हनुमान के रोल ने जिसे बनाया अमर, जाने क्या थी उनकी आखिरी इच्छा

 हनुमान के रोल ने जिसे बनाया अमर, जाने क्या थी उनकी आखिरी इच्छा


मुम्बई। लॉकडाउन के बीच रामायण का रीटेलिकास्ट हो रहा है। इस बार भी रामायण को उतना ही प्यार मिल रहा है जितना पहले मिला था। रामायण ने टीआरपी रेटिंग्स में सारे रिकॉर्ड्स तोड़ दिए हैं। शो में अरुण गोविल राम के किरदार में थे। वहीं दारा सिंह ने हनुमान का रोल अदा किया था।दारा सिंह को काफी पसंद किया गया था. अब दारा सिंह हमारे बीच में नहीं हैं, लेकिन उनका ये किरदार अमर है।

उनके बेटे विंदू दारा सिंह ने एक इंटरव्यू में अपने पिता की आखिरी इच्छा बताई है। बॉलीवुड लाइफ की खबर के मुताबिक, विंदू दारा सिंह ने बताया कि उनके पिता की आखिरी इच्छा रामायण को फिर से देखना थी। विंदू ने कहा, 'मेरे पिता ने अपने आखिर समय में रामायण को एक बार फिर से देखने की इच्छा जताई थी। उन्होंने कहा था मैं एक बार फिर रामायण देखना चाहता हूं। रामायण देखना उनकी आखिरी इच्छा थी। वो जब रामायण देखने बैठते थे तो एक बार में पांच एपिसोड्स देख लिया करते थे। '

आगे विंदू ने कहा- ‘मेरे पापा ने अपने एक्टिंग करियर में तीन बार हनुमान का रोल निभाया। साल 1976 में रिलीज हुई फिल्म जय बजरंग बली में सबसे पहले हनुमान का रोल निभाया था। इसके बाद वो रामानंद सागर की रामायण में हनुमान बने। तीसरी बार वो बीआर चोपड़ा के टीवी शो महाभारत में हनुमान के रोल में थे। मेरे पापा के बाद बहुत लोगों ने हनुमान का किरदार निभाया, लेकिन जैसा रोल उन्होंने किया वैसा कोई न कर सका।'

Related Posts

Post Comments

Comments

Latest News

बलिया में भीषण सड़क हादसा : शादी समारोह से लौट रही सफारी पलटी, चार युवकों की दर्दनाक मौत बलिया में भीषण सड़क हादसा : शादी समारोह से लौट रही सफारी पलटी, चार युवकों की दर्दनाक मौत
बलिया : एनएच 31 पर स्थित फेफना थाना क्षेत्र के राजू ढाबा के आस पास हुए सड़क हादसे में चार...
एक बार फिर बदल गया 8वीं तक के स्कूल संचालन का समय
25 अप्रैल 2024 : जानिएं क्या कहते है आपके सितारे, पढ़ें दैनिक राशिफल
बलिया में किसानों की जमीन पर बाढ़ विभाग की दखल, अन्नदाताओं ने JE के खिलाफ दी तहरीर
बलिया : बोलेरो की टक्कर से बाइक सवार शिक्षक की मौत, दो युवक घायल
बलिया : ड्यूटी पर तैनात सिपाही का बल्ब चुराते वीडियो वायरल !
जीवनसाथी की हत्या : बलिया में पत्नी ने उजाड़ दिया खुद का सुहाग