To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

TTE ने ले ली बलिया के लाल सोनू सिंह की जान : जवान का शव पहुंचते ही उठा सवाल, पढ़ें इनसाइड स्टोरी


हल्दी, बलिया। बरेली में ट्रेन में चढ़ने के दौरान टीटीई के धक्के से घायल सेना के जवान की इलाज के दौरान मौत होने के बाद शव जवान के पैतृक गांव भरसौता पहुंचने पर ग्रामीणों ने हल्दी में नेशनल हाइवे पर रखकर सड़क जाम कर दिया है। ग्रामीणों ने टीटीई पर हत्या का मुकदमा दर्ज करने तथा उसकी तत्काल गिरफ्तारी की मांग पर अड़ गए। बाद में उपजिलाधिकारी बैरिया व बलिया के आश्वासन पर लगभग तीन घंटे बाद जाम समाप्त हुआ।जिसके बाद मृतक जवान को पूरे राष्ट्रीय सम्मान के साथ पचरुखिया के गंगा तट पर अंतिम संस्कार किया गया।

17 नवम्बर को बरेली रेलवे स्टेशन पर ट्रेन में चढ़ने के दौरान बलिया के भरसौता गांव निवासी सेना के जवान सोनू सिंह को टीटीई ने धक्का देकर नीचे गिरा दिया था। यह वारदात उस समय हुई जब किशनगढ़ (जयपुर) में तैनात राजपूत रेजिमेंट के जवान सोनू सिंह छुट्टी बीत जाने के बाद राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन से अपनी ड्यूटी पर लौट रहे थे। बरेली रेलवे स्टेशन पर पानी लेने के लिए ट्रेन से उतरने के बाद ट्रेन पर पुनः चढ़ते वक्त लगा टीटीई ने धक्का देकर सोनू को नीचे गिरा दिया। 

इस दौरान ट्रेनकी चपेट में आने से सैनिक का एक पैर कट गया, जबकि दूसरा बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया। जवान को बरेली के सैन्य अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां डॉक्टरों ने सोनू की तीन बार सर्जरी की। सोमवार को जवान का दूसरा पैर भी काटना पड़ा था, लेकिन बुधवार की शाम इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी।

राजपूत रेजिमेंट में तैनात जवान सोनू सिंह का शव शुक्रवार को बलिया उनके पैतृक गांव भरसौता पहुंचा। इसके बाद ग्रामीणों ने परिजनों के साथ हल्दी थाना क्षेत्र के हल्दी ढाले पर नेशनल हाइवे 31 पर शव को रखकर सड़क को जाम कर आरोपी टीटीई पर हत्या का मुकदमा दर्ज करने तथा उसकी गिरप्तारी की मांग शुरू कर दिया।थानाध्यक्ष हल्दी सुनिल कुमार सिंह ने इसकी जानकारी क्षेत्राधिकारी बैरिया समेत जिले के आला अधिकारियों को दी। सूचना पर पहुंचे उप जिलाधिकारी बैरिया आत्रेय मिश्रा तथा उपजिलाधिकारी बलिया प्रशांत नायक ने आश्वासन दिया कि हत्या का मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। शीघ्र ही उसे गिरफ्तार भी कराया जाएगा, तब परिजन व ग्रामीणों ने धरना को समाप्त किया।

जवान सोनू सिंह का अंतिम संस्कार गंगा के पचरुखिया घाट पर किया गया, जहां सेना से आये जवानों ने गार्ड ऑफ ऑनर देकर अपने साथी को विदा किया। मुखाग्नि जवान तीसरे भाई विपिन सिंह ने दी। इस मौके पर क्षेत्राधिकारी बैरिया उस्मान, हल्दी थानाध्यक्ष सुनील कुमार सिंह, दुबहर एसओ राजेश कुमार मिश्रा, दोकटी थानाध्यक्ष राजीव सहित पुलिसकर्मी उपस्थित रहे। वही घर पर मृतक की माता मंजू देवी, पत्नी अर्चना तथा दोनों बहनों का रोते-रोते बुरा हाल है।

सोनू सिंह चार भाई व दो बहन थे। सोनू चाऱ भाईयो में दूसरे नंबर पर थे। इनके पिता अक्षयवर सिंह किसान है, जबकि बड़ा भाई जितेन्द्र सिंह सीआरपीएफ में है। तीसरा भाई विपिन सिंह सेना में भर्ती के लिए तैयारी कर रहे है।वही छोटा भाई विकास पंचायत सहायक के पद गाँव में ही तैनात है। सोनू सिंह 2011 में राजपूत रेजिमेंट में भर्ती हुए। उनकी शादी 2016 में रतसड़ में अर्चना सिंह से हुई थी। उनकी तीन वर्षीय एक लड़की तथा एक माह का लड़का है।

एके भारद्वाज

Post a Comment

0 Comments