बलिया : तीन बच्चों के साथ सो रही मां को मार गई आंधी, मचा कोहराम

बलिया : तीन बच्चों के साथ सो रही मां को मार गई आंधी, मचा कोहराम


रसड़ा, बलिया। रसड़ा कोतवाली क्षेत्र के नागपुर गांव में शनिवार की रात तेज आंधी और पानी ने एक महिला की जान ले ली, जबकि तीन बच्चे गंभीर रूप से घायल हो गये। इस घटना से परिवार में कोहराम मच गया है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेेेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

शनिवार की देर रात आई तेज आंधी और पानी से नागपुर निवासी हृदय नारायण की कच्ची मकान की दीवार पूनम देवी (35) पत्नी हृदय नारायण, अमन कुमार (13) पुत्र हृदय नारायण, कुमारी पारुल (10) पुत्र हृदय नारायण व साक्षी (4) पुत्री हृदय नारायण पर गिर गई, जबकि टीनशेड ताश के पत्ते की तरह उड़ गए। दीवार से दबे सभी घायलों को ग्रामीणों ने सीएससी पर पहुंचाया।  पूनम देवी तथा पुत्र अमन की हालत गंभीर होने पर चिकित्सकों ने जिला चिकित्सालय रेफर कर दिया, जहां पूनम की मौत हो गई। पूनम की मौत की सूचना मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। सभी का रोते-रोते बुरा हाल था।

बताते चलते कि हृदय नारायण का परिवार गरीबी का दंश झेल रहा था। इस कोरोना महामारी की आफत में टीनशेड का छप्पर डालकर रहते थे, जिसे आंधी पानी ने तबाह कर दिया। मौके पर पहुंचे क्षेत्रीय नेता चंद्रभूषण और सुजीत बजरंगी में मदद करने में लगे हुए थे।


कुटीर उद्योग पर भी आंधी का कहर

रसड़ा कस्बा के महावीर अखाड़ा वार्ड नंबर 17 निवासी शिवजी सिंह, रामबाबू शर्मा का काम करने वाले गोदाम का भी करकट हवा में ही उड़ गया। यहां कुटीर उद्योग के अंतर्गत अपना बक्सा और ड्रम बनाने का कार्य करते थे। आज तेज आंधी ने उनकी पूरी करकट को आधी में उड़ा दिया। हजारों रुपये का लोहा का बनाया गया समान पूरी तरह नष्ट हो गया।  



शिवानंद बागले

Post Comments

Comments

Latest News

बलिया से घर लौट रहे थे विशाल, रास्ते से झपट ले गई मौत बलिया से घर लौट रहे थे विशाल, रास्ते से झपट ले गई मौत
बलिया : एनएच-31 पर स्थित दुबहर थाना क्षेत्र अंतर्गत सनाथ पांडेय के छपरा गांव के सामने मंगलवार की देर रात...
बलिया बीएसए ने ऐसे स्कूलों के खिलाफ छेड़ा अभियान, 6 विद्यालयों पर लगा ताला ; बढ़ी औरों की बेचैनी
बलिया का चर्चित हत्याकांड : रोहित पांडेय के घर पहुंचे कैबिनेट मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह, बोले...
बलिया : रोडवेज बस और बाइक में सीधी टक्कर, एक ही गांव के तीन युवकों की मौत, दो घायल
बलिया में 10 सरकारी अस्पतालों का औचक निरीक्षण, 18 डॉक्टर 84 स्टॉफ मिले गैरहाजिर; डीएम ने लिया बड़ा एक्शन
श्रावण मास विशेष : क्यों की जाती है शिवलिंग की पूजा ?
24 जुलाई 2024 : कैसा रहेगा अपना आज, पढ़ें दैनिक राशिफल