To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


thank for visit purvanchal24
ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया : अधिकारियों की लापरवाही का नतीजा, निर्माणाधीन अस्पताल पर बढ़ा चार करोड़ रुपये का बोझ

शिवदयाल पांडेय मनन
बैरिया, बलिया। क्षेत्र के लिए बेहतर स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने वाली ड्रीम प्रोजेक्ट सोनबरसा में निर्माणाधीन 100 बेड के राजकीय चिकित्सालय कार्य में देर के कारण उसकी लागत चार करोड़ रुपये बढ़ गयी है। निर्माण में 25 करोड़ 15 लाख की जगह अब 29 करोड़ 27 लाख की लागत आएगी। कार्यदाई संस्था के अभियंताओं व अधिकारियों की लापरवाही चलते यह नौबत आई है। हालांकि विभाग इसके लिए महंगाई को कारण बता रहा है। अब तक एक ब्लॉक का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है। पेंटिंग व बिजली की वायरिंग बाकी है। दूसरे ब्लॉक व चिकित्सा कर्मियों के लिए आवास का निमार्ण कार्य अधूरा पड़ा हुआ है। इस अस्पताल को जनवरी में लोगों के लिए शुरू कराने की योजना थी, किंतु अब यह मार्च तक बढ़ गया है। उम्मीद है कि नए वित्तीय वर्ष में इस अस्पताल का संचालन शुरू हो जाएगा। 

गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी के सरकार में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने विधायक जयप्रकाश अंचल के आग्रह पर इस अस्पताल के निर्माण को मंजूरी प्रदान की थी। योगी आदित्यनाथ की सरकार ने इसके लिए धन स्वीकृत कर निर्माण कार्य शुरू कराया था, किंतु विभागीय मनमानी के चलते कच्छप गति से काम होता रहा।नियमानुसार इस अस्पताल को 2021 में ही बनकर चालू हो जाना चाहिए था, किंतु अब तक कार्यदाई संस्था ने कार्य पूरा नहीं किया है। पूछने पर बताते हैं कि धनाभाव के कारण कार्य में देरी हुआ है। यहां तैनात अवर अभियंता गोविंदा ना तो फोन उठाते है ना हीं वह कार्यस्थल पर कभी नजर आते हैं। इसके कारण आम लोगों के साथ-साथ पत्रकारों को भी अस्पताल के भवन निर्माण की स्थिति की वास्तविक जानकारी नहीं हो पाती है। अब देखना यह है कि मार्च में भी निर्माण निगम इस अस्पताल के भवन निर्माण का कार्य पूरा कर पाता है या नहीं।

अप्रैल के पहले सप्ताह में अस्पताल चालू हो जायेगा अस्पताल

सोनबरसा में निर्माणाधीन 100 बेड के राजकीय चिकित्सालय की कार्यदाई संस्था निर्माण निगम के परियोजना प्रबंधक एससी राय का कहना है, कि हम लोगों ने अपनी तरफ से कोई कोर कसर नहीं छोड़ा है। अब तक 26 करोड रुपए सरकार से प्राप्त हो गए हैं।उसमें से साढ़े तीन करोड़ रुपए अभी बचे हुए हैं। वह खर्च करने के बाद उपभोग प्रमाण पत्र जमा करने पर शेष धनराशि प्राप्त होगी। हम लोगों ने सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त को बताया है कि अप्रैल के पहले सप्ताह में आप इस अस्पताल को चालू करा सकते हैं। आवास व दूसरे ब्लॉक का निर्माण कार्य भी यथाशीघ्र हम लोग पूरा करेंगे।

मेरा प्रयास, जल्द चालू हो यह अस्पताल 

सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त ने कहा कि, हमने जनवरी में 100 बेड के अस्पताल को शुरू कराने का लक्ष्य रखा था। किंतु निर्माण निगम द्वारा कार्य पूरा नहीं किया गया है। 31 मार्च तक कार्य पूरा करने का भरोसा निर्माण निगम के परियोजना प्रबंधक ने दिया है। हम लगातार स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। मेरा प्रयास होगा कि जल्द से जल्द यह अस्पताल चालू हो, ताकि लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं आसानी से मुहैया हो सकें।

Post a Comment

0 Comments