बलिया : मुट्ठी भर ठेकेदारों ने किसानों को दिया करोड़ों झटका, ऐसे खुला राज

बलिया : मुट्ठी भर ठेकेदारों ने किसानों को दिया करोड़ों झटका, ऐसे खुला राज


बैरिया, बलिया। मछली के ठेकेदारों द्वारा संसार टोला तटबंध से लगभग तीन किलोमीटर पूरब बिहार के हिस्से वाली जमीन में बांस के फट्टी व खपाची से बने जाल (बरियार) लगा दिए जाने से पानी का बहाव रुक जाने के कारण उत्तर प्रदेश के इलाके में लगभग डेढ़ हजार एकड़ उपजाऊ खेत अभी भी सीपेज, बरसात व बाढ़ के पानी से जलमग्न है। फलस्वरूप खरीफ की फसल पूरी तरह से नष्ट हो चुकी है। वही सब्जी की खेती जलजमाव के कारण नहीं हो पा रही है। मिर्च और मटर की खेती करने वाले किसान मायूस हैं। यह सोच सोच कर हजारों किसान परेशान है कि पानी नहीं निकलेगा तो रवि की कैसे हुआ ही हो पाएगी। वहीं कृषि मजदूरी पर आधारित जीवन यापन करने वालों के समक्ष भुखमरी की स्थिति है।
उल्लेखनीय है की इब्राहिमाबाद, नवका टोला, टोलानेकाराय, लक्ष्मण छपरा, शोभा छपरा, धतुरी टोला सहित डेढ़ दर्जन गांव के खेती योग्य बड़ा भूभाग अभी भी जलमग्न है। इब्राहिमाबाद के किसान कुछ ज्यादा ही परेशान हैं, क्योंकि इस गांव के बड़े कृषि योग्य भाग पर हरी मिर्च, टमाटर व मटर की खेती होती है। किंतु इस बार जलजमाव के कारण सब्जियों की खेती नहीं हो पा रही। इस संदर्भ में इब्राहिमाबाद के प्रधान प्रतिनिधि अखिलेश सिंह सहित दर्जनों किसान एसडीएम, डीएम, विधायक, सांसद सबसे इस समस्या के समाधान के लिए गुहार लगा चुके हैं। बावजूद इसके जल निकासी की कोई व्यवस्था नहीं हो पा रही है। मंगलवार को जलजमाव की स्थिति देखने के लिए प्रधान प्रतिनिधि अखिलेश सिंह, अरविंद सिंह, अजय सिंह,नितेश सिंह, मनोज सिंह, मुन्ना सिंह, हरेंद्र सिंह, मोहन साह सहित दर्जनों किसान पानी के बहाव का अवरोध ढूंढते ढूंढते संसार टोला रेगुलेटर से तीन किलोमीटर पूरब बिहार के उस स्थान पर पहुंच गए, जहां पानी को बरियार से घेरकर गंगा में जाने से रोक दिया गया है। उक्त लोगों ने मछली के ठेकेदारों से आग्रह भी किया। कम से कम दो दिनों के लिए बरियार हटा दें। पानी हम लोगों के खेतों से निकल जाए, किंतु मछली के ठेकेदारों ने यह कह कर बरियार हटाने से मना कर दिया बरियार हटेगा तो मछलियां पानी के साथ गंगा में चली जाएंगी। यह कैसी विडंबना है मछली के मुट्ठी भर ठेकेदार अपने फायदे के लिए क्षेत्र के किसानों को करोड़ों का नुकसान पहुंचा रहे हैं। पूरा क्षेत्र जलजमाव से त्रस्त है। बावजूद इसके प्रशासन चुप्पी साधे हुए हैं। लोगों का कहना है की मछली का एक ठेकेदार रसूखदार व्यक्ति है। इसके चलते कोई कुछ नहीं कर पा रहा है। इब्राहिमाबाद के किसानों ने इस संदर्भ में जिलाधिकारी से से जरूरी कार्यवाही करने की गुहार लगाई जाएगी है, ताकि जलजमाव से डूबे उनके हजारों एकड़ खेत से पानी बाहर निकल कर चला जाय।

शिवदयाल पांडेय 'मनन'

Post Comments

Comments

Latest News

आचार संहिता के उल्लंघन में फंसे मतदान अधिकारी बने सहायक अध्यापक, बीएसए ने किया सस्पेंड आचार संहिता के उल्लंघन में फंसे मतदान अधिकारी बने सहायक अध्यापक, बीएसए ने किया सस्पेंड
देवरिया : भाटपाररानी विकास खंड के भरहा कलावत के सहायक अध्यापक संतोष कुमार कुशवाहा को सोशल मीडिया पर एक पार्टी...
बलिया में गृह मंत्री अमित शाह ने भरी हुंकार, बोले...
माफी मांगकर जा रहे ट्रैक्टर चालक को पीट-पीट कर मार डाला
बलिया : अपहरण कर नाबालिग लड़की से दुष्कर्म, युवक गिरफ्तार
बलिया : गलत काम में दो युवक गिरफ्तार
बृजभूषण सिंह के सांसद प्रत्याशी बेटे करण भूषण के काफिले की कार ने 4 को रौंदा, 2 युवकों की मौत
परिवार का मुखिया बना जल्लाद : कुल्हाड़ी से काटकर 8 लोगों की हत्या, मचा हड़कम्प