Breaking News
Home » लखनऊ » हजारों शिक्षकों का दस्तावेज BSA दफ्तर से गायब, मचा हड़कम्प

हजारों शिक्षकों का दस्तावेज BSA दफ्तर से गायब, मचा हड़कम्प

लखनऊ। वैसे तो यूपी में बेसिक शिक्षा व भ्रष्टाचार में चोली-दामन जैसा साथ है। इसी कड़ी में गोण्डा जिले से एक चौकाने वाली खबर आयी है, जिससे विभागीय गलियारे में हड़कम्प मच गया है। उच्चाधिकारियों को शंका है कि गोंडा ही नहीं, अधिकतर जनपदों से ऐसी खबर आ सकती है।

मालूम हो कि वर्ष 2010 के बाद परिषदीय स्कूलों में हुई शिक्षक भर्तियों की जांच चल रही है, जिसमें गोंडा जनपद में एक नया मामला सामने आया है। बेसिक शिक्षा विभाग से हजारों शिक्षकों के अभिलेखों का कुछ अता-पता नहीं है। वर्ष 2010 के बाद हुई शिक्षकों की भर्ती की सीबीआई जांच चल रही है। यहां भी जांच के लिए सहायक शिक्षा निदेशक बेसिक की अध्यक्षता में एक समिति पूरे मामले जांच कर रही है। अब एडी बेसिक की ओर से सत्यापन की रिपोर्ट तलब किये जाने के बाद शिक्षकों के अभिलेख गायब होने का मामला सामने आया है। इस जांच से जिले के लगभग छह हजार से अधिक शिक्षकों की भर्ती प्रभावित हो सकती है।

अभिलेखों के अभाव में जांच प्रभावित होने से नाराज एडी बेसिक ने बुधवार को बीएसए दफ्तर में छापेमारी भी की थी। इसके बाद बीएसए दफ्तर में खलबली मच गई। बताया जा रहा है कि एडी की ओर से जांच में कुछ महत्वपूर्ण अभिलेख मांगे जाने के बाद भी उपलब्ध नहीं कराये गये। अब सभी शिक्षक भर्तियों की सत्यापन रिपोर्ट मांगी गई है। अभिलेख मौजूद न होने पर वर्ष 2010 के बाद निय़ुक्त हुए सभी शिक्षकों के अभिलेख बीएसए की ओर से मांगे गये हैं।

बीएसए मनिराम सिंह ने सभी बीईओ को 3 दिसंबर तक सभी शिक्षकों के अभिलेख प्रस्तुत करने को कहा है। एडी बेसिक मृदुला आनंद ने बताया कि निर्धारित समय के भीतर यदि अभिलेख नहीं उपलब्ध कराये गये तो शासन को रिपोर्ट भेजी जायेगी।

Share With :
Purvanchal24 welcomes you || For Advertisement on purvanchal24 Call on 9935081868
Purvanchal24 Welcomes You
Do Not Forgot to subscribe Purvanchal24 Youtube Channel

About Poonam ( चीफ इन एडीटर )

चीफ इन एडीटर

Check Also

UP Board Exam : इन 5 तरीकों से नकल रोकेगी सरकार

लखनऊ। यूपी बोर्ड परीक्षा में नकल को लेकर काफी बदनाम रहा है। पिछले दो सालों …

error: Content is protected !!