To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


thank for visit purvanchal24
ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया में हरिनाम कीर्तन के बीच शिक्षक ने कुछ यूं मनाई मां की पुण्यतिथि : स्वामी हरिहरानंद जी ने श्रद्धालुओं को दिया संदेश

बलिया। नाशै रोग हरे सब पीरा जो सुमिरै हनुमत बलबीरा। मनुष्य को भगवान नाम सुमिरन करने से सभी कष्टों और परेशानियों से मुक्ति मिल जाती है। कलयुग रुपी भवसागर से पार 'राम' नाम ही लगा सकता है। सभी को अपनी कमाई का 10% धर्मार्थ कार्य हेतु दान करना चाहिए और ईश्वर की दी हुई अमूल्य जीवन 24 घंटे के समय का 10 परसेंट प्रभु के ध्यान में जाना चाहिए। उन्होंने महाबली अजर अमर सियाराम के दुलारे हनुमान जी की सुमिरन करने पर भी जोर डाला।

स्वामी जी ने कहा कि जो हनुमान जी का सुमिरन करके अपने दिन की शुरुआत करता है, उसे प्रति दिन की मंगल कार्य के साथ प्रभु खुशी-खुशी उसके जीवन की नैया को पार लगा देते हैं। यह बातें प्रवचन के रूप में बसंतपुर में शिक्षक उपेंद्र सिंह जी के माता जी की तृतीय पुण्यतिथि पर आयोजित हरिनाम संकीर्तन के विश्राम के उपरांत स्वामी हरिहरानंद जी ने श्रद्धालुओं को को सम्बोधित करते हुये कहा। 

उन्होंने जोर देकर कहा कि हनुमान चालीसा और हरे राम हरे राम राम राम हरे हरे। हरे कृष्ण हरे कृष्ण कृष्ण कृष्ण हरे हरे।। महामंत्र का जो मनुष्य योनि में पैदा हुआ है उसको जाप करना चाहिए। कार्यक्रम में गणेश सिंह, ध्रुव नारायण सिंह, अरविंद सिंह, चन्द्रमौलि सिंह, दिनेश पांडेय, सच्चिदानन्द सिंह, शैलेश सिंह, नित्यानंद मिश्र,दुर्गा यादव, जितेन्द्र सिंह, प्रवीण कुमार सिंह, मनीष सिंह, गोलू सिंह, अभयशंकर सिंह, अंजनी कुमार सिंह, रामप्रताप सिंह, रामप्रकाश सिंह, दीपक सिंह, नीरज सिंह आदि सैकड़ों धर्मानुरागी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन उपेन्द्र सिंह ने किया।

Post a Comment

0 Comments