भाजपा से नहीं है कोई नाता : ओमप्रकाश

भाजपा से नहीं है कोई नाता : ओमप्रकाश



सिकन्दरपुर, बलिया। भाजपा की सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष व उत्तर प्रदेश के काबिना मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने सोमवार को दावा किया कि भाजपा सरकार से उन्होंने और दर्जा प्राप्त दो मंत्रियों ने पहले ही इस्तीफा दे दिया है तथा उनका अब भाजपा से कोई रिश्ता नही है। उन्होंने इसके साथ ही कहा कि इस्तीफ़ा स्वीकार करना भाजपा सरकार का काम है। उत्तर प्रदेश के पिछड़ा वर्ग कल्याण एवं दिव्यांग जन सशक्तिकरण मंत्री राजभर ने बलिया जिले के सिकन्दरपुर में संवाददाताओं से बातचीत करते हुए दावा किया है कि भाजपा सरकार से उन्होंने व दर्जा प्राप्त दो मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया है तथा उनका भाजपा से कोई रिश्ता नहीं है।
उन्होंने जानकारी दी कि गत 13 अप्रैल को ही उन्होंने इस्तीफा सौंप दिया है, अब इस्तीफा स्वीकार करने का फैसला भाजपा को करना है। उन्होंने स्पष्ट किया है कि भाजपा लोकसभा चुनाव में लाभ लेने के लिये इस्तीफे को स्वीकार नहीं कर रही। उन्होंने इसके साथ ही कहा कि इस्तीफ़ा स्वीकार करना भाजपा सरकार का काम है. उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा अपने चुनावी कार्यक्रमों में उनके फोटो व झंडा का उपयोग कर रही है।
राजभर ने बताया कि वह इस मसले पर चुनाव आयोग में लिखित शिकायत कर चुके हैं, लेकिन चुनाव आयोग भाजपा से मिलीभगत के कारण कोई कार्रवाई नहीं कर रही। भाजपा से उनका अब कोई रिश्ता नहीं है। उनके दल के कार्यक्रमों में भाजपा का कोई झंडा नहीं लगता। उन्होंने उत्तर प्रदेश में महागठबंधन की विजय का दावा किया।

By-Sk Sharma

Related Posts

Post Comments

Comments

Latest News

School Reopen और टाइमिंग को लेकर बहुत महत्वपूर्ण है बलिया बीएसए का यह आदेश School Reopen और टाइमिंग को लेकर बहुत महत्वपूर्ण है बलिया बीएसए का यह आदेश
Ballia News : ग्रीष्मावकाश के बाद विद्यालय पुनः खुलने पर छात्र-छात्राओं के नामांकन वृद्धि तथा नियमित उपस्थिति के लिए स्कूल...
बलिया : पुलिया के नीचे महिला का शव मिलने से मचा हड़कम्प, शिनाख्त की कोशिश में जुटी पुलिस
पत्नी की मौत से आहत गृह सचिव ने खुद को मारी गोली, ऑन द स्पॉट मौत
बलिया : युवती लापता, तलाश में भटक रहे परिजन ; आपसे मदद की अपेक्षा
बारात लेकर ससुराल पहुंचे दूल्हे पर तेजाबी हमला, रथ पर सवार दो बच्चे भी झुलसे
फर्जी शिक्षक गिरफ्तार, ऐसे हुआ था धोखाधड़ी का खुलासा
वाहनों से अवैध वसूली पड़ी भारी, दरोगा समेत चार पुलिसकर्मी सस्पेंड