महामिलावटी नहीं महापरिवर्तन का आधार है गठबंधन: अखिलेश

महामिलावटी नहीं महापरिवर्तन का आधार है गठबंधन: अखिलेश


बलिया । बलिया लोक सभा क्षेत्र से सपा बसपा गठबन्धन के प्रत्याशी सनातन पाण्डेय के समर्थन में अलावलपुर में आयोजित विशाल जनसभा को सम्बोधित करते हुए समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पीएम नरेन्द्र मोदी और सीएम योगी पर जमकर हमला किया। अपने सम्बोधन की शुरूआत में श्री यादव ने गठबन्धन प्रत्याशी सनातन पाण्डेय, नेता प्रतिपक्ष रामगोविन्द चौधरी, संग्राम सिंह यादव, काशीनाथ यादव, पूर्व चेयरमैन लक्ष्मण गुप्ता, पूर्व विधायक शिवुतुल्साह अंसारी, मंजू सिंह, तारकेश्वर मिश्र, पूर्व मंत्री रामूर्ति वर्मा समेत सपा के सभी वरिष्ठ नेताओं और जन सभा की अध्यक्षता कर रहे बसपा के जिलाध्यक्ष संतोष राम, मिठाई लाल भारती, पूर्व मंत्री अम्बिका चौधरी, विधायक उमाशंकर सिंह को विशाल जनसभा आयोजित करने के लिए धन्यवाद दिया। साथ ही महर्षि भृगु की तपोभूमि और क्रान्तिकारी धरती को नमन करते हुए देश की आजादी से पहले आजादी दिलाने वाले चित्तू पाण्डेय और महान क्रान्तिकारी मंगल पाण्डेय को प्रणाम किये। आगे श्री यादव ने कहा कि यह धरती इसलिए भी वन्दनीय है क्योंकि इस धरती ने देश को प्रथम सजावादी प्रधानमंत्री चन्द्रशेखर जी के रूप में दिया है।

 साथ ही साथ बागी धरती के प्रति मेरे मन मंे इस लिए और सम्मान है क्योंकि इसने जयप्रकाश नारायण जैसे समाजवादी विचारक को जन्म दिया। यूपी का आखिरी जिला है बलिया, यहां वोटिंग भी आखिरी चरण में है, चूंकि यह जागरूक जिला है, संघर्ष करने वाला है, इसीलिए यह बागी कहलाता है। यह बागी बलिया है यह हवा का रूख माप लेता है। कहा जैसे जैसे मौसम का पारा गरम हो रहा है, बलिया में गठबन्धन के कार्यकर्त्ताओं में जोश बढ़ रहा है, साइकिल और हाथी की रफ्तार बढ़ रही है। कहा कि हम आप आज तब मिल रहे है जब यहां से हमारे पीएम आकर चले गये है। पूछा क्या पीएम ने बलिया को कुछ दिया? फिर वराक्ष करते हुए कहा जिसका पांच साल बीत गया हो वह क्या देगा? कटाक्ष करते हुए कहा कि हमारे पीएम, देश के ऐसे पहले पीएम है जो वादा करते है और उसके खिलाफ काम करते है। बोले बोले-बताओं कितने लोगों के अच्छे दिन आये है? किसानों, नौजवानों  के अच्छे दिन आये क्या?

 कहा-हमारे पीएम ने पीएम बनने से पहले वादा किया था कि हम सरकार में आये तो किसानों की आय दुगनी करेंगे, आय दुगनी हुई क्या? खून पसीना एक करके जब किसान की फसल तैयार हुई तो उसका लागत मूल्य मिला क्या? मोदी जी ने नौजवानों से वादा किया था कि सरकार में आयेंगे तो प्रतिवर्ष 2 करोड़ नौकरियां देंगे, नौकरियां मिली क्या? कहा नोटबन्दी और जीएसटी से नौकरी और व्यापार दोनों को चौपट कर दिया। जब नौजवानों ने नौकरी मांगी तो पकौड़ा बेचने की सलाह दे दी। 2014 में चाय वाला बनके लोगों को गुमराह करके पीएम बन गये। अब फिर चौकीदार बनकर आये है। पांच साल में आप लोगों के दिमाग से चाय का नशा उतरा की नहीं? 2014 में हम लोग धोखा खा गये थे, अब नहीं खायेंगे। उसी समय समझ लेना चाहिए था कि चाय तभी अच्छी बनेगी जब उसमें दूध अच्छा होगा, जो अच्छा था ही नहीं, इसलिए 5 साल में चाय का स्वाद फीका हो गया। लोगों से सीधे जुगड़ते हुए श्री यादव ने कहा कि अगर चौकीदार... तो भीड़ ने कहा चोर है, तो अखिलेश ने कहा जब जान गये हो तो चौकीदार की चौकी छिनोगे कि नहीं? तो भीड़ ने कहा-छिनेंगे।

