To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया : धनाभाव के कारण अधूरा पड़ा राजकीय विज्ञान महाविद्यालय का भवन निर्माण


शिवदयाल पांडेय मनन
बैरिया, बलिया। सरकारी तंत्र की कथनी करनी में हर समय अतंर होना, जनहित में उचित नहीं है। दावा के साथ आगामी शिक्षा सत्र से पठन-पाठन शुरु करने की तैयारी थी, लेकिन धनाभाव के कारण भवन निर्माण अधूरा होकर ठप है। जी हां, हम बात कर रहे हैं राजकीय विज्ञान महाविद्यालय सोनबरसा की। इसके निर्माण कार्य के लिए 7 करोड़ 33 लाख 31 हजार रुपये उत्तर प्रदेश सरकार ने स्वीकृत किया था। निर्माण का जिम्मा राजकीय निर्माण निगम को दिया गया था। शर्त मार्च 2022 में इस महाविद्यालय के निर्माण कार्य को पूरा करने की थी, किंतु निर्माण निगम द्वारा अब तक कार्य पूरा नहीं कराया गया। 

अभी भी महाविद्यालय का निर्माण कार्य आधा अधूरा पड़ा है। इसके चलते अगले शिक्षा सत्र में भी इसमें पढ़ाई शुरू हो पाएगी या नहीं? इसमें संदेह है। पूछने पर निर्माण निगम के अवर अभियंता गोविन्द कुमार बताते हैं कि 2 करोड़ 9 लाख रुपये अभी सरकार से प्राप्त नहीं हुआ है। इस वजह से निर्माण कार्य पूरा नहीं हो पा रहा है। जितना धन मिला था, उसका उपभोग प्रमाण पत्र 29 अप्रैल को ही शासन को भेजा जा चुका है। शासन ने महाविद्यालय  निमार्ण कार्य की जांच के लिए त्रिस्तरीय कमेटी का गठन किया है। त्रिस्तरीय कमेटी की जांच रिपोर्ट भेजे जाने पर अवशेष धन का भुगतान होगा। धन अवमुक्त होने के तीन माह बाद निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा।

गौरतलब है कि महाविद्यालय का शिलान्यास 10 मई सन् 2020 को हुआ था। तब निर्माण निगम के अधिकारियों ने कहा था कि एक वर्ष के भीतर निर्माण कार्य पूरा करा देंगे। किंतु दो साल से अधिक समय बीत जाने के बावजूद निर्माण कार्य आधा अधूरा पड़ा हुआ है। ऐसे में यह शंका का विषय है, कि अगले शिक्षा सत्र में भी यहां पढ़ाई शुरू हो पाएगी या नहीं। इस संदर्भ में कई जागरूक लोगों ने जिलाधिकारी बलिया व सांसद बलिया का ध्यान अपेक्षित करते हुए हस्तक्षेप की गुहार लगाई है, ताकि सरकार से धन प्राप्त हो सके, और निर्माण कार्य शीघ्र पूरा हो सके। ताकि यहां के साधन विहीन बच्चे भी स्नातक कक्षाओं में विज्ञान की शिक्षा ग्रहण कर सकें।

Post a Comment

0 Comments