To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


thank for visit purvanchal24
ads booking by purvanchal24@gmail.com

लोकसभा में गोड़ समाज की आवाज बने बलिया के सांसद वीरेन्द्र सिंह मस्त, उठाया यह मुद्दा

शिवदयाल पांडेय मनन
बैरिया, बलिया। सांसद वीरेन्द्र सिंह मस्त ने गोड़ समाज के लोगों की समस्याओं के समाधान व उनके विकास के लिए गुरुवार की शाम लोकसभा में आवाज उठा कर उन्हें समाज के मुख्य धारा से जोड़ने की मांग उठाई। भारत सरकार से आग्रह किया कि पहले से अनुसूचित जनजाति में शामिल गोड़ समाज के लोगों को पूर्वी उत्तर प्रदेश व बिहार के कुछ जनपदों में अनुसूचित जाति के प्रमाण पत्र जारी करने में प्रशासनिक अधिकारी अनावश्यक प्रमाण पत्र मांग रहे है, जिससे गोंड समाज के लोगों में चिन्ता व्याप्त है।

सांसद वीरेन्द्र सिंह मस्त ने सांसदों की अध्यक्षता में जनपद स्तर पर प्रशासनिक अधिकारियों की समिति गठित करने का आग्रह लोकसभा अध्यक्ष से किया। कहा कि आजादी की लड़ाई में गोंड समाज के लोगों ने उल्लेखनीय भूमिका रही है। गोंड जाति के लोगों के समस्याओ के समाधान की जरूरत है। सांसद ने सदन में गोड़ऊ नृत्य व भुजा चबेना की चर्चा की। लोकसभा अध्यक्ष के अनुपस्थिति में पीठासीन अधिकारी के सुरेश ने सांसद को सदन के तरफ से भरोसा दिया कि गोड जाति के समस्याओं के समाधान और उनके विकास के लिए भारत सरकार गम्भीर है और सभी जरूरी उपाय किये जायेंगे।

Post a Comment

0 Comments