जो न कर सके सरकारी मुलाजिम उसे युवाओं ने कर दिखाया, हो रही सर्वत्र प्रशंसा

जो न कर सके सरकारी मुलाजिम उसे युवाओं ने कर दिखाया, हो रही सर्वत्र प्रशंसा


चिलकहर,बलिया। ‘कौन कहता है कि आसमां में सुराग हो नही सकता ,कभी हिम्मत से पत्थर तो उछालों यारों’ किसी शायर की इन पंक्तियों  को सलेमपुर के युवाओं ने चरितार्थ कर दिखाया।
हुआ यूँ की लम्बे अरसे से। विद्युत उपकेंद्र पर  गांव के युवाओं ने न सिर्फ आपूर्ति योग्य बनाया बल्कि  गत दिवस आई आंधी में क्षतिग्रस्त हुए विद्युत तार व पोलो की भी मरम्मत कराई। हैरत भरी बात यह रही कि इस पूरे घटनाक्रम के दौरान बिजली विभाग का कोई भी कारिंदा मौके पर नजर नहीं आया। बावजूद इसके गंवई युवाओं के उत्साह में कोई कमी नहीं आई और उन्होंने बेपरवाह होकर बिजली आपूर्ति सुचारु करने का कार्य सम्पन्न कराया। जिसकी सभी मुक्त कंठ से प्रशंसा कर रहे हैं। सरकारी मुलाजिमों के दायित्व की पूर्ति के उपरांत गांव के युवाओं ने लगे हाथ संपादित किए गए कार्य का लेखा जोखा एवं उसका  सरकारी भुगतान न करने संबंधी पत्र मुख्यमंत्री को भी प्रेषित किया। आलम यह है कि  इलाके की बिजली उपभोक्ताओं को अब निर्बाध विद्युत आपूर्ति हो रही है।

बता दें, कि सलेमपुर विद्युत उपकेंद्र में  चार फीडर लगे थे लेकिन बिजली विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों की लापरवाही के चलते एक ही फीडर से समूचे इलाके को विद्युत आपूर्ति की जा रही थी जबकि तीन फीडर चालु नहीं थे जिस वजह से इलाके के लोगों को विद्युत आपूर्ति के लिए आये दिन जूझना पड़ता था।
चार वर्षो से लोग प्रयासरत थे कि तीनों फीडर चालू हो जाय पर ऐसा हो नही सका था पर आंधी मे दो दिनो से बंद पड़ी बिजली को चालू कराने गये उपभोक्ताओं को जब यह पता चला कि एक क्षेत्र में बिजली खराब होने से पुरा उपकेन्द्र ही बंद हो जाता है। 

तब मौके पर जुटे युवा कालिका सिंह, पंकज सिंह व नमन प्रताप सिंह के नेतृत्व में तत्काल खम्भे गाड़ने वाली मशीन को बुलाया व दो अन्य ट्रैक्टर लगाकर शुक्रवार देर रात 11 बजे तक प्राईवेट लाईनमैनों की मदद से तीनों  फीचरों का चालू कराया। तब जाकर बिजली व्यवस्था सुचारू हुई। हैरानी की बात यह है कि इस दौरान उपकेन्द्र के जेई व एसडीओ नदारद रहे व लोगों ने आपस में धन एकत्र कर मशीनों व मजदूरों का भुगतान भी किया। नमन प्रताप सिंह ने जिलाधिकारी व मुख्यमंत्री योगी जी को शनिवार को पत्र भी भेजा कि किये हुये कार्यों का भुगतान उपभोक्ताओ द्वारा कर दिया गया है। इसका सरकारी मद से भुगतान न किया जाय। युवाओं द्वारा किये गये इस नेक कार्य की प्रशंसा चहंुओर हो रही है। सैकड़ों की संख्या में लगे युवाओं ने देर रात तक लगकर इन कार्यो को किया।

रिपार्ट- संजय पांडेय

Related Posts

Post Comments

Comments

Latest News

पत्नी की मौत से आहत गृह सचिव ने खुद को मारी गोली, ऑन द स्पॉट मौत पत्नी की मौत से आहत गृह सचिव ने खुद को मारी गोली, ऑन द स्पॉट मौत
गुवाहाटी : असम के गृह सचिव शिलादित्य चेतिया ने अपनी पत्नी की मौत के बाद गुवाहाटी के एक निजी अस्पताल...
बलिया : युवती लापता, तलाश में भटक रहे परिजन ; आपसे मदद की अपेक्षा
बारात लेकर ससुराल पहुंचे दूल्हे पर तेजाबी हमला, रथ पर सवार दो बच्चे भी झुलसे
फर्जी शिक्षक गिरफ्तार, ऐसे हुआ था धोखाधड़ी का खुलासा
वाहनों से अवैध वसूली पड़ी भारी, दरोगा समेत चार पुलिसकर्मी सस्पेंड
19 जून 2024 : कैसा रहेगा अपना आज, पढ़ें दैनिक राशिफल
15वीं राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में चमकें बलिया के ये खिलाड़ी