चले गए थे। 



टोला फकरु राय के डेरा गांव ही नही, सरयू नदी मे डूबकर मरने वाले सभी मृतको के ननिहाल मे भी मातम है। मृतक अप्पू यादव का ननिहाल लगन टोला, लवकुश का ननिहाल गरीबा टोला व विशाल, विकास व लालु का ननिहाल दलन छपरा पकड़ीतर में भी मातम का महौल है। सभी के ननिहाल से रिश्तेदार आये है। मृतको के घर से लेकर लालु के शव की खोज में घर से सरयू घाट पर दरबदर भटक रहे है। प्रशासन की देख रेख में गोताखोर सरयू नदी में महाजाल तथा बिहार की सीमा में नाव से शव की खोज जारी है। 

शिवदयाल पांडेय 'मनन'

Post Comments

Comments

Latest News

बलिया में भीषण सड़क हादसा : शादी समारोह से लौट रही सफारी पलटी, चार युवकों की दर्दनाक मौत बलिया में भीषण सड़क हादसा : शादी समारोह से लौट रही सफारी पलटी, चार युवकों की दर्दनाक मौत
बलिया : एनएच 31 पर स्थित फेफना थाना क्षेत्र के राजू ढाबा के आस पास हुए सड़क हादसे में चार...
एक बार फिर बदल गया 8वीं तक के स्कूल संचालन का समय
25 अप्रैल 2024 : जानिएं क्या कहते है आपके सितारे, पढ़ें दैनिक राशिफल
बलिया में किसानों की जमीन पर बाढ़ विभाग की दखल, अन्नदाताओं ने JE के खिलाफ दी तहरीर
बलिया : बोलेरो की टक्कर से बाइक सवार शिक्षक की मौत, दो युवक घायल
बलिया : ड्यूटी पर तैनात सिपाही का बल्ब चुराते वीडियो वायरल !
जीवनसाथी की हत्या : बलिया में पत्नी ने उजाड़ दिया खुद का सुहाग