मासूम बच्चे को घर में सोता छोड़ फंदे पर झूल गये पति-पत्नी, उससे पहले किया यह काम

मासूम बच्चे को घर में सोता छोड़ फंदे पर झूल गये पति-पत्नी, उससे पहले किया यह काम


लखनऊ। अपने नौ माह के बच्चे को घर में सोता छोड़ कर पति-पत्नी ने फांसी लगाकर जान दे दी। मरने से पहले उसने अपनी बहन को मैसेज किया कि ‘बाबू घर में अकेला है, जल्दी आ जाना।’ मैसेज मिलने पर बहन ने अपनी सहेली को उसके घर भेजा, जहां दोनों को फंदे से लटकता देख वह सन्न रह गई। उसने तत्काल इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने दोनों के शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

गाजियाबाद के इंदिरापुरम के ज्ञानखंड एक के प्लाट नंबर 328 में निखिल अपनी पत्नी पल्लवी व नौ माह के बेटे के साथ रहते थे। वे नोएडा की एक निजी कंपनी में काम करते थे। शुक्रवार को निखिल ने पत्नी के मोबाइल से बहन अंजलि को मैसेज किया कि बाबू घर में अकेला है, छह बजे तक पहुंच जाये। 

मैसेज प्राप्त होने के बाद अंजलि को कुछ समझ नहीं आया। उसने इलाके में रहने वाली अपनी सहेली को उसके घर भेजा। घर में पहुंचते ही अंजलि की सहेली अंदर का नजारा देख दंग रह गई। जहां घर में नौ माह के बच्चे को सोता छोड़कर पति-पत्नी ने अलग-अलग कमरे में फांसी लगा ली थी। पुलिस के मुताबिक घर से अभी तक कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। 


Post Comments

Comments

Latest News

बलिया में हार्टफुलनेश संस्था ने योग जागरूकता ध्यान शिविर में दिया 'करे योग रहे निरोग' का मंत्र बलिया में हार्टफुलनेश संस्था ने योग जागरूकता ध्यान शिविर में दिया 'करे योग रहे निरोग' का मंत्र
बलिया : अंतरराष्ट्रीय योग दिवस आयोजन पखवारे के क्रम में जन जन तक योग पहुंचाने के प्रयास के क्रम में...
बलिया : Road Accident में पत्नी और बेटे के साथ स्कूटी सवार बैंककर्मी घायल
TSCT की बलिया टीम ने किया स्थलीय निरीक्षण, 15 जून से होगा इस दिवंगत शिक्षक के परिवार का सहयोग
उत्तर प्रदेश में बढ़ गईं गर्मी की छुट्टियां, अब इस तारीख खुलेंगे स्कूल
समाज कल्याण अधिकारी की बर्खास्तगी तय, पेंशन घोटाले के 65 लाख रुपये रिकवरी का आदेश
बलिया : सड़क हादसों में लगातार हो रही मौतों से आहत लोगों ने उठाई यह मांग
बलिया : रसोईया और सहायक अध्यापक के परिजनों का आंसू पोछ शिक्षकों ने आपदा राहत कोष से सौंपा सहयोग राशि