स्कूल न जाकर, घर से ही बायोमीट्रिक हाजिरी लगाने वाली प्रधानाध्यापिका सस्पेंड

स्कूल न जाकर, घर से ही बायोमीट्रिक हाजिरी लगाने वाली प्रधानाध्यापिका सस्पेंड

लखीमपुर खीरी : राजकीय कन्या हाईस्कूल गूम में तैनात प्रधानाध्यापक दीप शिखा धूसिया विद्यालय न जाकर घर में ही बायोमीट्रिक मशीन मंगाकर उपस्थिति लगा रही थीं। जांच में मामले की पुष्टि होने पर शिक्षा निदेशक डा. महेंद्र देव ने उन्हें निलंबित कर दिया है। यह मामला जुलाई, अगस्त में संज्ञान में आया था।
 
डीआइओएस डा. महेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि दीपशिखा धूसिया ग्राम पंचायत गूम के राजकीय कन्या हाई स्कूल की प्रधानाध्यापक हैं। पहले भी इनका ऐसा मामला संज्ञान में आ चुका है, लेकिन इस बार जब जुलाई, अगस्त में मामला संज्ञान में आया तो जांच की गई। वह घर पर ही बायोमीट्रिक मशीन मंगा कर न केवल उपस्थित लगा लेती थीं बल्कि इसी आधार पर वेतन भी ले रही थीं। डीआइओएस ने मामले की जांच करके डीएम के सामने आख्या प्रस्तुत की, कार्रवाई का अनुरोध किया, जिस पर डीएम ने मजिस्ट्रेट की जांच बैठा दी।
 
मजिस्ट्रेट की जांच में मामला सच पाए जाने पर जब विस्तृत आख्या शासन को तथा विभाग को भेजी गई तो विभाग ने निराकरण के लिए दीपशिखा धूसिया को नोटिस भेजकर निदेशालय बुलाया कि वह भी अपना पक्ष रखने के लिए निदेशालय उपस्थित हों। निश्चित अवधि में उपस्थित न होने पर शिक्षा निदेशक डा. महेंद्र देव ने उनका निलंबन आदेश जारी कर दिया है।

Post Comments

Comments

Latest News

बलिया : दिवंगत Teacher के परिजनों को सहयोग राशि सौंपते हुए शिक्षकों ने दिलाया यह भरोसा बलिया : दिवंगत Teacher के परिजनों को सहयोग राशि सौंपते हुए शिक्षकों ने दिलाया यह भरोसा
Ballia News : शिक्षा क्षेत्र हनुमानगंज के कंपोजिट विद्यालय मिड्ढा के प्रभारी प्रधानाध्यापक अली अख्तर खान के असामयिक निधन से...
बलिया से घोषित भाजपा प्रत्याशी नीरज शेखर की जन आशीर्वाद यात्रा 15 को, देखें पूरा शेड्यूल
बलिया : प्राथमिक शिक्षक संघ ने उठाई विद्यालय संचालन के समय में परिर्वतन की मांग, डीएम को लिखा पत्र
13 अप्रैल का राशिफल : आज कैसा रहेगा मेष से लेकर मीन राशि वालों का दिन, पढ़िएं यहां
बलिया में बाइक सवार बदमाशों ने दो युवकों को मारी गोली, मचा हड़कम्प
बलिया : महिला गिरफ्तार, तीन की तलाश में छापेमारी ; ये है पूरा मामला
कारोबारी की बलि : हत्यारी महिला बोली- 5 दिन से सपने में नरबलि मांग रही थी माता