बोले सांसद, संवादहीनता के कारण पिछड़ेपन का शिकार हुआ बलिया

बोले सांसद, संवादहीनता के कारण पिछड़ेपन का शिकार हुआ बलिया


-नागरिक अभिनंदन में विधायक ने मांगी सड़कों की सौगात 

मुरलीछपरा, बलिया। भाजपा के कार्यकर्ता स्वयं को सांसद व विधायक मानकर लोगों की समस्याओं के समाधान का समाधान करते हुए क्षेत्र व देश के विकास का भागीदार बनें। हम लोगों का सहयोग व समर्थन आपके सभी सही निर्णयों पर रहेगा। उक्त उद्गार भाजपा के नवनिर्वाचित सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त के हैं। वह रविवार को श्रीपालपुर स्थित खपड़िया बाबा के आश्रम परिसर में आयोजित नागरिक अभिनंदन व कार्यकर्ता संवाद समारोह को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि जिस विचारधारा के संवाहक नरेंद्र भाई मोदी हैं, उसी विचारधारा के देश भर में ज्यादातर लोग हैं, यही वजह है कि हमारी पार्टी को भारी बहुमत मिला। इस विचारधारा के लोगों के लिऐ देश ही परिवार हैं। जबकि इसके विपरीत कुछ लोग अपने परिवार को ही पूरा देश मानते हैं। कहा कि संवाद की कमी के कारण विकास कार्य पिछड़ा हुआ है। विकास की मुख्य कड़ी शासन, प्रशासन व समाज होता है, तीनों को बैठकर संवाद के साथ ही विकास कार्य की रूपरेखा तैयार किया जाना चाहिए। उससे विकास कार्य में गति आएगी।
सांसद ने कहा कि चुनाव में विधायक सुरेंद्र सिंह ने एक बहादुर यो(ा की तरह लड़ा है। वहीं अन्य सहयोगियों ने भी पूरे क्षमता के साथ चुनाव में सहयोग किया है, जिसके कारण बलिया संसदीय क्षेत्र में 1977 से आज तक के सबी आंकड़े हम लोग पार कर चुके हैं। अपने संसदीय क्षेत्र गंगा उस पार स्थित नौरंगा, ब्यासी व जवहीं के विकास के लिए अलग से योजना बनायी जाएगी, जिससे वहां का सर्वांगीण विकास हो सके। इसके अलावा उन्होंने कहा कि सांसद निधि से विधान सभा क्षेत्र में जहां भी जरूरत हो विकास कार्य क्षेत्रीय विधायक के संस्तुति पर उन्हीं की देखरेख में संपन्न होगा। वीरेंद्र सिंह मस्त ने कहा कि जिलाधिकारी को निर्देशित किया गया है कि तहसील में चौपाल लगाकर किसान सम्मान योजना व केंद्र सरकार के निग्त योजनाओं के तहत 60 वर्ष से ऊपर पेंशन के पात्र लोगों का चयन कर उन्हें इसका लाभ दिलाया जाये।

इससे पूर्व विधायक सुरेंद्र सिंह ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि बलिया, मेदनीपुर व सतारा को विशेष पैकेज से विकसित करना चाहिए था। कारण कि सबसे पहले ये जिले अपने हजारों सपूतों को गंवा कर अंग्रेजों के चंगुल से आजाद हुए थे,लेकिन आज तक चाहे जिसकी भी सरकार रही उसने बलिया की उपेक्षा ही की। जिसके वजह से यहां के लोगों को विकास के मामले में पिछड़ना पड़ा। उन्होंने सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त को अपना बड़ा भाई बताते हुए कहा कि इनकी छत्रछाया मेरे लिए सुखद है। मैं द्वाबा क्षेत्र के विकास के लिए हरसंभव प्रयास करूंगा किंतु सांसद जी को हमें 25 बड़ी सड़कों की सौगात देनी पड़ेगी। उन्होंने कहा कि सबकी साथ-सबका विकास को यहां पूरी तरह से चरितार्थ किया जाएगा। इससे पूर्व सांसद व विधायक द्वारा पं. दीनदयाल उपाध्याय व श्यामा प्रसाद मुखर्जी के चित्र पर पुष्प व दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। इस अवसर पर वीरेंद्र शर्मा, गुप्तेश्वर पाठक, कामेश्वर तिवारी, जयप्रकाश साहू, रमाकांत पांडेय, विजय बहादुर सिंह, वीरेंद्र यादव, राजमंगल ठाकुर सहित दर्जनों लोगों ने सभा को संबोधित किया। अध्यक्षता बैरिया मंडल अध्यक्ष विजय बहादुर सिंह व संचालन प्रेमप्रकाश मिश्र ने किया।

रिपोर्ट- विद्याभूषण चौबे

Related Posts

Post Comments

Comments

Latest News

दुनिया को असमय अलविदा करने वाले शिक्षक के घर मदद लेकर पहुंचा राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ दुनिया को असमय अलविदा करने वाले शिक्षक के घर मदद लेकर पहुंचा राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ
बलिया : अपने व्यवहार से सभी के दिल में खास जगह बनाकर दुनिया को असमय अलविदा करने वाले शिक्षा क्षेत्र...
बलिया में भीषण सड़क हादसा : शादी समारोह से लौट रही सफारी पलटी, चार युवकों की दर्दनाक मौत
एक बार फिर बदल गया 8वीं तक के स्कूल संचालन का समय
25 अप्रैल 2024 : जानिएं क्या कहते है आपके सितारे, पढ़ें दैनिक राशिफल
बलिया में किसानों की जमीन पर बाढ़ विभाग की दखल, अन्नदाताओं ने JE के खिलाफ दी तहरीर
बलिया : बोलेरो की टक्कर से बाइक सवार शिक्षक की मौत, दो युवक घायल
बलिया : ड्यूटी पर तैनात सिपाही का बल्ब चुराते वीडियो वायरल !