To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

दूसरे दिन भी चला सर्च अभियान, नाव हादसे में लापता शिक्षक का शव गंगा से बरामद

मेरठ। हस्तिनापुर के भीमकुंड गंगा घाट पर मंगलवार को हुए नाव हादसे में लापता लोगों की तलाश में बुधवार को भी सर्च अभियान चला। सर्च अभियान में पीएससी की फ्लड कंपनी और एसडीआरएफ की टीम ने तकरीबन पांच घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद एक शव बरामद किया, जिसकी शिनाख्त शिक्षक महेश चंद के रूप में हुई।

प्रशासन द्वारा मिले आंकड़ों के आधार पर नाव में करीब 15 लोगों के होने की संभावना जताई गई है, जिनमें 13 लोगों को सकुशल बचा लिया गया। वहीं, हादसे में मोनू राणा की मौत हो गई थी। जलीलपुर ब्लॉक में तैनात शिक्षक महेश चंद पुत्र बलवंत लापता थे। उनकी तलाश में बुधवार की सुबह एसडीएम अखिलेश यादव की मौजूदगी में सर्च अभियान चलाया गया। करीब पांच घंटे तक चले सर्च अभियान के बाद उनका शव मिला। घटनास्थल पर मौजूद लापता शिक्षक महेश चंद के परिजन और रिश्तेदार उनका शव देखते ही दहाड़े मारने लगे। 

बता दें कि मंगलवार की सुबह हस्तिनापुर में भीमकुंड गंगा घाट पर नाव हादसा हुआ तो करीब डेढ़ दर्जन लोगों की सांसें अटक गईं। आंखों के सामने मौत देख लोगों में कोहराम मच गया। इस दौरान कुछ ने तैरकर अपनी जान बचा ली, लेकिन कुछ उनकी आंखों के सामने ही डूब गए। जिन लोगों की जिंदगी बच गई वे भगवान का शुक्रिया कर रहे हैं। इस दौरान उनके आंसू भी छलक पड़े। उन्होंने आंखों देखा मंजर बताया तो वहां मौजूद अधिकारी और ग्रामीण भी भावुक हो गए।

हादसे में बचे शिक्षक देवेंद्र ने बताया कि नाव पिलर से टकराकर गंगा में समा गई। बताया कि वे खुद तो तैरकर बच गए, लेकिन उनकी आंखों के सामने ही साथी शिक्षक महेश गंगा में डूब गए। उन्होंने बताया कि उन्हें खूब बचाने का प्रयास किया, लेकिन बचा नहीं पाए।

Post a Comment

0 Comments