शिक्षक ने 'मां' को समर्पित की शब्दों की यह माला

शिक्षक ने 'मां' को समर्पित की शब्दों की यह माला


मां
तुम मेरी आदर्श हो,
नित्य निरंतर हर्ष हो।
तुम मेरा उपहार हो,
निश्चल प्रेम प्रकार हो।

क्रोध-शांति का अद्भूत समन्वय हो,
ममता में सागर से विशाल हो।
जीवन पथ में रोशनी देती हो,
स्वंय को जलाने वाली मशाल हो।

तुम न तो ईश्वर का अवतार हो,
न मनुष्योपरी कोई चमत्कार हो।
फिर कैसे मां तुम मानव होकर भी,
समस्त मानव जाति से महान हो।

सुनील यादव
सहायक अध्यापक
प्रावि रूद्रपुर, बेलहरी-बलिया

Post Comments

Comments

Latest News

डिजिटल अरेस्ट कर इंजीनियर से 11 लाख की ठगी, पत्नी को बनाया बंधक ; 24 घंटे तक नहीं करने दी किसी से बात डिजिटल अरेस्ट कर इंजीनियर से 11 लाख की ठगी, पत्नी को बनाया बंधक ; 24 घंटे तक नहीं करने दी किसी से बात
UP News : उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद से एक हैरान करने वाली खबर आई है, जहां साइबर अपराधियों ने सिविल...
बलिया में आज दो चुनावी जनसभा को सम्बोधित करेंगे सीएम योगी
25 मई 2024 : क्या कहते है आपके सितारे, पढ़ें दैनिक राशिफल
बलिया : रिपेयरिंग के लिए आई कार में लगी आग, लैपटॉप भी जला 
बात बलिया की... मंदबुद्धि युवती के साथ युवक ने किया घिनौना काम, जानकर रह जायेंगे दंग
बलिया : छात्रनेता शिप्रांत सिंह को गोली मारने वाला मुख्य अभियुक्त पिस्टल के साथ गिरफ्तार
बलिया रेलवे स्टेशन पर ट्रेन की चपेट में आने से दो युवकों की मौत, ऐसे हुई शिनाख्त