बलिया : Lockdown में कामना पांडेय की आई दूसरी रचना 'मैं वही हूं...'

बलिया : Lockdown में कामना पांडेय की आई दूसरी रचना 'मैं वही हूं...'


टेबल पर पड़ी किताब से एक दिन पूछ लिया मैंने यूं ही 
ऐसा क्या तुम में खास है जो गुणगान करते हैं सभी 
उत्तर में एक जवाब आया
उसने अपना महत्व समझाया
मैं हूं वही जिसने ऋषि-मुनियों को भी महान बनाया 
मैं हूं वही जिसने इंसानों को बुद्धिमान बनाया 
मैं हूं वही जिसने सबको शिक्षा का महत्व समझाया
मैं हूं वही जिसने सबके अंदर के अहम को मिटाया
मैं हूं वही जिसने सबको अपना मित्र बनाया
मैं हूं वही जिसने सबको सत्य मार्ग पर चलना सिखाया


पर...
बोलते ही बोलते हैं वह अचानक से चुप हो गई 
मैं पूछ बैठी क्या हुआ जो ऐसे तुम रुक गई 
वह बोली मुझे पढ़ना इतना भी आसान नहीं 
पढ़ने को तो सब पढ़ते हैं पर समझे कोई सार नहीं
जो समझ ले सार मेरा वह कभी झुकता नहीं 
संघर्षों के मार्ग पर वह कभी रुकता नहीं

कामना पांडेय
मिड्ढ़ा, बलिया
(रचनाकार कामना पांडेय बलिया के वरिष्ठ पत्रकार श्रवण पांडेय की बेटी है।)

Post Comments

Comments

Latest News

बलिया में करंट से महिला की मौत बलिया में करंट से महिला की मौत
मझौवां, बलिया: बैरिया थाना क्षेत्र की ग्राम पंचायत जगदेवा अंतर्गत मिश्र गिरी की मठिया निवासी हीरामुनी देवी (45) पत्नी हीरालाल...
बलिया का रोहित पांडेय हत्याकांड : सीएम योगी ने लिया संज्ञान
रामायण प्रसाद सिंह बनें बलिया कोतवाली के निरीक्षक अपराध
बलिया : निरीक्षण में बंद मिले आठ स्कूल, बीएसए की कार्रवाई से मचा हड़कम्प
शिक्षिका के साहस के आगे बदमाशों के हौसले पस्त
22 जुलाई 2024 : क्या कहते हैं आपके सितारे, पढ़ें दैनिक राशिफल
रोहित पांडेय हत्याकांड में बलिया पुलिस का बड़ा एक्शन, एसपी ने किया यह ऐलान