To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


thank for visit purvanchal24
ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया : गमगीन माहौल में मासूम बेटे ने दी नायब सूबेदार पापा को मुखाग्नि, उठी शहीद का दर्जा देने की मांग

बलिया। नेशनल प्राईम अवार्ड 2019 से सम्मानित  सामाजिक कार्यकर्ता जयराम अनुरागी ने प्रशासनिक अधिकारी अश्विनी कुमार तिवारी को पत्रक देकर ऑन ड्यूटी मृत सैनिक बदन यादव को शहीद का दर्जा दिये जाने की मांग की है। जिलाधिकारी के माध्यम से रक्षा मंत्री भारत सरकार एवं मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश को भेजे गये मांग पत्र में सामाजिक कार्यकर्ता ने कहा है कि 'सैनिक बदन यादव अपने परिवार के एक मात्र कमाऊ सदस्य थे। इनके निधन से पूरा परिवार एक तरह से अनाथ सा हो गया है। इनके पीछे चार पुत्रियां एवं एक पुत्र है, जिनका अब कोई सहारा नहीं रह गया है। ऐसी स्थिति में भारत सरकार एवं राज्य सरकार को इस परिवार पर विशेष ध्यान देने की जरुरत है।' श्री अनुरागी ने पत्रक में जिन मांगों को शामिल किया है, उसमें आन ड्यूटी मृत सैनिक बदन यादव को शहीद का दर्जा दिये जाने, उनकी पुत्रियों की शिक्षा एवं शादी का सम्पूर्ण खर्च भारत सरकार तथा राज्य सरकार द्वारा  उठाने, उनके एकमात्र पुत्र को पूरी शिक्षा दिलाने एवं नौकरी योग्य होने पर उन्हें सरकारी नौकरी देने तथा उनकी विधवा को भरण-पोषण हेतु प्रर्याप्त पेंशन दिये जाने की मांगे प्रमुख है। 

12 वर्षीय बेटे ने दी पिता को मुखाग्नि

सेना के 74 फील्ड रेजिमेंट में तैनात रसड़ा क्षेत्र के असनवार निवासी नायब सूबेदार बदन यादव (45) का शव शुक्रवार को गांव पहुंचने के बाद से ही कोहराम मचा है। पत्नी, बच्चों व परिजनों की करूण-क्रंदन से हर किसी की आंखें भींग जा रही है। बता दे कि नायब सूबेदार बदन यादव की तैनाती लेह लद्दाख के श्योक इलाके में थी। वहीं, पेट्रोलिंग के दौरान हृदयाघात से उनका निधन हो गया। शुक्रवार को जवान का शव पैतृक गांव पहुंचा था, जहां हज़ारों लोगों ने अपने लाल को अंतिम विदाई दी। जवान का अन्तिम संस्कार पूरे सैनिक सम्मान के साथ किया गया। 12 वर्षीय पुत्र निखिल यादव अपने पापा को मुखाग्नि दी। 

Post a Comment

0 Comments