To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया में बोले राज्य मंत्री JPS राठौर : बागी धरती से शुरुआत कर देश में नई ऊंचाई प्राप्त करेगी सहकारिता

बलिया। जिला सहकारी बैंक बलिया के 44वीं वार्षिक सामान्य निकाय की बैठक शनिवार को टाउन हॉल में हुई, जिसका शुभारम्भ बतौर मुख्य अतिथि प्रदेश सरकार के सहकारिता मंत्री जेपीएस राठौर ने डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी एवं पंडित दिन दयाल उपाध्याय के चित्र के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन कर किया। इसमें बैंक के वार्षिक बजट का सर्वसम्मति से अनुमोदन किया गया। इससे पहले जिला सहकारी बैंक के नवनिर्मित मुख्य द्वार का लोकार्पण मुख्य अतिथि ने किया। बैठक में सभी वक्ताओं ने जिला सहकारी बैंक व समितियों के उन्नयन, सहकारिता विभाग की खाली पड़ी या अवैध कब्जे की जमीनों के सदुपयोग का सुझाव दिया। 

राज्यसभा सांसद नीरज शेखर ने कहा कि हम सभी मिलकर जनपद के सहकारिता क्षेत्र का उत्थान कर सकते हैं। सहकारिता का विकास होने से किसान व आम जन को लाभ होगा। जिला सहकारी बैंक के चेयरमैन विनोद शंकर दुबे ने सभी जनप्रतिनिधियों के सहयोग से बैंक के ढांचे में अमूल-चूल परिवर्तन करने व जमाकर्ताओं की समस्या का समाधान कर पुनः भरोसा जीतने का आश्वासन दिया।

बलिया सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त ने कहा कि वास्तव में सहकारिता के बिना कृषि संभव नहीं हैं। कहा कि देश के प्रधानमंत्री जी ने जिस आत्म निर्भर भारत का सपना देखा हैं, वह सहकारिता के बदौलत ही पूरा होगा। पहली बार केंद्र सरकार में सहकारिता विभाग को अलग मंत्रालय के रूप में गठित किया गया। कहा कि बलिया में सहकारिता के विकास का मॉडल बनना चाहिए। गंगा किनारे प्राकृतिक खेती करने वालों को प्रोत्साहन देना होगा। हमारे जिले में अपार संभावनाएं हैं, जिसमें कृषि के साथ पशुपालन भी हैं। कहा कि सहकारिता के माध्यम से आर्थिक के साथ सामाजिक व सांस्कृतिक क्षेत्र का विकास होता हैं। स्वावलंबन का विकास होता हैं। कहा कि सहकारिता से ही देश मे समृद्धि आएगी।

उत्तर प्रदेश पीसीएफ के चेयरमैन वाल्मीकि त्रिपाठी ने कहा कि देश मे सबसे बड़ा प्रदेश उत्तर प्रदेश हैं, जहां सहकारिता सबसे जीवंत होनी चाहिए। क्योंकि जन्म से श्मशान घाट तक हम सहकारिता के सहारे रहते हैं। भारत की सहकारिता दुनिया को रस्ता दिखाई थी, जिसके कारण हम विश्व गुरु बने थे। 

मुख्य अतिथि प्रदेश सरकार के सहकारिता मंत्री जेपीएस राठौर ने कहा कि बलिया ऐतिहासिक जनपद हैं, जो  स्वतन्त्रता संग्राम से लेकर सम्पूर्ण क्रांति व सहकारिता में भी प्रदेश की अगुवाई किया हैं। सहकारिता बलिया से शुरुआत कर देश मे नई ऊंचाई प्राप्त करेगी। कहा कि प्रदेश को 403 करोड़ प्राप्त हुआ हैं। हम एक एक खाताधारक की जमा राशि वापस कर पुनः खोई प्रतिष्ठा वापस करेंगे। हम किसानों के लिए उत्तम सुविधाओं की व्यवस्था करेंगे। कहा कि बलिया से बात उठती हैं वो दूर तलक जाती हैं। यहां के लोगों की सोच समझ व सलाह से सहकारिता का विकास करेंगे। हम प्रदेश की सहकारिता व कृषि उत्पादों को विश्व बाजार में स्थान दिलाएंगे। 

कहा कि देश के सहकारिता मंत्री पूरे मनोयोग से इस क्षेत्र में लगे हुए है, जिनके निर्देशन में हम कायाकल्प योजना के माध्यम से सुस्त पड़ी समितियों को पुनर्जीवित करेंगे।सहकारिता की समस्याओं को प्राथमिकता के आधार पर दूर कर सहकारिता के क्षेत्र में गुजरात व तेलंगाना जैसे विकसित राज्यों के श्रेणी में शामिल करेंगे। प्रदेश का सहकारी बैंक बी श्रेणी से ए श्रेणी में पहुंच गया हैं। कहा कि हम जिला सहकारी बैंकों में भी राष्ट्रीयकृत बैंकों वाली सुविधाएं प्रदान करेंगे। बैंकों को कंप्यूटरीकृत कर इंटरनेट से जोड़ा जा रहा हैं। हम बैंक के माध्यम से कृषकों व  छात्रों को सभी सुविधाएं प्रदान करेंगे। हम चाहते हैं कि बलिया से सुधार हो। धान व गेहूं क्रय केंद्रों की व्यवस्था में सुधार व किसानों को समयान्तर्गत व उचित भुगतान करने की दिशा में कार्य कर रहा हैं।

गोदामो की क्षमता बड़ाई जा रही हैं। जिला सहकारी बैंक की प्रदेश में 50 शाखाएं हैं, जिसके 1200 ब्रांच हैं। उत्तर प्रदेश को-ऑपरेटिव बैंक की प्रदेश में 40 शाखाएं हैं। 7079 पैक्स प्रदेश में हैं, जिसको चालू किया जा रहा हैं। कर्मचारियों की नियुक्ति की जा रही हैं। प्रत्येक समिति में गोदामों का निर्माण किया जा रहा हैं। किसानों को साहूकारों के चंगुल से मुक्त कराने के लिए सहकारी बैंकों की स्थापना की गई थी, जो बीच में गलत नीतियों के कारण भटक गई। हम पुनः व्यवस्था में सुधार कर रहे हैं। व्यापारियों के साथ बैठक कर भी हम उनको सुविधाएं प्रदान करेंगे। हम रात के 8 बजे तक बैंकों की शाखाएं चलाने पर कार्य कर रहे हैं। माइक्रो एटीएम का संचालन करेंगे। सभी शाखाओं को सीबीएस किया जाएगा।

बैठक को जिलाध्यक्ष भाजपा जय प्रकाश साहू, पूर्व मंत्री राजधारी सिंह, राज्यसभा सांसद सकलदीप राजभर, सलेमपुर सांसद रविन्द्र कुशवाहा ने भी सम्बोधित किया।बैठक में पूर्व चेयरमैन कमलेश सिंह, अशोक पाठक, दिग्विजय सिंह, चंद्रशेखर सिंह, बच्चा सिंह, राजनाथ पांडेय, खड्ग बहादुर तिवारी, अनिल शुक्ल इत्यादि डायरेक्टर उपस्थित रहे।

Post a Comment

0 Comments