कहा कि हमारे पीएम ने नोटबन्दी और जीएसटी लागू करके नौकरियां छिन ली। नोटबन्दी करके जनता को धोखा दिया। यह जरूर हुआ कि बैंकों में जमा हमारे पैसों को उद्योगपति लेकर फरार हो गये। आंकड़ों के अनुसार 36000 उद्योगपति देश छोड़कर विदेश चले गये है। यूरिया से 5 किग्रा की चोरी करके किसानों को धोखा दिया। बलिया में उज्जवला योजना की शुरूआत करते हुए देश के सबसे पुराने सिलिन्डरों को बंटवा दिया। उज्जवला योजना के समय सिलिन्डर जो 350 में भरा जाता था, अब लगभग एक हजार में भरा जा रहा है।

कहा कि हम बलिया को पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के माध्यम से बलिया में खुशहाली लाना चाहते थे, खुशहाली से जोड़ना चाहते थे लेकिन उसको रोक दिया गया। कहा-आज का अमेरिका तब बना जब वहां पहले सड़के बनी, फिर सड़कों ने अमेरिका को बनाया। कहा कि जिन लोगों ने आप लोगों को खुशहाली से जोड़ने में रोड़ा अटकाया, जिन्होंने आपको पूर्वांचल एक्सप्रेसवे से नहीं जोड़ा, उनको छोड़ दीजिये। गठबन्धन दिल्ली में नया प्रधानमंत्री देने जा रहा है, हमारी सरकार बनते ही आपको पूर्वांचल एक्सप्रेसवे से जोड़ दिया जायेगा। जो लोग हमारे गठबन्धन को महा मिलावटी गठबन्धन कह रहे है, वे लोग समझ ले, यह महामिलावटी नहीं सामाजिक परिवर्तन का गठबन्धन है, देश में परिवर्तन लाने का गठबन्धन है। हमारी सरकार बनी तो यूपी की तर्ज पर फौज और पैरा मिलिट्री फोर्स में भी मेरिट और दौड़ के आधार पर नौकरी दी जायेगी।

एक जवान से डर गये पीएम

 आतंकवाद पर रोक और देश की सुरक्षा के लिए पीएम मोदी द्वारा जनता से वोट मांगने पर हमला बोलते हुए श्री यादव ने कहा कि जो पीएम एक बर्खाश्त जवान से चुनाव लड़ने से घबरा जाता हो, वह आतंकवादियों का कैसे मुकाबला करेंगे? इस जवान का कसूर क्या था? क्या इसने बुलेट ट्रेन मांगी थी या बुलेटप्रूफ जैकेट? अच्छा खाना मांगना भी गुनाह है क्या?

चौकीदार के साथ ठोकीदार को भी हटायें

 पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सीएम योगी पर भी जमकर हमला बोला। कहा कि सिर्फ चौकीदार को हटाने से काम नहीं चलेगा, हमारे यहां बाबा जी सीएम है, इनको भी हटाना है। बाबा का मूलमंत्र है ठोक दो। बाबा ने पुलिस को कहा ठोक दो, पर यह नहीं बताया कि किसको ठोकना है। इसलिए पुलिस ने जनता को ठोक दिया और जब जनता को मौका मिला तो जनता ने पुलिस को ठोक दिया। ऐसे ठोकीदार बाबा को भी हटाना है। बाबा की यह ठोकी नीति को भाजपा के सांसदों और विधायकों ने अपना लिया है। संत कबीर नगर के सांसद जी ने विधायक जी को 21 जूते ठोक कर सम्मानित किया।

संविधान नहीं होता तो ‘बाबा’ घंटा बजाते

 सीएम योगी के उस बयान का जिसमें उन्होंने कहा था कि अगर संविधान नहीं होता तो अखिलेश यादव भैस चरा रहे होते? के जबाब में कहा कि हमें यह अधिकार डॉ0 भीमराव अम्बेडकर जी ने संविधान बनाकर दिया है जिसमें देश के प्रत्येक नागरिक का समान अधिकार है। बाबा की सोच के संबंध में इसी से अन्दाजा लगाया जा सकता है। बाबा से मिलने जब दलित गये तो पहले उनको साबुन शेम्पू से नहलाया गया, फिर बाबा से मुलाकात हुई। कहा बाबा जी सोचिये संविधान नहीं होता तो हम लोग दूध, दही, घी बेचकर काम चला लेते लेकिन आपका क्या होता? आप किसी मठ में घंटा बजा रहे होते?

