लॉकडाउन : पिता के अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो सके बेटे, फिर...

लॉकडाउन : पिता के अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो सके बेटे, फिर...


बस्ती। कोरोना वायरस में लॉकडाउन के चलते पिता की मौत पर उसके तीन बेटे घर नहीं आ पाए। जिससे दिन भर शव घर पर पड़ा रहा, दूसरे दिन पड़ोसी ने दिवंगत का दाह संस्कार करके बेटे का फर्ज निभाया। इसकी चर्चा पूरे क्षेत्र में हो रही है।

हर्रेया थाना क्षेत्र के कोदई गांव के रहने वाले राम दरश सोमवार को दोपहर में खेत में काम कर रहे थे, अचानक उनकी तबियत बिगड़ी और खेत में ही राम दरश की मौत हो गई। घटना से पूरे गांव में कोहराम मच गया। परिवार के लोगों ने फोन के जरिए तीनों बेटों लालचद्रं, मूलचद्रं और प्रेमचंद्र इस घटना की जानकारी दी। तीनों बेटे घर आने के लिए दिनभर दिल्ली में प्रशासनिक अधिकारियों के यहां चक्कर काटते रहे लेकिन कोरोना महामारी में लॉकडाउन के चलते घर नहीं आ सके। घटना के बाद पूरे गांव के लोग जुट गए। गांव के पूर्व जिला पंचायत सदस्य समीर कुमार चौधरी सहित कई लोगों ने किसान के शव का अंतिम संस्कार करने को लेकर सहमति बनाई। दूसरे दिन मंगलवार को दोपहर में पड़ोसी ने किसान के शव का अंतिम संस्कार किया।



Related Posts

Post Comments

Comments

Latest News

बलिया में भीषण सड़क हादसा : शादी समारोह से लौट रही सफारी पलटी, चार युवकों की दर्दनाक मौत बलिया में भीषण सड़क हादसा : शादी समारोह से लौट रही सफारी पलटी, चार युवकों की दर्दनाक मौत
बलिया : एनएच 31 पर स्थित फेफना थाना क्षेत्र के राजू ढाबा के आस पास हुए सड़क हादसे में चार...
एक बार फिर बदल गया 8वीं तक के स्कूल संचालन का समय
25 अप्रैल 2024 : जानिएं क्या कहते है आपके सितारे, पढ़ें दैनिक राशिफल
बलिया में किसानों की जमीन पर बाढ़ विभाग की दखल, अन्नदाताओं ने JE के खिलाफ दी तहरीर
बलिया : बोलेरो की टक्कर से बाइक सवार शिक्षक की मौत, दो युवक घायल
बलिया : ड्यूटी पर तैनात सिपाही का बल्ब चुराते वीडियो वायरल !
जीवनसाथी की हत्या : बलिया में पत्नी ने उजाड़ दिया खुद का सुहाग