मामला बछड़ों की मौत का : जांच में फंसने लगी कई जिम्मेदारों की गर्दन

मामला बछड़ों की मौत का : जांच में फंसने लगी कई जिम्मेदारों की गर्दन



मनियर/बलिया। नगर पंचायत द्वारा गौराबगही स्थित मठिया में संचालित कान्हा पशु आश्रय गौशाला में आए दिन बछड़ों की लगातार होती मौतों का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। बछड़ो की मौत की चल रही जाँच में अधिकारी के मुताबिक कई लोग की गर्दन फंसने की सम्भावना है। 

गौरतलब हो कि विगत 18 जून को तीन, 27 जून को एक बछड़े के मरने का मामला अभी थमा नहीं था कि  2 जुलाई मंगलवार को पुन: एक और बछड़े की मौत होने के बाद नगर पंचायत के कर्मचारियों द्वारा गाडी पर लादकर नदी के किनारे ले जाया जा रहा था कि विशुनपुरा गांव के पास नगर पंचायत के सभासदों व ग्रामीण ने यह आरोप लगाते हुए घेर लिया कि नगर पंचायत द्वारा बिना पीएम कराये व बीना उच्च अधिकारियों के संज्ञान में दिये। साक्ष्य छुपाने के लिए लिए नदी में जल प्रवाह को ले जाया जा रहा है। उग्र भीड़ ने गाड़ी को रोक कर बस स्टैंड पर सक्षम अधिकारी के अाने व सही पीएम रिपोर्ट देने तक धरने पर बैठ गये। यह बात जब उच्च अधिकारियों के संज्ञान में अाया तो नामीत जाँच अधिकारी डॉ एसके बैद्य को मौके पर भेजा। मौके पर पहुंचे डॉक्टर एसके बैध सही जाँच कर रिपोर्ट शासन को अवगत कराने के अश्वासन पर धरना समाप्त हुआ था। धरना के बाद गौशाला में पहुंचे जाँच अधिकारी डॉ एसके वैध ने नगर पंचायत के कर्मचारियों से स्टाक रजिस्टर व लेखा पंजीका का गहन अवलोकन किया, जिसमें अवारा पशु के रख रखाव व खान-पान के बने लेखा पंजिका व स्टाक रजिस्टर में कई जगह कटींग करने पर संबंधित कर्मचारियों को जम कर फटकार लगाई । जाँच अधिकारी व पाँच सदस्यीय जाँच टीम के प्रमुख डिप्टी सीवीओ डॉ वैद्य ने अपने जाँच के दौरान ये स्वीकार किया कि मामले में संबंधितों के द्वारा काफी गडबड़ी हुई है। जाँच टीम ने मामले से जुड़े सभी कागजातों व आँकड़ों को न केवल जमकर खंगाला बल्कि सारे कागजातों व रजिस्टरों की फोटो कापियाँ करा कर साथ भी ले गये । 

सूत्रों की मानें तो जाँच के दौरान नगर पंचायत के एक बाबू द्वारा नगर पंचायत के जिम्मेदार के करीबी को पैसे भुगतान करा देने की शिकायत सम्बन्धित अधिकारी के सामने की अधिकारी ने बाबू रिपोर्ट भी रजिस्टर में नोट किया । वहीं बछड़ों के चारे-पानी की व्यवस्थाओं का सच जानने के दौरान दो कुन्टल भूसे के साथ पचास किलो चोकर व पैंतीस किलो नमक की खरीदारी की जानकारी मिलने पर और भड़क गए तथा मौके पर मौजूद जिम्मेदारों से सवाल किया कि क्या चोकर नमक चटाया गया है? इस सम्बन्ध में पूछे जाने पर पर डाक्टर एस के बैद्य ने बताया कि रेकॉर्ड में छेड़-छाड़ के साथ काफी त्रुटियां भी हैं। जांच करने के बाद रिपोर्ट उच्च स्तरीय जांच के लिए शासन को भेजा जायेगा ।

रिपोर्ट राम मिलन तिवारी

Related Posts

Post Comments

Comments

Latest News

थिएटर्स में धमाल मचा रही 'तेरी बातों में ऐसा उलझा जिया', कमाई 100 करोड़ पार  थिएटर्स में धमाल मचा रही 'तेरी बातों में ऐसा उलझा जिया', कमाई 100 करोड़ पार 
एंटरटेनमेंट डेस्क : 9 फरवरी को रिलीज हुई शाहिद कपूर और कृति सेनन की फिल्म 'तेरी बातों में ऐसा उलझा...
सब इंस्पेक्टर के खिलाफ एसपी का बड़ा एक्शन
Ballia Road Accident : तिलक समारोह से लौट रही जीप में पिकअप ने मारी टक्कर, अब तक 6 की मौत, चार रेफर
बलिया : पॉक्सो एक्ट में दोषी अभियुक्त को जुर्माना संग 10 वर्ष सश्रम कारावास की सजा
शिक्षिका से छेड़छानी, सहायक अध्यापक सस्पेंड 
27 फरवरी का राशिफल : इन राशि वालों की आय मे हो सकती है वृद्धि
बलिया लोकसभा चुनाव संचालन समिति की कामकाजी बैठक में इन विन्दुओं पर चर्चा