महंगाई भत्ता रोकने के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर, पढ़िये क्या दी गयी है दलील

महंगाई भत्ता रोकने के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर, पढ़िये क्या दी गयी है दलील


रायपुर। महंगाई भत्ता पर रोक के मामले में जहां कांग्रेस ने सवाल उठाये हैं, वहीं दूसरी तरफ मामला सुप्रीम कोर्ट भी पहुंच गया है। सेना के रिटायर अफसर ने इस फैसले को सर्वोच्च न्यालय में चुनौती दी है और केंद्र सरकार को फैसले वापस लेने का निर्देश जारी करने को कहा है।

सेवानिवृत मेजर ओंकार सिंह गुलेरिया ने यह याचिका दायर की है। कैंसर पीड़ित इस अफसर ने कोर्ट में कहा है कि वो बीमार पत्नी के साथ किराये के मकान में रहे हैं और उनकी आय का जरिया उनका मासिक पेंशन है। उनकी तरफ लाखों पूर्व कर्मचारी है, जो पेंशन पर निर्भर है, लेकिन महंगाई भत्ता रोके जाने से उन्हें काफी परेशानी का सामना करना पड़ेगा।

याचिकाकर्ता का कहना है कि जब पूरी दुनिया में कोरोना वायरस लोगों के लिए घातक साबित हो रहा है। वैसे कठिन वक्त में बुजुर्गों के लिए महंगाई भत्ते में कटौती का फैसला सही नहीं है। याचिकाकर्ता ने सुप्रीम कोर्ट से मांग की है कि वो केंद्र सरकार को प्रधानमंत्री के उस बात का पालन करने का निर्देश दें कि जिसमें उन्होंने कहा था कि सीनियर सिटीजन की देखभाल करें और वेतन में कटौती ना करें। दूसरों की तुलना में वरीष्ठ नागरिकों के लिए कोरोना ज्यादा खतरनाक है।




Related Posts

Post Comments

Comments

Latest News