बलिया में पारिश्रमिक के लिए भटक रहे डाटा इंट्री आपरेटर, जिम्मेदार कौन ?

बलिया में पारिश्रमिक के लिए भटक रहे डाटा इंट्री आपरेटर, जिम्मेदार कौन ?

बलिया। जनपद व ब्लाक स्तर पर तैनात डाटा इंट्री आपरेटरों की सुधि लेने वाला कोई नहीं है। वर्ष 2021 में इन्हें मानदेय मिला ही नहीं। इस वजह से इन आपरेटरों के सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया है। इन्हें इनका पारिश्रमिक मिलेगा तो कब, यह बताने वाला कोई नहीं है। 

बताया जा रहा है कि यू-डायस+, कायाकल्प सम्बंधित प्रपत्रों की डाटा इंट्री, आधार प्रमाणीकरण, मानव सम्पदा पोर्टल पर डाटा इंट्री आदि कार्य की अधिकता एवं समयबद्घता को दृष्टिगत रखते हुए शासन के निर्देश पर जनपद व ब्लाक संसाधन केन्द्र (BRC) स्तर पर तैनात किया गया है। जॉब वर्क के आधार पर इन्हें प्रतिदिन अधिकतम 430 रुपये का पारिश्रमिक देय है, लेकिन महीनों से काम कर रहे ये डाटा इंट्री आपरेटर पारिश्रमिक के लिए भटक रहे है। बताया तो यह भी जा रहा है कि दीवाली में भी इन्हें मानदेय नहीं मिल सका था, जबकि मुख्यमंत्री का स्पष्ट आदेश था कि सभी कार्मिकों का वेतन/मानदेय/पारिश्रमिक दीवाली से पहले उनके खाते में पहुंच जाय। बावजूद इसके जिले के डाटा आपरेटर पारिश्रमिक पाने से वंचित रह गये थे। 

यह भी पढ़े पूर्व मंत्री नारद राय के बयान पर सपा विधायक रिजवी का करारा पलटवार, बोले...

Post Comments

Comments

Latest News

आचार संहिता के उल्लंघन में फंसे मतदान अधिकारी बने सहायक अध्यापक, बीएसए ने किया सस्पेंड आचार संहिता के उल्लंघन में फंसे मतदान अधिकारी बने सहायक अध्यापक, बीएसए ने किया सस्पेंड
देवरिया : भाटपाररानी विकास खंड के भरहा कलावत के सहायक अध्यापक संतोष कुमार कुशवाहा को सोशल मीडिया पर एक पार्टी...
बलिया में गृह मंत्री अमित शाह ने भरी हुंकार, बोले...
माफी मांगकर जा रहे ट्रैक्टर चालक को पीट-पीट कर मार डाला
बलिया : अपहरण कर नाबालिग लड़की से दुष्कर्म, युवक गिरफ्तार
बलिया : गलत काम में दो युवक गिरफ्तार
बृजभूषण सिंह के सांसद प्रत्याशी बेटे करण भूषण के काफिले की कार ने 4 को रौंदा, 2 युवकों की मौत
परिवार का मुखिया बना जल्लाद : कुल्हाड़ी से काटकर 8 लोगों की हत्या, मचा हड़कम्प