रसूखदार उड़ा रहे बाल श्रम कानून की धज्जियां

रसूखदार उड़ा रहे बाल श्रम कानून की धज्जियां



रसड़ा(बलिया) । रसड़ा तहसील क्षेत्रों में बालश्रम कानून की खूब धज्जियां उड़ाई जा रही है। हालांकि शासन द्वारा  कानून बनाकर बाल मजदूरी को रोकने के लिए तमाम प्रयास किए जा रहे है।  बावजूद इसके  नतीजा ढाक के तीन पात है। आलम यह है कि रसूखदार कायदे-कानून को ताक पर रखकर खुलेआम बाल मजदूरी को न सिर्फ बढ़ावा दे रहे हैं बल्कि शासन -प्रशासन का माखौल उड़ा रहे हैं। जिसका जीता- जागता उदाहरण रसड़ा तहसील  क्षेत्रों  के ईंट भट्टा, चाय- पान की दुकान एवं होटलों व मिठाई की दुकानों पर देखने को मिल रहा है। बाल शिक्षा कानून के बाद भी यहां नाबालिगाें के हाथों में कापी किताब की जगह होटलों में बर्तन साफ करते हुए तथा दुकानों पर दिखाई दे रहे हैं । 

जबकि शासन द्वारा तमाम तरह के कायदा - कानून बनाकर बाल मजदूरी कराने वालों के खिलाफ कड़े कार्रवाई करने की प्रावधान की गयी हैं तो वहीं तमाम सामाजिक संगठनों ने भी बाल मजदूरी रोकथाम के नाम पर अपनी-अपनी कथित दुकानें खोल रखी हैं। मगर गरीबी के कारण , चाय पान की दुकानों व होटलों सहित मनरेगा जैसी सरकारी कार्यदायी संस्थाओं में आजीविका की तलाश में इन नाबालिगाें को काम करते बखूबी देखा जा रहा है। इन नाबालिगाें पर पुलिस व अन्य अधिकारियों की नजर भी जाती है मगर वह भी देखकर अनजान बन जाते हैं।  

शासन द्वारा चौदह वर्ष तक के बच्चों को स्कूल भेजने का प्रावधान पारित के बाद भी इस बाबत कोई ठोस कदम जनपद में नहीं उठाया जा रहा है।  वास्तविकता तो यह है कि कभी-कभार बालश्रम विभाग के अधिकारी, कर्मचारी छोटी-मोटी दुकानों पर छापेमारी कर कार्यवाही की धौंस जमाकर अपनी जेब गरम कर कर्तव्यों को पालन भूल जाते हैं । जरुरत है ऐसे भ्रष्टाचार में लिप्त अधिकारियों को उनके कर्तव्य को बोध करा करा कर देश के भविष्य को संवारने की जरूरत है ।           

रिपोर्ट पिन्टू सिंह

Related Posts

Post Comments

Comments

Latest News

गरीबी और बदनसीबी से जूझ रहे परिवार के बीच 'राहत' लेकर पहुंचा बलिया का मदद संस्थान गरीबी और बदनसीबी से जूझ रहे परिवार के बीच 'राहत' लेकर पहुंचा बलिया का मदद संस्थान
बलिया : धर्मपुरा गांव निवासी ओमप्रकाश राजभर की असामयिक मौत 16 जून को हो गयी थी। महज 40 साल की...
क्या सच में केरल सरकार ने की है अपने 'विदेश सचिव' की नियुक्ति, मुख्य सचिव ने जारी किया यह बयान
बलिया में मासूम बालिका से दुष्कर्म, 28 साल के आरोपी युवक को मिली 25 साल की सजा
बलिया पुलिस के हत्थे चढ़ा युवक, संगीन अपराध में भेजा गया जेल
सावन में घर बैठे स्पीड पोस्ट से प्राप्त करें श्री सोमनाथ आदि ज्योतिर्लिंग मंदिर का प्रसाद
बलिया डीएम का आदेश, मुख्यालय न छोड़ें अधिकारी
डेढ़ सौ अध्यापकों के खिलाफ बलिया बीएसए की बड़ी कार्रवाई, इन हेडमास्टरों से भी जबाब-तलब