दूल्हा-दुल्हन बोले-यह शादी याद रहेगी, क्योंकि...

दूल्हा-दुल्हन बोले-यह शादी याद रहेगी, क्योंकि...


बरौली। लॉकडाउन के बीच में बरौली में विवाह हुआ, जिसमें न बाराती शामिल हुए और न भोज वदिया गया। इस शादी में दूल्हा-दुल्हन पक्ष के सिर्फ पांच लोग एकत्रित हुए। इस विवाह की सभी रस्में महज 3 घंटे में पूरी की गई। जिसमें न तो दूल्हा घोड़ी चढ़ा और न ही बैंडबाज की धुन पर बाराती नाचे।

इस विवाह में दहेज व भोज जैसी प्रथा भी दूर-दूर तक नहीं रहीं। गोपालगंज के बरौली थाना के चौबे टोला से के एन प्रसाद यादव ने अपने पुत्र अभिषेक का बरात एक वाहन से 5 लोगो के साथ नेउरी गॉव के प्रसाद यादव के यहां लेकर पहुंचे। मुहूर्त के अनुरूप पंडित के साथ आधे दर्जन लोग सोशल डिस्टेंस को पालन करते हुए शादी के गवाह बने।

शादी की निभाई गईं सारी रस्में

जैसे ही बारात लेकर वर पक्ष के लोग पहुंचे इसके बाद द्वारपूजा हुआ।वर माला,मंत्रो के बीच सिंदूर दान और एक साथ जीवन बसर करने के लिए दूल्हा अभिषेक और दुल्हन अनु ने सात फेरे लिए।

इस शादी की बात ही निराली है

दूल्हा अभिषेक यादव ने कहा कि सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए अच्छा लग रहा है। कम खर्च में ये शादी हो रहा है।हम समाज को यह संदेश देना चाहते है कि हर आदमी जागरूक हो,कम खर्च में अपने लड़का-लड़की का शादी करे। जिससे समाज मे परिवर्तन संभव हो।

बोली दुल्हन

लॉकडाउन में शादी होने के कारण सभी लोग दूरियां बनाकर रहे।यह शादी यादगार रहेगा।सभी लोग साबुन से हाथ धोए और एक मीटर की दूरी बनाकर रखे, यही संदेश है।

Related Posts

Post Comments

Comments

Latest News

बलिया में हार्टफुलनेश संस्था ने योग जागरूकता ध्यान शिविर में दिया 'करे योग रहे निरोग' का मंत्र बलिया में हार्टफुलनेश संस्था ने योग जागरूकता ध्यान शिविर में दिया 'करे योग रहे निरोग' का मंत्र
बलिया : अंतरराष्ट्रीय योग दिवस आयोजन पखवारे के क्रम में जन जन तक योग पहुंचाने के प्रयास के क्रम में...
बलिया : Road Accident में पत्नी और बेटे के साथ स्कूटी सवार बैंककर्मी घायल
TSCT की बलिया टीम ने किया स्थलीय निरीक्षण, 15 जून से होगा इस दिवंगत शिक्षक के परिवार का सहयोग
उत्तर प्रदेश में बढ़ गईं गर्मी की छुट्टियां, अब इस तारीख खुलेंगे स्कूल
समाज कल्याण अधिकारी की बर्खास्तगी तय, पेंशन घोटाले के 65 लाख रुपये रिकवरी का आदेश
बलिया : सड़क हादसों में लगातार हो रही मौतों से आहत लोगों ने उठाई यह मांग
बलिया : रसोईया और सहायक अध्यापक के परिजनों का आंसू पोछ शिक्षकों ने आपदा राहत कोष से सौंपा सहयोग राशि