तो क्या पीएम की नकल कर रहे बलिया सीएमओ

तो क्या पीएम की नकल कर रहे बलिया सीएमओ


बलिया । अब इसे राजनीति का चस्का कहें या फिर अपने दायित्वों से परे हुए कुकृत्यों को छिपाने की कोशिश, लेकिन चाहे जो भी इतना तो है कि कल तक समाज में हेय दृष्टि से देखे जाने वाले सफाई कर्मियों के दिन अब बहुरने लगे है। यह अलग बात है कि आर्थिक बदहाली अभी भी उनका पीछा छोड़ने को तैयार नहीं, लेकिन सस्ती लोकप्रियता हासिल करने के उद्देश्य से राजनीतिज्ञ, नौकरशाह और कथित समाजसेवियों में सफाई कर्मियों के पांव पखारने की होड़ सी लगी है। बुधवार को इस कड़ी में बलिया सीएमओ का नाम भी जुड़ गया। मुख्य चिकित्साधिकारी के आवास परिसर नजारा कुछ ऐसा देखने को मिला की सब हक्के बक्के रह गये। सीएमओ बंगले की साफ-सफाई के लिए तैनात सफाई कर्मी रामचन्द्र राम खुद यह समझ नहीं पा रहा कि जो घटित हो रहा है वह हकीकत है या फिर दिवास्वप्न।


बहरहाल, तकरीबन एक माह से जिले के सवास्थ्य विभाग की कमान संभालने और महज एक सप्ताह  ड्यूटी करने वाले मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 उमापति द्विवेदी ने अपने आवास पसिर की साफ-सफाई करने वाले रामचनद्र राम को पहले तो बुलाया और फिर कुर्सी पर बिठाकर बकायदा उसके पांव पखारे। अब इसे सीएमओ द्वारा पीएम के क्रियाकलपों की नकल कहे या फिर उनकी रानैतिक महत्वाकांक्षा, जो भी हो लेकिन हद तो तब हो गयी जब सीएमओ साहब ने अपने इस कृत्य का बकायदा वीडियों बनवाया और उसे सोशल मीडिया पर वायरल कराया।


यहां काबिले गौर है कि सफाई कर्मी रामचन्द्र राम तकरीबन 25 वर्षो से स्वास्थ्य विभाग में सफाई कर्मी के पद पर तैनात है। बीते आठ माह से विभाग द्वारा उसके वेतन भत्ते का भुगतान नहीं किया जा रहा है। फिलहाल उसकी तैनाती मुख्य चिकित्साधिकारी आवास पर है। जहां सीएमओं ने बुधवार को उसका पांव पखारा। उसे समझ नहीं आ रहा था कि यह उसके अच्छे दिन की शुरूआत है या फिर उसे सियासी मोहरे के तौर पर प्रयोग किया जा रहा है।

यहां सवाल यह उठता है कि पिछले एक माह से जनपद में सीएमओ का चार्ज ग्रहण करने वाले उमापति द्विवेदी, ड्यूटी के नाम तकरीबन एक सप्ताह ही बलिया में विभाग को दे सके है। शेष दिनों वह अवकाश पर ही रहे। परिणाम स्वरूप महकमे के सभी राजकीय कामकाज ठप्प हो गये है। इतना ही नहीं विभागीय कर्मियों को अब तक जनवरी एवं फरवरी माह का वेतन भुगतान नहीं हुआ है। ऐसे में उनके सामने भूखमरी से हालात है और सीएमओ साहब है कि विभागीय कर्मियों पर ही राजनीति रोटी सेकने की जुगत में जुटे है। तभी तो सफाई कर्मी रामचन्द्र राम के बकाया वेतन भुगतान की बजाय उसके पांव पखारने का स्वांग करने और उसका वीडियो वायरल करने की फितरत पाले हुए है। विभागीय सूत्रों की मानें तो सीएमओ डॉ0 द्विवेदी 05 मार्च को बलिया में आये और 06 मार्च की रात को ही फिर निकलने की तैयारी में रहे। ऐसे में यह सहज ही अनुमान लगाया जा सकता है कि विभागीय कर्मियों के अच्छे दिन है या फिर ....।

यह बात उस सफाई कर्मी पर भी लागू होती दिख रही है, जिसके पांव पखारने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।


By-Ajit Ojha

Post Comments

Comments

Latest News

बलिया को मिली एक और ट्रेन, देखिएं छपरा-उधना-छपरा अनारक्षित विशेष ट्रेन की समय-सारिणी बलिया को मिली एक और ट्रेन, देखिएं छपरा-उधना-छपरा अनारक्षित विशेष ट्रेन की समय-सारिणी
वाराणसी : रेलवे प्रशासन द्वारा यात्री जनता की सुविधा हेतु 09103/09104 उधना-छपरा-उधना अनारक्षित ग्रीष्मकालीन विशेष गाड़ी का संचलन उधना से...
बलिया में रोजगार को लेकर बड़ा अवसर आया सामने, उम्र 18 से 50 वर्ष ; ऐसे करे आवेदन
बलिया में तीन दिवसीय चित्रकला प्रदर्शनी का शुभारंभ, काफी खुश है बच्चे
अभ्युदय कोचिंग बनाएगा होनहारों का भविष्य : बलिया में प्रवेश के लिए आवेदन शुरू, जानिएं किस-किस एग्जाम की मिलती है फ्री कोचिंग
बलिया में रेलकर्मी को दौड़ा-दौड़ा कर पीटने वाले दोनों जीआरपी सिपाहियों पर हुई बड़ी कार्रवाई
बलिया : ट्रेन से कटकर अधेड़ की मौत, शिनाख्त में करे जीआरपी की मदद
सहायक अध्यापिका बनते ही पति को ठुकराया, बीएसए ने किया सस्पेंड