To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया में छ्ठ पूजा : अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य देकर मांगा सुख-समृद्धि का वर, देखें तस्वीरे

सुखपुरा, बलिया। लोक आस्था के महापर्व छठ के तीसरे दिन रविवार को अस्ताचलगामी भगवान भास्कर को अर्घ्य देकर व्रती महिलाओं ने अपने परिवार,समाज और राष्ट्र के सुख समृद्धि की कामना की। सूर्यास्त के 1 घंटा पूर्व से ही छठ व्रत का गीत गाती हुई बाजे गाजे के साथ झुंड की झुंड व्रती महिलाएं छठ घाटों पर गई। उनके आगे उनके घरों के पुरुष सदस्य पुत्र, पति या भाई माथे पर प्रसाद से भरी दौरी लेकर चल रहे थे। पूरा कस्बा छठ व्रत के रंग में पूरी तरह रंग गया है।

कस्बे के लगभग आधा दर्जन स्थानों पर स्थित तालाबों के किनारे छठ व्रत करने वाली महिलाओं, पुरुषों और बच्चों की अपार भीड़ देखी गई। छठ कमेटियां एवं ग्राम पंचायत सुखपुरा द्वारा छठ घाटों पर एवं छठ घाट जाने वाले रास्तों पर साफ-सफाई, संक्रमण से बचाव के लिए ब्लीचिंग पाउडर और सैनिटाइजर का छिड़काव ग्राम प्रधान के द्वारा किया गया। 

कस्बे के इंटर कॉलेज, बुढ़वा शिवजी मंदिर,मां भगवती मंदिर, जूनियर हाई स्कूल के समीप तालाबों एवं संत यतीनाथ मंदिर व मां काली मंदिर के समीप नवनिर्मित अस्थाई तालाबों पर छठ व्रतियों की विशेष भीड़ देखी गई, जहां पुलिस प्रशासन द्वारा सुरक्षा का व्यापक प्रबंध किया गया था छठ कमेटियों ने घाट पर विशेष व्यवस्था किया था। कमेटी के उमेश सिंह, संतोष गुप्ता, राकेश उर्फ मुन्ना सिंह, जितेंद्र सिंह, जनार्दन गुप्ता, सत्य प्रकाश, ओमप्रकाश, मुन्ना सिंह, गोलू उपाध्याय, आशुतोष उपाध्याय, सोनू सिंह, अशोक कुमार, गुड्डन, विवेक सिंह, बब्बन राजभर, जितेंद्र राजभर, मनीष, ग्राम प्रधान अभिमन्यु चौहान थाना अध्यक्ष अमित सिंह, लव कुमार विनोद सरोज, पुष्पा आदि लोग व्यवस्था में लगे रहे।


छठ व्रतियों ने दिया अस्ताचल सूर्य को अर्घ्य

दुबहर। लोक आस्था के महापर्व डाला छठ के तीसरे दिन रविवार को अस्ताचल सूर्यदेव को पूरे उत्साह व श्रद्धा के साथ व्रती महिलाओं द्वारा पहला अर्घ्य दिया गया। व्रती महिलाएं दउरा व सुपली में फल के साथ पूजन सामग्री सजाकर घाट पर पहुंची और भगवान भास्कर की उपासना किया चार दिनों तक चलने वाले इस अनुष्ठान के अंतिम दिन सोमवार की सुबह उगते हुए सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा। इसके साथ ही महापर्व संपन्न हो जाएगा छठ महापर्व पर सैकड़ों व्रत धारी महिला पुरुष व बच्चे दोपहर बाद अपने अपने घरों से दौरा सुपली में पूजन सामग्री सजाकर छठ घाट की ओर रवाना होने लगे थे। 

उनके साथ उनके परिवार के लोग छठ मैया की मंगल गीत गाते हुए छठ घाट पर पहुंच रहे थे। उनका उत्साह एवं श्रद्धा देखते ही बन रहा था यह सिलसिला दोपहर से देर शाम तक चलता रहा। देखते ही देखते सरोवर एवं पोखरा के किनारे बने छठ घाट व्रतियों एवं श्रद्धालुओं से ठसाठस भर गया। व्रतियों ने छठ मैया की आराधना करना प्रारंभ कर दिया। यह आराधना सूर्यास्त तक चलता रहा। इसके बाद अस्त होते हुए सूर्य देव को देखकर व्रतियों ने पहला अर्घ्य दिया। छठ घाट पर इलेक्ट्रिक लाइट की सजावट की गई थी। सभी घाट रोशनी से नहाए हुए थे।

रेवती इलाके में दिखा गजब का उत्साह

रेवती। नगर सहित ग्रामीण इलाकों में रविवार को विभिन्न छठ घाटों पर व्रती महिला-पुरुषों ने अस्तलगामी सूर्य को प्रथम अर्घ्य प्रदान किया। आस्था के इस महापर्व पर व्रतधारी महिला और पुरूष दोपहर बाद अपने घरों से दऊरा और सूप में पूजन सामग्री सजाकर छठघाट की ओर रवाना होने लगे थे। उनके परिजन एवं मोहल्ले के लोग छठ मइया के मंगल एवं भक्ति गीत गाते हुए उत्साह एवं श्रद्धा के साथ छठघाट पर पहुंच रहे थे।शाम को नगर के महादेव स्थान, गांधी घाट, मौनी बाबा हनुमान मंदिर, उत्तर टोला दुर्गा मंदिर, बाड़ीगढ़, वार्ड नं तीन सहित विभिन्न घाट देखते ही देखते व्रतियों व श्रद्धालुओं से भर गया। घाट पर पहुंचकर व्रतियों ने छठ मइया की अराधना करना प्रारंभ कर दिया। वे सूर्य के अस्त होने के इंतजार में पानी के अंदर खड़े होकर छठ मइया से मनौती मांगते रहे।

अस्त होते सूरज को देखकर व्रतियों ने पहला अर्घ्य दिया। छठघाट सहित नगर के सभी चौक-चौराहे छठ गीतों से गुंजायमान रहे। नगर पंचायत द्वारा छठ घाटों पर साफ-सफाई एवं प्रकाश की समुचित व्यवस्था की गई थी। वार्ड संख्या 3 में कृत्रिम जलाशय एवं मूर्ति तथा महादेव स्थान पर दहताल के में पानी पर मूर्ति पांडाल आकर्षण का केन्द्र रहा। नगर पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि अजय शंकर उर्फ कनक पाण्डेय, समाजसेवी राणा योगेन्द्र विक्रम सिंह माण्डलू, अमित पांडेय पप्पू, अतुल पाण्डेय बब्लू, महेश तिवारी,ओंकार नाथ ओझा,भोला ओझा आदि लोग विभिन्न घाटों पर पहुंच व्रतियों से आशीर्वाद लिया।प्रभारी निरीक्षक हरेंद्र सिंह मय फोर्स मुस्तैद रहे।

Post a Comment

0 Comments