Breaking News
Home » बलिया » सुभासपा का तेवर भाजपा के लिए चुनौती!

सुभासपा का तेवर भाजपा के लिए चुनौती!

बलिया। सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी ने भाजपा से अलग होने के बाद 39 सीटों पर अपने प्रत्याशी घोषित कर दिए। इससे पूर्वांचल की कई सीटों के समीकरण ही नहीं बदलेंगे, नतीजे भी प्रभावित हो सकते हैं। सुभासपा 2012 के विधानसभा चुनाव में पूर्वी उत्तर प्रदेश के कई सीटों पर 18 से 40 हजार मत हासिल कर चुकी है। सुभासपा प्रत्याशियों की घोषणा के बाद भाजपा ने नफा नुकसान का आंकलन शुरू कर दिया है।

पूर्वांचल में भाजपा के लिए अपना दल (एस) के बाद सुभासपा का महत्व है। 2014 और 2017 में अपना दल के साथ मिलकर भाजपा ने पूर्वांचल में बड़ी जीत हासिल की थी। 2017 के विधानसभा चनाव से पहले सुभासपा के साथ भाजपा का गठबंधन हो गया था। इससे पहले सुभासपा मुख्तार अंसारी के कौमी एकता दल के साथ मिलकर चुनाव लड़ी थी।

वाराणसी सहित कई सीटों पर राजभर समाज का बड़ा वोट बैंक है। 2012 में सुभासपा ने बलिया, गाजीपुर, मऊ और वाराणसी में प्रत्याशी उतारे थे। पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने गाजीपुर की जहूराबाद सीट पर 49 हजार 600 वोट पाए। इसके अलावा बलिया के फेफना में 42 हजार, रसड़ा में 26 हजार, सिकंदरपुर में 4 हजार, बेल्थरा रोड में पार्टी प्रत्याशी को 38 हजार वोट मिले थे। गाजीपुर, आजमगढ़, और वाराणसी में भी पार्टी उम्मीदवारों को 15 से 20 हजार मत मिले थे।

Share With :
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel
Do Not Forgot To subscribe Purvanchal24 Youtube Offcial Channel

About Poonam ( चीफ इन एडीटर )

चीफ इन एडीटर

Check Also

बलिया के पुलिस निरीक्षक शशिमौली पाण्डेय को मिला डीजीपी का प्रशस्ति पत्र

वाराणसी। प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह द्वारा दिये गए प्रशस्ति पत्र के साथ एडीजी जोन …

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.