बलिया : घर पहुंचकर भी 'घर' नहीं पहुंच सका युवा प्रवासी, क्योंकि देहरी पर खड़ी थी मौत

बलिया : घर पहुंचकर भी 'घर' नहीं पहुंच सका युवा प्रवासी, क्योंकि देहरी पर खड़ी थी मौत


रसड़ा, बलिया। रसड़ा कोतवाली क्षेत्र के मोतिरा गांव में शनिवार की रात करंट की जद में आने से प्रवासी मजदूर की मौत है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

मोतिरा गांव निवासी मोहरील राजभर (20) पुत्र निठाली राजभर के दो पुत्र थे। सबसे बड़े पुत्र मोहरील राजभर केरल प्रदेश में रहकर नौकरी कर परिवार का भरण पोषण करता था। लाकडाउन की वजह से परेशान मोहरील केरल में किसी तरह शनिवार को अपने गांव मोतिरा पहुंचा। परिजन तथा गांव के लोगों ने उससे गांव के बाहर रुकने को कहा। 

मोहरील गांव से सटे गांव चनाडीह में एक ट्यूबेल पर पहुंचकर नहाया धोया और अपना कपड़ा बगल के खेत के लोहे के तार पर सूखने के लिए टांग दिया। मोहरील अपना कपड़ा उतारने पहुंचा तो लोहे के तार में करंट दौड़ रहा था, जिसकी जद में आने से झुलस गया। आनन-फानन में उसे सीएचसी पहुंचाया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।।मोहरील की मौत से परिवार में कोहराम मचा है।


शिवानंद बागले

Post Comments

Comments

Latest News

बलिया को मिली एक और ट्रेन, देखिएं छपरा-उधना-छपरा अनारक्षित विशेष ट्रेन की समय-सारिणी बलिया को मिली एक और ट्रेन, देखिएं छपरा-उधना-छपरा अनारक्षित विशेष ट्रेन की समय-सारिणी
वाराणसी : रेलवे प्रशासन द्वारा यात्री जनता की सुविधा हेतु 09103/09104 उधना-छपरा-उधना अनारक्षित ग्रीष्मकालीन विशेष गाड़ी का संचलन उधना से...
बलिया में रोजगार को लेकर बड़ा अवसर आया सामने, उम्र 18 से 50 वर्ष ; ऐसे करे आवेदन
बलिया में तीन दिवसीय चित्रकला प्रदर्शनी का शुभारंभ, काफी खुश है बच्चे
अभ्युदय कोचिंग बनाएगा होनहारों का भविष्य : बलिया में प्रवेश के लिए आवेदन शुरू, जानिएं किस-किस एग्जाम की मिलती है फ्री कोचिंग
बलिया में रेलकर्मी को दौड़ा-दौड़ा कर पीटने वाले दोनों जीआरपी सिपाहियों पर हुई बड़ी कार्रवाई
बलिया : ट्रेन से कटकर अधेड़ की मौत, शिनाख्त में करे जीआरपी की मदद
सहायक अध्यापिका बनते ही पति को ठुकराया, बीएसए ने किया सस्पेंड