जो न कर सके सरकारी मुलाजिम उसे युवाओं ने कर दिखाया, हो रही सर्वत्र प्रशंसा

जो न कर सके सरकारी मुलाजिम उसे युवाओं ने कर दिखाया, हो रही सर्वत्र प्रशंसा


चिलकहर,बलिया। ‘कौन कहता है कि आसमां में सुराग हो नही सकता ,कभी हिम्मत से पत्थर तो उछालों यारों’ किसी शायर की इन पंक्तियों  को सलेमपुर के युवाओं ने चरितार्थ कर दिखाया।
हुआ यूँ की लम्बे अरसे से। विद्युत उपकेंद्र पर  गांव के युवाओं ने न सिर्फ आपूर्ति योग्य बनाया बल्कि  गत दिवस आई आंधी में क्षतिग्रस्त हुए विद्युत तार व पोलो की भी मरम्मत कराई। हैरत भरी बात यह रही कि इस पूरे घटनाक्रम के दौरान बिजली विभाग का कोई भी कारिंदा मौके पर नजर नहीं आया। बावजूद इसके गंवई युवाओं के उत्साह में कोई कमी नहीं आई और उन्होंने बेपरवाह होकर बिजली आपूर्ति सुचारु करने का कार्य सम्पन्न कराया। जिसकी सभी मुक्त कंठ से प्रशंसा कर रहे हैं। सरकारी मुलाजिमों के दायित्व की पूर्ति के उपरांत गांव के युवाओं ने लगे हाथ संपादित किए गए कार्य का लेखा जोखा एवं उसका  सरकारी भुगतान न करने संबंधी पत्र मुख्यमंत्री को भी प्रेषित किया। आलम यह है कि  इलाके की बिजली उपभोक्ताओं को अब निर्बाध विद्युत आपूर्ति हो रही है।

बता दें, कि सलेमपुर विद्युत उपकेंद्र में  चार फीडर लगे थे लेकिन बिजली विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों की लापरवाही के चलते एक ही फीडर से समूचे इलाके को विद्युत आपूर्ति की जा रही थी जबकि तीन फीडर चालु नहीं थे जिस वजह से इलाके के लोगों को विद्युत आपूर्ति के लिए आये दिन जूझना पड़ता था।
चार वर्षो से लोग प्रयासरत थे कि तीनों फीडर चालू हो जाय पर ऐसा हो नही सका था पर आंधी मे दो दिनो से बंद पड़ी बिजली को चालू कराने गये उपभोक्ताओं को जब यह पता चला कि एक क्षेत्र में बिजली खराब होने से पुरा उपकेन्द्र ही बंद हो जाता है। 

तब मौके पर जुटे युवा कालिका सिंह, पंकज सिंह व नमन प्रताप सिंह के नेतृत्व में तत्काल खम्भे गाड़ने वाली मशीन को बुलाया व दो अन्य ट्रैक्टर लगाकर शुक्रवार देर रात 11 बजे तक प्राईवेट लाईनमैनों की मदद से तीनों  फीचरों का चालू कराया। तब जाकर बिजली व्यवस्था सुचारू हुई। हैरानी की बात यह है कि इस दौरान उपकेन्द्र के जेई व एसडीओ नदारद रहे व लोगों ने आपस में धन एकत्र कर मशीनों व मजदूरों का भुगतान भी किया। नमन प्रताप सिंह ने जिलाधिकारी व मुख्यमंत्री योगी जी को शनिवार को पत्र भी भेजा कि किये हुये कार्यों का भुगतान उपभोक्ताओ द्वारा कर दिया गया है। इसका सरकारी मद से भुगतान न किया जाय। युवाओं द्वारा किये गये इस नेक कार्य की प्रशंसा चहंुओर हो रही है। सैकड़ों की संख्या में लगे युवाओं ने देर रात तक लगकर इन कार्यो को किया।

रिपार्ट- संजय पांडेय

Related Posts

Post Comments

Comments

Latest News

दुनिया को असमय अलविदा करने वाले शिक्षक के घर मदद लेकर पहुंचा राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ दुनिया को असमय अलविदा करने वाले शिक्षक के घर मदद लेकर पहुंचा राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ
बलिया : अपने व्यवहार से सभी के दिल में खास जगह बनाकर दुनिया को असमय अलविदा करने वाले शिक्षा क्षेत्र...
बलिया में भीषण सड़क हादसा : शादी समारोह से लौट रही सफारी पलटी, चार युवकों की दर्दनाक मौत
एक बार फिर बदल गया 8वीं तक के स्कूल संचालन का समय
25 अप्रैल 2024 : जानिएं क्या कहते है आपके सितारे, पढ़ें दैनिक राशिफल
बलिया में किसानों की जमीन पर बाढ़ विभाग की दखल, अन्नदाताओं ने JE के खिलाफ दी तहरीर
बलिया : बोलेरो की टक्कर से बाइक सवार शिक्षक की मौत, दो युवक घायल
बलिया : ड्यूटी पर तैनात सिपाही का बल्ब चुराते वीडियो वायरल !