Breaking News
Home » मध्य प्रदेश » गणेश विसर्जन के दौरान पलटी दो नाव, 11 की मौत

गणेश विसर्जन के दौरान पलटी दो नाव, 11 की मौत

भोपाल। यहां छोटा तालाब के खटलापुरा घाट पर शुक्रवार तड़के करीब 4:30 बजे गणेश विसर्जन के दौरान दो नाव पलटने से 11 लोगों की मौत हो गई। 6 लोगों को बचा लिया गया। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, दोनों नावें जुड़ी हुई थीं। जिनपर 20-25 लोग सवार थे। हालांकि इस आंकड़े की प्रशासन ने पुष्टि नहीं की। उन्होंने अपील की है कि विसर्जन में शामिल किसी परिवार का सदस्य घर न पहुंचा हो तो सूचित करें।इस बीच मामले की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए गए हैं।दो नाविकोंपर केस दर्ज किया गया है। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मृतकों के परिजन को 11-11 लाख और नगर निगम ने 2-2 लाख रुपए मुआवजे का ऐलान किया है।

मृतक पिपलानी के 100 क्वार्टर के रहने वाले थे।मौके पर एसडीआरएफ की टीम, गोताखोरऔर पुलिस की टीम मौजूद है।जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने कहा, ‘‘हादसे में 11 लोगों कीमौत दुर्भाग्यपूर्ण है। ये कैसे हुआ, इसकी जांच की जाएगी।’’ जिस जगह घटना हुई, वहां मध्य प्रदेश होमगार्ड और राज्य आपदा बचाव दल (एसडीआरएफ) का मुख्यालय है।

कोई भी लाइफ जैकेट नहीं पहने था: प्रत्यक्षदर्शी

प्रत्यक्षदर्शी के मुताबिक, दो नावें आपस में बंधी हुई थीं, इनके बीच में मंच बनाकर विसर्जन के लिए प्रतिमा रखी थी।नावों पर करीब 20-25 लोग सवार थे। सभी की उम्र 27-28 साल उम्र थी। कोई भी लाइफ जैकेट नहीं पहने हुआ था। प्रतिमा विसर्जित करते वक्त एक नाव पलटी तो लोग दूसरी पर कूद गए। संतुलन बिगड़ने के चलते दूसरी नाव भी डूब गई।

प्रशासन ने लोगों से जानकारी मांगी

प्रशासन ने कहा है किजिन परिवारों के लड़के लापता हैं, हमें सूचित करें। वहीं, पुलिस बस्ती में जाकर लोगों से पूछताछ कर रही है कि विसर्जन के लिए कौन-कौन आए थे।

सभी मृतकों की उम्र 15-30 साल के बीच

जिन 11 युवकों के शव निकाले गए, उनके नाम परवेज खान (15), करण (16), अर्जुन शर्मा (18), राहुल मिश्रा (20), हर्ष (20), सन्नी ठाकरे (22), विशाल (22), करण (26), विक्की (28), राहुल वर्मा (30), रोहित मौर्य (30) हैं।

‘भाई को तालाब में ढूंढता रहा पर वह नहीं मिला’

डूबने वालों में 100 क्वार्टर में रहने वाला हरि राना भी था। हादसे के वक्त उसका भाई कमल खटलापुरा घाट पर मौजूद था। उसने बताया- घाट पर कोई रोक-टोक नहीं थी, कोई पुलिसवाला भी नहीं था। घाटवालों ने विसर्जन के लिए एक हजार रुपए मांगे। नाविकों ने दो नावों को जोड़ने के लिए दो लोहे की चद्दर वाले पटले रख लिए। 19-20 लड़के नाव में प्रतिमा विसर्जन के लिए बैठ गए। कुछ दूर पर प्रतिमा वाली साइड से नाव में पानी भरने लगा। नाविक ने कहा था कि कुछ नहीं होगा।

कमल ने कहा- जैसे ही प्रतिमा को पानी में धक्का दिया, नाव का बैलेंस बिगड़ गया और वह डूबने लगी। कुछ पानी में कूद गए, लेकिन वे भी डूबने लगे। मेरे दोस्त मेरे सामने डूब गए। मैंने भाई को तैरकर इधर-उधर देख, लेकिन वह नहीं मिला।

Share With :
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel

About Poonam ( चीफ इन एडीटर )

चीफ इन एडीटर

Check Also

सेंट्रल स्कूल में बच्ची से दुष्कर्म, मामला छिपाने में प्रिंसिपल गिरफ्तार

रायपुर। डब्लूआरएस काॅलोनी स्थित सेंट्रल स्कूल में 6 साल की बच्ची से दुष्कर्म के मामले …

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.