योगी सरकार द्वारा सत्रह जातियों को अनुसूचित का दर्जा देना सपा की जीत

योगी सरकार द्वारा सत्रह जातियों को अनुसूचित का दर्जा देना सपा की जीत




चिलकहर(बलिया)। 17 जातियों को अनुसूचित जाति मे दर्जा देने के शासनादेस पर भाजपा जनो की वाहवाही लुटने पर इंदरपुर मे पुर्व मंत्री सनातन पान्डेय ने कहा पत्र प्रतिनिधियों से कहा कि  यह समाजवादीयों व सपा की जीत है। यह वर्ष 2007 में अपने सपा के  तात्कालीन मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने मसौदा व प्रस्ताव तैयार कराया था,  लेकिन सरकार बदल गयी पुनः सपा सरकार बनने पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इन 17 जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल करने का प्रस्ताव केन्द्र सरकार के पास भेजा, लेकिन राजनितिक विरोध के चलते भाजपा की केन्द्र सरकार ने प्रस्ताव को ठुकरा दिया था, लेकिन समाजवादियों की सोच व हर वर्ग के विकास के लिये बनायी गयी नीति को अंततः भाजपा को  मानना ही पड़ा।   सपा हर वर्ग को विकास की मुख्य धारा से जोड़कर चलने का कार्य करती है जिसका प्रतिफल है कि हम सत्ता से दुर है, लेकिन हमारी नीतियों  पर योगी सरकार अमल करने को मजबूर है। यही कारण है कि पूर्ववर्ती अखिलेश सरकार द्वारा 17 जातियों को अनूसुचित जाति का दर्जा देने के  फैसले को योगी सरकार द्वारा अमली जामा पहनाया गया।  इस अवसर पर भोला राम,ओमप्रकाश पान्डेय,यमुना यादव,सुवाष यादव समेत दर्जनो लोग उपस्थित रहे।

रिपोर्ट संजय पांडेय

Related Posts

Post Comments

Comments

Latest News