‘चंद्रशेखर’ के जाते ही सुचिता विहीन हुई राजनीति

‘चंद्रशेखर’ के जाते ही सुचिता विहीन हुई राजनीति


बलिया। भारत भूमि को अपने कदमों से नापने वाले देश के प्रथम समाजवादी प्रधानमंत्री चंद्रशेखर जी की९३ वीं जयंती समाजवादी पार्टी के जिला कार्यालय पर जिला अध्यक्ष संग्राम सिंह यादव के अध्यक्षता में मनाई गई।इस अवसर पर उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए जिला अध्यक्ष ने कहा कि आज के समय में जब राजनीति में सूचिता का अभाव हो गया है ऐसे में चंद्रशेखर जी की कमी खल रही है।श्रे(य चंद्रशेखर जी सच को कहने और उसपर अडिग रहने वाले व्यक्ति थे।

पूर्व प्रधानमंत्री सम्बन्धों का निर्वाह भी बखूबी करते थे। पूर्व अध्यक्षद्वय नगर पालिका  संजय उपाध्याय एवं लक्षमन गुप्त ने इस अवसर पर कहा कि चंर्द्शेखरजी राजनीति भे भाषा की मर्यादा का खघ्याल रखते थे लोकतंत्र की परम्परा की हमेशा वकालत करते थे।रणजीत चौधरी ने विस्तार से चंद्रशेखर जी के जीवन पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर डा.विश्राम यादव,राजन कनौजिया, बंशीधर यादव, प्रभुनाथ पहलवान, अजय यादव, दीवान सिंह, राघव सिंह, जमाल आलम, छितेश्वर यादव बीर लालयादव,मिंटू खान,जलालुद्दीन जेडीरियाजद्दीन राजू पल्लू जायसवाल, राहुल राय,अमरजीत यादव दिलीप भाई, भोला नाथ यादव,धनजी यादव, लालू यादव, अनिल कनौजिया आदि लोग उपस्थित रहे।कार्यक्रम का संचालन पार्टी के जिला प्रवक्ता सुशील पाण्डेय कान्हजीे किया।


By-Ajit Ojha

Post Comments

Comments

Latest News