बाबा को ढूढ़ रहे हैं सांड़

लखनऊ में जब सांड़़ांे को पकड़ने का अभियान चलाने का आदेश मा0 उच्च न्यायालय के आदेश पर चलने वाला है, इसकी भनक जब साड़़ांे को हुई तो साड़़ांे ने बाबा को ढूढ़ना शुरू कर दिया। एक सांड़़ बाबा से शिकायत करने हरदोई हेलीपैड़ पर पहुँच गया, वह सांड़ मुख्यमंत्री बाबा से शिकायत करने गया था, लेकिन पुलिस वाले शिकायत करने से रोक दिये। दूसरा सांड़ तो गुस्से में कन्नौज पहुँच गया। हेलीपैड पर लगे सुरक्षा कर्मियों ने जब रोकने की कोशिश की तो सिंह से पटक दिया। अब तो बाबा को प्रदेश के सांड़ ढूढ़ रहे है। अधिकारियों से अखिलेश यादव ने कहा कि 19 से पहले सांड़ों को हटा लीजिये वर्ना 19 को जनता सरकार को ही हटा देगी।

‘नीरज’ को दिया आश्वासन, मान सम्मान नहीं घटने दूँगा


पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने मंच से नीरज शेखर की अनुपस्थिति पर टिप्पणी करते हुए कहा कि नीरज जी को निराश होने की जरूरत नहीं है। मेरे रहते उनके मान सम्मान में कोई कमी नहीं होगी। मैने ही जब बलिया के लोगों ने साथ छोड़ दिया, राज्य सभा भेजकर सम्मान बढ़ाया। आगे भी सम्मान बढ़ाया जायेगा। नेता जी ने चन्द्रशेखर जी को जितना सम्मान दिया उतना किसी ने नहीं दिया? नीरज जी को भी वहीं सम्मान दिया गया। चन्द्रशेखर जी के सम्मान में मैने जननायक चन्द्रशेखर विश्वविद्यालय बनवाया, वीसी नियुक्त किया, फंड दिया। लेकिन हमारी सरकार के जाते ही बाबा ने विश्वविद्यालय का विकास रोक दिया। हमारी सरकार दिल्ली में बनेगी तो विश्वविद्यालय को आधुनिक शिक्षा से जोड़ा जायेगा। यहां के नौजवानों को रोजगार परक शिक्षा दिलाने का काम किया जायेगा। गंगापुल पर चर्चा करते हुए श्री यादव ने कहा कि जितना पैसा हमने दिया था, निर्माण कराया था, उसके आगे सरकार ने काम नहीं कराया।


By-Ajit Ojha

Post Comments

Comments

Latest News

महाशिवरात्रि विशेष : शिव पूजन की कुछ रहस्यमयी बातें महाशिवरात्रि विशेष : शिव पूजन की कुछ रहस्यमयी बातें
Mahashivratri 2024 : भारतवर्ष में देवाधिदेव आशुतोष भगवान शिव की पूजा सबसे अधिक की जाती है। वैसे तो भगवान शिव...
4 मार्च का राशिफल : जानिएं क्या कहते है आपके सितारें
बलिया पहुंचे मंत्री एके शर्मा ने किया कई विकास कार्यो का लोकार्पण और शिलान्यास, बोले- ताजा हो गई बचपन की यादें
बलिया के लाल को मिला श्याम सुन्दर दास पुरस्कार, मुस्कुराया साहित्य जगत 
बलिया : बोर्ड परीक्षा में ड्यूटी से कतरा रहे शिक्षकों के लिए बुरी खबर, बीएसए ने जारी किया यह निर्देश
बलिया में चोरी की बाइक पर फर्राटा भर रहा था युवक, पड़ी पुलिस की नजर
बलिया में दबंगई का शिकार हुआ युवक, मौत की सूचना मिलते ही हरकत में आई पुलिस