अब ‘एप्प’ करेगा आपके बच्चें के स्वास्थ्य की देखभाल

अब ‘एप्प’ करेगा आपके बच्चें के स्वास्थ्य की देखभाल


बलिया। सरकारी स्कूलों और आंगनबाड़ी केंद्रों में जाने वाले बच्चों की सेहत के लिए एक अच्छी खबर है। अब इन बच्चों की सेहत का ख्याल रखने के लिए पूरे उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम का नया एप्प लागू किया जाएगा। यह एप्प एक-एक बच्चे की सेहत की मानीटरिंग में काम आएगा। इस एप्प का प्रशिक्षण जल्द ही दिया जायेगा।

अपर मुख्य चिकित्साधिकारी व नोडल आरबीएसके डा॰ हरिनन्दन प्रसाद ने बताया कि बलिया जिले में नये एप्प को लागू कराया जा रहा है। इसका उद्देश्य आरबीएसके योजना में परर्फामेंस सुधारना है। इस एप्प में मोबाइल टीम अपने द्वारा चिह्नित उन बाल मरीजों का लगातार फालो अप कर सकेंगी जिनकों उन्होंने फील्ड से इलाज के लिए रेफर किया था। कोई भी बच्चा इलाज से वंचित नहीं रह पाएगा। उन्होंने बताया कि इस एप्प के कारण न केवल आरबीएसके टीम को माइक्रोप्लान का शत प्रतिशत पालन करना होगा, बल्कि शिक्षा विभाग और जिला कार्यक्रम विभाग को दो दिन पहले टीम पहुंचने की सूचना मिल जाएगी जिससे वे लोग भी शत प्रतिशत बच्चों की उपलब्धता सुनिश्चित कराने में सक्षम होंगे।
उन्हांेने बताया कि नये एप्प में 38 प्रकार के रोगों का डिटेल है। जिले के 17 ब्लाकों में प्रति ब्लाक कार्यरत दो मोबाइल टीम जब स्कूलों पर बच्चों के सेहत की जांच करेगी तो बच्चों में कौन सी गंभीर बीमारी है, इसका विवरण एप्प में दर्ज हो जाएगा। जिन बच्चों को रेफर किया गया, उनमें से कितने अस्पताल नहीं पहुंचे यह भी देखा जा सकेगा। इससे फायदा यह होगा कि कोई भी बच्चा छूटने नहीं पाएगा और सभी का फालोअप होगा। एप्प में वे सभी सुधार किए गए हैं जिनसे आरबीएसके के लोग अच्छी परर्फामेंस दे सकें।

आरबीएसके के नये एप्प की खासियत

बलिया। मोबाइल में नेटवर्क न रहने पर भी आरबीएसके के डाक्टर और पैरामेडिकल अपनी उपस्थिती व आंकड़े आफलाइन दर्ज कर सकेंगे। जैसे ही टीम नेटवर्क एरिया में आएगी, सभी आंकड़ें प्रेषित हो जाएंगे।
ऽडीएम, सीएमओ, नोडल अधिकारी, बीएसए, डीपीओ, सीएचसी अधीक्षक, प्रभारी चिकित्साधिकारी, एबीएसए, सीडीपीओ डीईआईसी मैनेजर और स्टेट के लोग भी कभी भी एप्प से बच्चों के इलाज के लिए गई टीम का डिटेल जान सकेंगे। आरबीएसके टीम को फीड किए गए डेटा के प्रिव्यू व पोस्ट व्यू की सुविधा मिलेगी। फाइनल अपडेशन से पहले अगर कोई गलती हो गई है तो उसे सुधारा भी जा सकेगा। एप्प में यह भी आप्शन दिया गया है कि अगर मोबाइल टीम की गाड़ी किसी कारणवश नहीं पहुंच पाती है तो नोआप्शन पर क्लिक करेंगे ताकि वैकल्पिक इंतजाम हो सके।

By-Ajit Ojha

Related Posts

Post Comments

Comments

Latest News

बलिया में गंगा दशहरा पर भक्तों ने लगाई आस्था की डुबकी, चहुंओर गूंजा हर-हर गंगे बलिया में गंगा दशहरा पर भक्तों ने लगाई आस्था की डुबकी, चहुंओर गूंजा हर-हर गंगे
रामगढ, बलिया : ज्येष्ठ माह की शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को गंगा दशहरा के अवसर पर गंगा तट पर...
जी हां ! फिल्मों को छोड़ कहीं नहीं देखें होंगे ऐसी शादी
बलिया : आज इन इलाकों में दो घंटे बाधित रहेगी बिजली, देखें लिस्ट
16 जून 2024 : कैसा रहेगा अपना आज, पढ़ें दैनिक राशिफल
बलिया के इस गांव में कुछ यूं दिखी दबंगई
अंत: जनपदीय पारस्परिक स्थानांतरण वाले शिक्षक जल्द होंगे कार्यमुक्त, देखें बलिया BSA द्वारा जारी कार्यक्रम
रुद्रप्रयाग में बड़ा हादसा : अलकनंदा में गिरी ट्रेवलर, 13 की मौत ; कई घायल