To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


thank for visit purvanchal24
ads booking by purvanchal24@gmail.com

नर को नारायण मान उसकी सेवा करना ही मानवता का उद्देश्य : दयाशंकर


श्वेता पाठक
सिकंदरपुर, बलिया। जूनियर हाई स्कूल सिकन्दरपुर के प्रांगण में गुरुवार को पूर्व मंत्री राजधारी सिंह के नेतृत्व में स्वामी विवेकानंद जयंती पर विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह ने कहा कि स्वामी विवेकानंद ने 'दरिद्र देवो भव' का नारा दिया था। नर को नारायण मान उसकी सेवा करना ही मानवता का उद्देश्य होना चाहिए। सनातन धर्म भी हमें दरिद्र एवं दुखीजन की सेवा करने का संदेश देता है।

स्वामी जी ने देश की समस्या दूर करने के लिए जातिगत नहीं राष्ट्रगत परिश्रम करने का आह्वान किया था। वर्तमान में हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ उसी सोच के साथ सबका साथ-सबका विकास एवं सबका विश्वास के नारे के साथ समाज के अन्तिम व्यक्ति के जीवन में खुशहाली लाने का कार्य कर रहे हैं। पाखण्ड को देश के विकास में बाधक मानते हुए कहा कि अगले 50 वर्षो तक भारत माता की अराधना कर ही इसकी उन्नति की पटकथा लिखी जा सकती है।

पूर्व मंत्री राजधारी ने कहा कि शिकागो में आयोजित विश्व धर्म सम्मेलन में स्वामी जी ने अपने सम्बोधन में महान भारतीय संस्कृति एवं सोच से दुनिया को अवगत कराया। पूर्व मंत्री आह्वान किया कि लक्ष्य की प्राप्ति के लिए विश्राम को त्यागना होगा। वर्तमान में प्रधानमंत्री मोदी अहर्निश भारतीय संस्कृति एवं भारत के पुनरूत्थान के लिए कार्य कर स्वामी जी के सपने को पूरा करने में लगे है । पूर्व विधायक भगवान पाठक ने देश की सभ्यता और संस्कृति को अक्षुण्ण रखने केलिए सनातन परंपरा को बरकरार रखना होगा तभी लक्ष्य साधा जा सकता है। इसकी जिम्मेदारी भावी पीढ़ी पर है।

गोष्ठी को सुरेश सिंह, रणजीत राय, मंजय राय, अखिलेश सिंह गुड्डू, दयाशंकर भारती, बैजनाथ पाण्डेय, नसीम चिस्ती, राकेश गुप्ता, रामायण सिंह, सुदामा राय, अशोक सिंह डायरेक्टर, विमलेश राय, संतोष यादव, मोहनकांत राय, मुहू सिंह, मनीष सिंह, सुजुकी सिंह, नीरज राय, सुनील सिंह, अजय कुमार सिंह आदि ने सम्बोधित किया।अध्यक्षता हेमन्त मिश्र एवं संचालन भोला सिंह ने किया।

Post a Comment

0 Comments